September 25, 2022
Zaporizhzhia परमाणु प्लांट ग्रिड से हुआ डिस्कनेक्ट

Zaporizhzhia परमाणु प्लांट ग्रिड से हुआ डिस्कनेक्ट

Spread the love

Zaporizhzhia: यूक्रेन के रूसी-आयोजित ज़ापोरिज्जिया परमाणु ऊर्जा संयंत्र (ZNPP) को बिजली की आपूर्ति करने वाली आखिरी नियमित लाइन गुरुवार को पहले कट जाने के बाद फिर से काम कर रही थी. संयुक्त राष्ट्र ने कहा, एक आउटेज जिसने आस-पास की लड़ाई से संभावित खतरे को रेखांकित किया है.

कोयला पावर स्टेशन की राख के गड्ढों में लगी आग

Aljazeera से मिली जानकारी के मुताबिक, यूक्रेन की राज्य परमाणु कंपनी Energoatom ने पहले कहा था कि यूरोप की सबसे बड़ी ऐसी सुविधा, Zaporizhzhia रिएक्टर कॉम्प्लेक्स के पास एक कोयला पावर स्टेशन की राख के गड्ढों में आग लग गई, जिससे संयंत्र को यूक्रेन के पावर ग्रिड से जोड़ने वाली लाइनें बाधित हो गईं.

एनरगोटॉम ने एक बयान में कहा की, “परिणामस्वरूप, स्टेशन की दो काम करने वाली बिजली इकाइयों को नेटवर्क से काट दिया गया.” संयुक्त राष्ट्र की परमाणु निगरानी संस्था, अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी (IAEA) ने एक बयान में कहा कि संयंत्र को आखिरी बार बिजली की आपूर्ति बाद में बहाल कर दी गई थी.

“यूक्रेन ने IAEA को बताया कि ZNPP दिन के दौरान बिजली लाइन से कम से कम दो बार कनेक्शन टूट गया. लेकिन यह वर्तमान में फिर से ऊपर था.” यह कहा, आउटेज के प्रत्यक्ष कारण के बारे में जानकारी तुरंत उपलब्ध नहीं थी.

Zaporizhzhia प्लांट को रूस ने कर लिया था कब्ज़ा

अधिकारिक जानकारी के मुताबिक, Zaporizhzhia प्लांट को मार्च  की शुरुआत में रूसी सैनिकों द्वारा कब्जा कर लिया गया था. मास्को के अपने आक्रामक शुरू करने के कुछ हफ्तों के भीतर, लेकिन यह अभी भी यूक्रेनी कर्मचारियों द्वारा संचालित किया जा रहा है.

यह उन क्षेत्रों के करीब बैठता है जहां लड़ाई हो रही है, और हाल के हफ्तों में बार-बार आग लग गई है. जिससे परमाणु दुर्घटना की संभावना के बारे में अंतरराष्ट्रीय चिंता बढ़ रही है. यूक्रेन ने मास्को पर संयंत्र में हथियार रखने और साइट से हमले शुरू करने का आरोप लगाया है.

जबकि रूस ने कीव पर सुविधा पर अंधाधुंध गोलीबारी करने का आरोप लगाया है. जो एनरहोदर शहर में स्थित है. यह घटनाक्रम आईएईए के प्रमुख द्वारा फ्रांस 24 समाचार चैनल को बताया गया कि संयुक्त राष्ट्र की परमाणु निगरानी संस्था दक्षिणपूर्वी यूक्रेन में स्थित ज़ापोरिज्जिया संयंत्र का दौरा करने में सक्षम होने के बहुत करीब थी.

IAEA के महानिदेशक ने कहीं ये बातें

बता दें की, IAEA के महानिदेशक राफेल ग्रॉसी ने यह भी कहा कि उन्हें उम्मीद है कि “IAEA का निरीक्षण मिशन दिनों के भीतर हो जाएगा. एक बार साइट तक पहुंच प्राप्त करने के लिए एक सौदा हो गया है. जिसे संयुक्त राष्ट्र का कहना है कि इसे विसैन्यीकरण किया जाना चाहिए.”

ग्रॉसी ने पेरिस की यात्रा के दौरान फ्रांस 24 को बताया, “हमें वहां जाने की जरूरत है. हमें स्थिति को स्थिर करने की जरूरत है, हमें जल्द ही आईएईए की उपस्थिति सुनिश्चित करने की जरूरत है.”

यूक्रेन अपने परमाणु संयंत्रों पर बहुत अधिक निर्भर है. चार स्टेशनों पर इसके 15 रिएक्टर देश की लगभग आधी बिजली प्रदान करते हैं. यूक्रेनी अधिकारियों ने कहा है कि उनका मानना ​​​​है कि रूस ने क्रीमिया प्रायद्वीप को सत्ता बदलने के लिए ज़ापोरिज्जिया संयंत्र को जब्त कर लिया था. जिसे 2014 की शुरुआत में मास्को द्वारा कब्जा कर लिया गया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.