World Food Programme ने कहा 19 मिलियन अफगान कर रहे भूखमरी का सामना

World Food Programme: दुनिया भर में इस वक़्त लोग भूखमरी का सामना कर रहे हैं. वहीँ, विश्व खाद्य कार्यक्रम (World Food Programme) का अनुमान है कि विश्व खाद्य दिवस (World Food Day) के अवसर पर लगभग 19 मिलियन अफगान खाद्य असुरक्षा (food insecurity) का सामना कर रहे हैं.

World Food Programme ने अपनी रिपोर्ट में कहीं ये बाते

टोलो न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, विश्व खाद्य दिवस पर, जिसे रविवार को मनाया गया था. काबुल के निवासियों ने कहा कि नौकरियों की कमी और आर्थिक चुनौतियों से उन्हें गंभीर खाद्य असुरक्षा का खतरा है. अफगानिस्तान में विश्व खाद्य कार्यक्रम (World Food Programme) ने कहा कि फरवरी और मार्च में किए गए एक सर्वे ने संकेत दिया कि लगभग 19 मिलियन लोग खाद्य असुरक्षा का सामना कर रहे हैं.

WFP ने कहा, 19 मिलियन अफगान कर रहे भूखमरी का सामना
World Food Programme ने कहा, 19 मिलियन अफगान कर रहे भूखमरी का सामना

World Food Programme (WFP) अफगानिस्तान के प्रवक्ता वहीदुल्लाह अमानी ने टोलो न्यूज को बताया, “सर्वे के नतीजे बताते हैं कि लगभग 19 मिलियन या 18.9 मिलियन लोग खाद्य असुरक्षा का सामना कर रहे हैं और उन्हें खाद्य सहायता और मानवीय सहायता की आवश्यकता है.”

अफगानिस्तान अर्थव्यवस्था (Minister of Economy) के उप मंत्री अब्दुल लतीफ नज़री ने कहा, “हमारी योजना अंतरराष्ट्रीय मानवीय सहायता (international humanitarian aid) को शुरू करने, छोटे और औसत उद्योगों का समर्थन करने और अफगानिस्तान में बुनियादी ढांचे का समर्थन करने के लिए प्रमुख आर्थिक परियोजनाओं को शुरू करने की है.”

स्थाई निवासियों ने व्यक्त किया दुःख

टोलो न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, गरीबी की उच्च दर ने दर्जनों छात्रों को कड़ी मेहनत करने के लिए मजबूर किया है. उन्होंने ने स्कूल पढाई छोड़कर काम करने का रास्ता अपनाया है. क्योंकि ना तो उनके परिवारों के पास खाने को है और ना ही उनके पास इतने पैसे हैं की वो अपने बच्चों को अच्छी या निमन स्तर की भी शिक्षा दे पाए.

एक बाल मजदूर बेहेष्टा ने मीडिया को बताया की, “मैं सुबह 6:00 बजे से दिन के अंत तक काम करता हूं. मैं 20 से 50 Afs बनाता हूं. और मैं इस बात को लेकर असमंजस में हूं कि उस पैसे से क्या खरीदा जाए. क्योंकि वो पैसे इतने नहीं होते की हमारी सभी ज़रूरते पूरी हो सकें.”

एक स्थाई निवासी ने मीडिया को बताया की, “मेरे 7 बच्चे हैं. मेरे पति बेरोजगार हैं. जब मैं नाश्ता करती हूं. तो हम अपने दोपहर के भोजन के बारे में चिंतित होते हैं. जब हम दोपहर का भोजन करते हैं. तो हम अपने रात के खाने के बारे में चिंतित होते हैं.”

इतनी है अफगानियों की दैनिक आय

टोलो न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, राष्ट्रीय सांख्यिकी और सूचना प्राधिकरण (National Statistics and Information Authority) के अनुसार, अफगानों की दैनिक आय 102 Afs (89 रूपये) है. देश के कुछ अन्य नागरिकों ने देश में खाद्य कीमतों में वृद्धि पर निराशा व्यक्त की है और इसका विरोध भी किया है.

काबुल के स्थाई निवासी अराश सुल्तानी ने मीडिया को बताया की, “अब कोई नौकरी और व्यवसाय नहीं हैं. जो लोग काम कर रहे हैं, उनमें से कई के लिए उनका वेतन कम है. जो लोग बाहर वेंडर के रूप में काम कर रहे हैं और अन्य नौकरियों में 100 से 200 AFs हैं. जो रात के खाने के लिए भी पर्याप्त नहीं हैं. हमरी हालत यहाँ बहुत बुरी है.”

Leave a Reply