Afghanistan में महिलाओं के विश्वविद्यालयों पर जाने से लगी रोक

Afghanistan: तालिबान के उच्च शिक्षा मंत्रालय ने अफ़ग़ानिस्तान (Afghanistan) में महिलाओं के लिए विश्वविद्यालय शिक्षा पर अनिश्चितकालीन प्रतिबंध लगाने का आदेश दिया है. महिलाओं के अधिकारों और स्वतंत्रता पर कड़ी कार्रवाई करते हुए, कड़ी अंतरराष्ट्रीय निंदा की है.

यह घोषणा न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक के दौरान हुई और अमेरिकी विदेश विभाग ने अफ़ग़ानिस्तान (Afghanistan) के तालिबान द्वारा हिरासत में लिए गए दो अमेरिकियों को रिहा करने की घोषणा की है.

Afghanistan के इस फैसले की दुनिया भर में हो रही आलोचना

रायटर्स से मिली जानकारी के मुताबिक, अफ़ग़ानिस्तान (Afghanistan)  में 23 वर्षीय राजनीति विज्ञान की छात्रा मरियम मंगलवार शाम को अपने विश्वविद्यालय के कार्यों को पूरा कर रही थी. जब उनके मंगेतर ने यह कहने के लिए फोन किया कि तालिबान ने विश्वविद्यालयों में सभी महिलाओं पर प्रतिबंध लगा दिया है.

अफ़ग़ानिस्तान (Afghanistan) में 23 वर्षीय राजनीति विज्ञान की छात्रा मरियम ने बताया की, “उन्होंने मुझसे कहा, मुझे बहुत खेद है. तुम अपनी अंतिम परीक्षा नहीं दे पाओगी. विश्वविद्यालयों ने आपके लिए बंद कर दिया है. उन शब्दों को सुनने के बाद से मेरे दिल से खून बह रहा है.”

अफ़ग़ानिस्तान के उच्च शिक्षा मंत्री ने कहीं ये बातें

अफ़ग़ानिस्तान (Afghanistan) के तालिबान के उच्च शिक्षा मंत्री निदा मोहम्मद नदीम द्वारा जारी एक बयान के अनुसार, मंगलवार को तालिबान ने सभी सार्वजनिक और निजी विश्वविद्यालयों को अगली सूचना तक लड़कियों की शिक्षा निलंबित करने के लिए कहा गया है.

Afghanistan में महिलाओं के विश्वविद्यालयों पर जाने से लगी रोक
Afghanistan में महिलाओं के विश्वविद्यालयों पर जाने से लगी रोक

अफ़ग़ानिस्तान (Afghanistan) के तालिबान ने प्रतिबंध का कोई कारण नहीं बताया है. उच्च शिक्षा मंत्रालय ने कोई टिप्पणी नहीं दी है. कई छात्रों ने मीडिया को बताया कि महिलाओं को परिसरों में प्रवेश करने से रोकने के प्रयास में बुधवार सुबह कई प्रमुख विश्वविद्यालयों के द्वार तालिबान वाहनों द्वारा जाम थे. अफगानिस्तान में महिलाओं द्वारा अक्टूबर में विश्वविद्यालय प्रवेश परीक्षा देने के बाद प्रतिबंध लगाया गया था.

अफ़ग़ानिस्तान में तालिबान अपनी ही बातों से मुकरा है

शुरू में महिलाओं और अल्पसंख्यकों के अधिकारों का सम्मान करने का वादा करने के बावजूद अफ़ग़ानिस्तान (Afghanistan) के तालिबान ने ऐसे कानून बनाए हैं. जिससे इसका उल्लंघन हो रहा है. उन्होंने मिडिल स्कूल और हाई स्कूल में लड़कियों पर प्रतिबंध लगा दिया था.

महिलाओं को ज्यादातर रोजगार से प्रतिबंधित कर दिया है. और उन्हें सार्वजनिक रूप से सिर से पैर तक के कपड़े पहनने का आदेश दिया है. महिलाओं को पार्कों और जिमों में जाने पर भी पाबंदी लगा दी गई और उन्हें बिना पुरुष रिश्तेदार के यात्रा करने से भी रोक दिया गया है.

कुछ महिलाओं को अध्ययन की मिली थी अनुमति

उच्च शिक्षा मंत्रालय के एक प्रवक्ता द्वारा पुष्टि किए गए एक पत्र में कैबिनेट के फैसले के अनुसार अफगान सार्वजनिक और निजी विश्वविद्यालयों को तुरंत महिला छात्रों तक पहुंच निलंबित करने का निर्देश दिया गया है.

उच्च शिक्षा पर प्रतिबंध देश भर में अफगान लड़कियों के विश्वविद्यालय प्रवेश परीक्षा में बैठने के हफ्तों बाद आया है. अब तक, कुछ महिलाओं को अपने विश्वविद्यालय के अध्ययन को जारी रखने की अनुमति दी गई थी. लेकिन अब सब बैन हो गया है.

Leave a Reply