China की कम्युनिस्ट पार्टी कांग्रेस के समाप्त होते ही, जारी हुए कमज़ोर आर्थिक विकास के आंकड़े

China: मीडिया रिपोर्टों में कहा गया है कि चीन (China) की कम्युनिस्ट पार्टी कांग्रेस के समाप्त होने के एक दिन बाद चीन ने आर्थिक डेटा जारी किया है. इसमें बताया गया है की, कमजोर विकास के कारण बाजारों में गिरावट आई है.

China की अर्थव्यस्था को लेकर जारी किए गए आंकड़े

पिछले हफ्ते, चीन (China) के राष्ट्रीय सांख्यिकी ब्यूरो (National Bureau of Statistics) ने जीडीपी (GDP) और अन्य आर्थिक विकास का डेटा जारी किया है. हालांकि, ब्यूरो ने इस रिपोर्ट पर कोई स्पष्टीकरण नहीं दिया है की क्यों इस डाटा को जारी करने में देरी की गई है.

China की कम्युनिस्ट पार्टी कांग्रेस के समाप्त होते ही, जारी हुए कमज़ोर आर्थिक विकास के आंकड़े
China की कम्युनिस्ट पार्टी कांग्रेस के समाप्त होते ही, जारी हुए कमज़ोर आर्थिक विकास के आंकड़े

ब्यूरो ने सोमवार को बताया कि इस साल जुलाई और सितंबर के बीच सकल घरेलू उत्पाद (gross domestic product)  में 3.9 प्रतिशत की वृद्धि हुई है. यह वृद्धि चीनी सरकार के लक्ष्य से बहुत कम है. सरकार ने 5.5 प्रतिशत का लक्ष्य रखा था.

चीन (China) बेज बुक के प्रबंध निदेशक शहजाद काजी ने कहा की, “चीन के आधिकारिक आर्थिक आंकड़े राजनीतिक पहले, आर्थिक बाद में हैं. इन नंबरों को जारी करने में पिछले हफ्ते की देरी इस बात को साबित करते हैं की यह आंकड़े क्यों राजनीतिक ज्यादा है.”

हैंग सेंग इंडेक्स 6 प्रतिशत गिरा

चीन (China) का यह डेटा जारी होने के बाद, हांगकांग का हैंग सेंग इंडेक्स 6 प्रतिशत गिर गया. और यह उस स्तर पर आ गया जो 2008 के वित्तीय संकट (financial crisis) के बाद से अब तक नहीं देखा गया था. 2008 के बाद से ऐसा हुआ है. इस बीच शंघाई कंपोजिट और शेनझेन कंपोजिट इंडेक्स दोनों में करीब 2 फीसदी की गिरावट आई है.

जानकारों का कहना है की, चीन में शी जिनपिंग के कड़े राजनीतिक नियंत्रण ने उनके नेतृत्व के लिए कई चुनौतियाँ खड़ी कर दी हैं. चीन के गंभीर आर्थिक चोट का सामना कर रहा है. इस रिपोर्ट के सामने आते ही पता चल रहा है की, आर्थिक और सामाजिक असमानता लगातार बढ़ रही है.

जीरो कोविड नीती की वजह से डामाडोल है अर्थव्यस्था

चीन की जीरो कोविड नीती के चलते चीन में अर्थव्यस्था पटरी से उतर गई है. शी जिनपिंग के अब अर्थव्यस्था पर कंट्रोल पाना थोडा मुश्किल हो रहा है. जीरो कोविड नीती के चलते ही कई मल्टीनेशनल कंपनी चीन छोड़ने को मजबूर हैं.

कारखाने बंद होने की वजह से अब स्थाई जनता भी परेशान हो रही है. अमेरिका के बाद चीन दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यस्था है. लेकिन चीन की स्थिति अब नियंत्रण से बाहर होती जा रही है. कुछ वक़्त पहले रायटर्स में छपी एक खबर से पता चला था की चीन करीब 2 करोड़ लोग बेरोजगार हो गए हैं.

सरकार के खिलाफ आई जनता

सरकार के खिलाफ भी जनता सड़कों पर आ गई थी और विरोध कर रही थी. कोरोना ने सभी देशों की अर्थव्यस्थाओं को धीमा किया है लेकिन चीन की अपनी नीतियों ने उसे खासा नुकसान पहुँचाया है. चीन दुनिया का एक लौता देश ऐसा है जो अभी भी जीरो कोविड नीती का पालन करवा रहा है.

बता दें की, चीन के राष्ट्रपति जिनपिंग ने बीजिंग के ग्रेट हॉल ऑफ द पीपल में शनिवार को आखिरी दिन कांग्रेस को संबोधित किया. उन्होंने पार्टी के प्रति समर्पित लोगों से कहा की, “संघर्ष करने की हिम्मत करो, जीतने की हिम्मत करो, हालात से प्रभावित हुए बिना कड़ी मेहनत करो. आगे बढ़ने के लिए दृढ़ संकल्प रखो.”

One thought on “China की कम्युनिस्ट पार्टी कांग्रेस के समाप्त होते ही, जारी हुए कमज़ोर आर्थिक विकास के आंकड़े”

Leave a Reply