September 25, 2022
अमेरिकी ट्रेजरी अधिकारी Wally Adeyemo ने कहा की, डिजिटल अर्थव्यवस्था में भारत है लीडर

अमेरिकी ट्रेजरी अधिकारी Wally Adeyemo ने कहा की, डिजिटल अर्थव्यवस्था में भारत है लीडर

Spread the love

Wally Adeyemo: अमेरिकी ट्रेजरी के उप सचिव, वैली अडेमो ने बुधवार को भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी), मुंबई की सोसाइटी फॉर इनोवेशन एंड एंटरप्रेन्योरशिप स्टार्ट-अप इनक्यूबेटर का दौरा किया. उन्होंने छात्रों और उद्यमियों को संबोधित करते हुए कहा की, भारत डिजिटल अर्थव्यवस्था में अमेरिका के साथ अग्रणी बना रहेगा.

वैली अडेमो ने ट्वीटर पर कहीं ये बातें

ANI से मिली जानकारी के मुताबिक, अमेरिकी ट्रेजरी के उप सचिव, वैली अडेमो (Wally Adeyemo) ने ट्वीट करके कहा की,

“आज मैंने आईआईटी मुंबई की सोसाइटी फॉर इनोवेशन एंड एंटरप्रेन्योरशिप स्टार्ट-अप इनक्यूबेटर का दौरा किया. मैंने छात्रों और उद्यमियों से बात की कि कैसे उनके नवाचार और मजबूत अमेरिका-भारत संबंध हमारे दोनों देशों में आर्थिक अवसरों का विस्तार करने और वैश्विक चुनौतियों का समाधान करने में मदद कर सकते हैं.”

आईआईटी मुंबई में बोलते हुए यूएस ट्रेजरी के उप सचिव (Wally Adeyemo) ने कहा की, “भारत के हालिया इतिहास और सार्वजनिक और निजी क्षेत्रों के नेताओं के साथ मेरी बातचीत से यह स्पष्ट है कि यह देश डिजिटल अर्थव्यवस्था में अमेरिका के साथ अग्रणी बना रहेगा.”

वैली अडेमो ने आगे कहा की, “भारत में 560 मिलियन इंटरनेट ग्राहक और 1.2 बिलियन मोबाइल फोन ग्राहक हैं. एक विशाल बाजार जो आने वाले वर्षों में नवाचार को बढ़ावा देगा. मैकिन्से एंड कंपनी के एक अध्ययन के अनुसार, भारत किसी भी अन्य देश की तुलना में तेजी से डिजिटलीकरण कर रहा है.

भारत में विकसित उत्पादों पर है भरोसा

बता दें की, अडेमो ने कहा की, अमेरिकी व्यवसाय और उपभोक्ता इंफोसिस, माइंडट्री और अन्य जैसी कंपनियों द्वारा भारत में यहां विकसित उत्पादों पर भरोसा करते हैं. आगे कहा उन्होंने, “प्रौद्योगिकी (Technology) और नवाचार (innovation) हमारे दोनों देशों के बीच आर्थिक संबंधों के लंबे समय से स्तंभ हैं.”

आगे कहा, “दशकों से, अमेरिका की प्रमुख प्रौद्योगिकी कंपनियों Apple से लेकर Intel तक ने भारत के विश्व-अग्रणी प्रौद्योगिकी प्रतिभा पूल में प्रवेश किया है. जिसमें IIT बॉम्बे में प्रशिक्षित कोडर और इंजीनियर शामिल हैं.”

एडेयमो का कहना है की, “मुझे उम्मीद है कि कई वर्षों में, अमेरिकी उपभोक्ता कुछ उन नवप्रवर्तकों द्वारा बनाए गए उत्पादों पर भरोसा करेंगे. जिनसे मैं अभी कुछ मिनट पहले इनोवेशन लैब में मिला था. जहां मुझे जाने का मौका मिला था.”

अडेयमो ने IIT बॉम्बे के छात्रों को किया संबोधित

अडेयमो ने IIT बॉम्बे के छात्रों को संबोधित करते हुए कहा की, “इसका मतलब यह है कि वैश्विक अर्थव्यवस्था का भविष्य, बड़े हिस्से में, इस कमरे में आप जैसे उद्यमियों द्वारा बनाया जाएगा,”

उन्होंने कहा कि दोनों देश तकनीकी नवाचार की अगली लहर में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे और यह समाज के सभी वर्गों के लाभ के लिए जिम्मेदारी से तैनात किया गया है. खासकर जब हमारे लोग और कंपनियां एक साथ काम करती हैं.

अमेरिकी ट्रेजरी अधिकारी ने आगे कहा,

“हमारी साझा चुनौतियों का समाधान करने के लिए नवाचार की आवश्यकता कभी अधिक नहीं रही. जलवायु परिवर्तन की तत्काल चुनौती को पूरा करने के लिए हरित प्रौद्योगिकी की आवश्यकता से लेकर 21वीं सदी के बुनियादी ढांचे तक जो आधुनिक वैश्विक अर्थव्यवस्था की मांगों को पूरा कर सकते हैं. COVID-19 महामारी के दौरान हमें जोड़े रखने के लिए इतना महत्वपूर्ण साबित हुआ. ”

Leave a Reply

Your email address will not be published.