Vietnam court ने लोकतंत्र कार्यकर्ता की 9 साल की जेल की सज़ा को रखा बरकरार

Vietnam court: एक वियतनामी अदालत ने प्रमुख मानवाधिकार प्रचारक और लेखक फाम डोन ट्रांग के लिए नौ साल की जेल की सजा को बरकरार रखा है. जिसे राज्य विरोधी गतिविधियों के लिए दोषी ठहराया गया था.

मानवाधिकारों और कथित पुलिस बर्बरता पर उठाई थी आवाज़

अधिकारिक जानकारी के मुताबिक, मानवाधिकार प्रचारक और लेखक फाम डोन ट्रांग ने वियतनाम में मानवाधिकारों और कथित पुलिस बर्बरता पर व्यापक रूप से सामग्री प्रकाशित की थी. जिसकी वजह से उनको राज्य के खिलाफ प्रचार करने का दोषी ठहराया गया था.

फाम डोन ट्रांग पत्रकार से कार्यकर्ता बनी थीं. उनकी उम्र  44 वर्ष है. ट्रांग के लॉयर का कहना है की, “ट्रांग ने तर्क दिया कि दिसंबर में प्रारंभिक परीक्षण घरेलू कानूनी प्रक्रियाओं और अंतर्राष्ट्रीय का पालन नहीं करता था.” मान ने कहा कि हनोई में ट्रांग के परिवार के सदस्यों और राजनयिकों को उनकी अपील की सुनवाई में शामिल होने से रोक दिया गया था.

मार्च में, अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने प्रथम महिला जिल बिडेन की उपस्थिति में आयोजित एक समारोह में ट्रांग को अंतर्राष्ट्रीय महिला साहस पुरस्कार के विजेता के रूप में घोषित किया. वियतनाम ने पुरस्कार देने पर आपत्ति जताई.

फाम डोन ट्रांग देश के लिए हैं खतरनाक

बता दें की,  राज्य मीडिया के अनुसार, अदालत (Vietnam court) ने गुरुवार को ट्रांग को खतरनाक कहा है. आधिकारिक वियतनाम समाचार एजेंसी ने बताया, “जूरी ने माना कि फाम दोन ट्रांग की गतिविधियां समाज के लिए खतरनाक थीं.”

इस महीने की शुरुआत में, अदालत (Vietnam court) ने कम से कम तीन अन्य कार्यकर्ताओं के खिलाफ लंबी जेल की सजा को भी बरकरार रखा है. ट्रांग ने एलजीबीटीक्यू अधिकार, महिला अधिकार, पर्यावरण और लोकतांत्रिक सक्रियता सहित कई विषयों पर लिखा है. अधिकांश काम गुप्त रूप से प्रकाशित किया गया था.

जिसमें आम लोगों के लिए सबसे ज्यादा बिकने वाली राजनीति भी शामिल है, जो नवेली कार्यकर्ताओं के लिए एक गाइड के समान है. वह अपनी सक्रियता के लिए भी जानी जाती हैं. जेल में बंद असंतुष्टों और पर्यावरण के समर्थन में रैलियों में भाग लेती हैं.

कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी आम हो गई है

वियतनाम की सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी सख्त मीडिया सेंसरशिप बरकरार रखती है. और थोड़ी आलोचना सहन करती है, और कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी आम है. जनवरी 2021 में, तीन पत्रकारों को राज्य के खिलाफ प्रचार प्रसार करने का दोषी पाया गया था. जिसके परिणामस्वरूप 11 से 15 साल की जेल की सजा हुई.

ऐसा बताया जाता है की, वियतनाम में व्यापक आर्थिक सुधार और सामाजिक परिवर्तन के लिए खुलेपन के बावजूद पार्टी आलोचनाओं को सहन नहीं कर रही थी. 2016 में एक बार फिर से चुने जाने के बाद इसके नेता ग्यूयेन फू ट्रॉन्ग ने सरकार की कार्यप्रणाली से असंतुष्ट एक्टिविस्टों को निशाना बनाना शुरू कर दिया था.

एमनेस्टी समूह के एक प्रवक्ता ने बताया कि सरकार के खिलाफ फेसबुक पर पोस्ट करने की वजह से इस साल कम से कम 16 लोगों को गिरफ्तार किया गया या दोषी ठहराया गया था. इसी तरह के आरोप में अन्य 12 राजनीतिक कैदियों को भी सलाखों के पीछे रखा गया है.

जानकार ऐसा मानते हैं की,  वियतनाम अपने कानून को लेकर बहुत सख्त है. जिसकी वजह से वो कोई भी गुस्ताखी सहन नहीं करता है. अगर उसको लगता है की कोई एक्टिविस्ट या पत्रकार समाज को आस्थिरता फैला रहा है तो उस पर तुरंत एक्शन लिया जाता है.

 

Leave a Reply