अमेरिकी सांसदों ने पाकिस्तानी सेना द्वारा Bangladesh War में किये नरसंहार पर पेश किया बिल

Bangladesh War: प्रतिनिधि सभा में शुक्रवार को पेश एक प्रस्ताव में कहा गया कि पाकिस्तानी सशस्त्र बलों ने 1971 में बांग्लादेश (Bangladesh War) में बंगालियों और हिंदुओं के खिलाफ नरसंहार किया था. साथ ही अमेरिका ने पाकिस्तान सरकार से बांग्लादेश (Bangladesh) के लोगों से इस नरसंहार में भूमिका के लिए माफी मांगने के लिए कहा गया है.

Bangladesh War में हुआ अत्याचार अब हो रहा उजागर

Aljazeera से मिली जानकारी के मुताबिक, अमेरिकी सांसदों ने प्रतिनिधि सभा में एक प्रस्ताव पेश किया है. इस प्रस्ताव के जरिए उन्होंने अमेरिकी राष्ट्रपति से 1971 में पाकिस्तानी सशस्त्र बलों द्वारा जातीय बंगालियों और हिंदुओं के खिलाफ किए गए अत्याचारों को नरसंहार के रूप में मान्यता देने का आग्रह किया है.

पाकिस्तानी सेना ने 1971 में Bangladesh पर किया था अत्याचार, अमेरिकी सांसदों ने अब पेश किया प्रस्ताव
पाकिस्तानी सेना ने 1971 में Bangladesh War में किया था अत्याचार, अमेरिकी सांसदों ने अब पेश किया प्रस्ताव

अधिकारिक रिपोर्ट के अनुसार, प्रस्ताव में कहा गया है की, “मार्च 1971 से दिसंबर 1971 तक बांग्लादेश के लोगों के खिलाफ पाकिस्तान के सशस्त्र बलों द्वारा किए गए अत्याचारों की निंदा करता है. प्रस्ताव का मानना है की जातीय बंगालियों और हिंदुओं के खिलाफ इस तरह के अत्याचार मानवता, युद्ध अपराधों और नरसंहार के खिलाफ अपराध हैं.”

आगे प्रस्ताव में कहा गया है की, “यह प्रस्ताव राष्ट्रपति जो बिडेन से माँग करता है 1971 के दौरान पाकिस्तान के सशस्त्र बलों द्वारा जातीय बंगालियों और हिंदुओं के खिलाफ किए गए अत्याचारों को मानवता युद्ध अपराधों और नरसंहार के खिलाफ अपराधों के रूप में मान्यता दें.”

रिपब्लिकन पार्टी के सदस्य ने कहीं यह बातें

बता दें की, रिपब्लिकन पार्टी के सदस्य चाबोट का कहना है कि हमें उन लाखों लोगों की स्मृति को मिटाने नहीं देना चाहिए. रिपब्लिकन पार्टी के सदस्य चाबोट का कहना है की, पाकिस्तान को बांग्लादेश (Bangladesh) से माफी माँगनी चाहिए. रिपब्लिकन पार्टी के सदस्य सेव चाबोट ने एक ट्वीट कर के कहा की,

“हमें उन लाखों लोगों की स्मृति को वर्षों से मिटाने नहीं देना चाहिए, जिनका नरसंहार किया गया था. नरसंहार को स्वीकार करने से ऐतिहासिक रिकार्ड मजबूत होता है. हमारे साथी अमेरिकियों को शिक्षित किया जाता है और अपराधियों को पता चलता है कि ऐसे अपराधों को बर्दाश्त या भुलाया नहीं जाएगा.”

आगे उन्होंने कहा की, “1971 के बांग्लादेश (Bangladesh War) नरसंहार को नहीं भूलना चाहिए. ओहियो (Ohio) के पहले जिले में मेरे हिंदू साथियों की मदद से, रो खन्ना और मैंने यह जानने के लिए कानून पेश किया कि बंगालियों और हिंदुओं के खिलाफ किए गए सामूहिक अत्याचार वास्तव में एक नरसंहार थे या नहीं.”

रिपब्लिकन पार्टी के सदस्य चाबोट का अधिकारिक ट्वीट…

80 प्रतिशत हिन्दुओं को मौत के घाट उतारा गया था

रिपब्लिकन पार्टी के सदस्य चाबोट का कहना है कि पाकिस्तान ने बांग्लादेश (Bangladesh War) में 80 प्रतिशत हिन्दुओं को मौत के घाट उतार दिया था. उस नरसंहार में लाखों लोग मारे गए थे. 1971 के बाद ये मुद्दा चर्चा का विषय बना हुआ है.

हाल ही में अमेरिका के राष्ट्रपति जो बिडेन ने पाकिस्तान को सबसे खतरनाक देश बताया था. पाकिस्तान में अब आतंरिक कलाह मची हुई है. एक तरह हैं पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान और दूसरी तरह हैं पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (PML-N) की उपाध्यक्ष मरियम नवाज. जो बिडेन के इस ब्यान पर मौजूदा सरकार की विदेश नीति पर सवाल खड़े किए तो इस पर गुस्साई मरियम नवाज़ ने उनसे पूछा कि, ‘क्या आप में रत्ती भर भी शर्म है.’

 

2 thoughts on “अमेरिकी सांसदों ने पाकिस्तानी सेना द्वारा Bangladesh War में किये नरसंहार पर पेश किया बिल”

Leave a Reply