September 29, 2022
Monkeypox Virus को अमेरिका ने किया सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल घोषित

Monkeypox Virus को अमेरिका ने किया सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल घोषित

Spread the love

मंकीपॉक्स तेज़ी से अब दुनिया में अपने पैर पसार रहा है. Monkeypox Virus का खतरा बढ़ता जा रहा है. कोरोना वायरस के बाद ये दूसरी ऐसी बीमारी है जिसको सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल घोषित किया गया है, और अब अमेरिका ने भी Monkeypox Virus को सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल घोषित कर दिया है.

अमेरिका ने किया सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल घोषित

ANI से मिली जानकारी के मुताबिक, अमेरिकी सरकार ने गुरुवार को 6,600 से अधिक अमेरिकियों को संक्रमित करने वाले मंकीपॉक्स के प्रकोप अपनी प्रतिक्रिया दी है. इसके साथ मंकीपॉक्स वायरस को सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल भी घोषित किया गया है.

अमेरिका ने ये घोषणा की है की, मंकीपॉक्स (Monkeypox Virus) से जुड़ी दवाई और अन्य सभी चीज़े मुफ्त कर दी जाएंगी. स्वास्थ्य और मानव सेवा विभाग के प्रमुख जेवियर बेसेरा ने कहा कि देश मंकीपॉक्स वायरस से लड़ने के लिए तैयार है और नागरिकों से संक्रमण को गंभीरता से लेने का आग्रह किया.

यह फैसला तब आया है जब अमेरिका के राष्ट्रपति जो बिडेन प्रशासन को मंकीपॉक्स (Monkeypox Virus) के टीके की उपलब्धता पर आलोचना का सामना करना पड़ा. प्रमुख शहरों में, कई क्लीनिकों ने कहा कि उन्हें मांग को पूरा करने के लिए पर्याप्त टीके नहीं मिले हैं.

समाचार एजेंसी के हवाले से व्हाइट हाउस ने कहा कि उन्होंने 1.1 मिलियन से अधिक खुराक उपलब्ध कराई है और घरेलू नैदानिक ​​क्षमता को प्रति सप्ताह 80,000 परीक्षणों तक बढ़ाने में मदद की है.

Monkeypox Virus पर नियंत्रण के लिए अमेरिका ने उठाए ये कदम

कोरोना वायरस की मार लगभग सभी देश अभी भी झेल रहे हैं. जब कोरोना अपने पीक पर था तब हर जगह सिर्फ मातम छाया हुआ था. कोरोना जैसे हालात फिर से न  पैदा हों इसलिए अमेरिका अब पहले से सचेत हो गया है.

बता दें की, इस सप्ताह की शुरुआत में, अमेरिकी सरकार ने मंकीपॉक्स वायरस से निपटने के लिए व्हाइट हाउस के समन्वयक के रूप में काम करने के लिए संघीय आपातकालीन प्रबंधन एजेंसी और रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्रों के शीर्ष अधिकारियों को भी नामित किया है.

जॉर्ज टाउन विश्वविद्यालय के एक सार्वजनिक स्वास्थ्य कानून विशेषज्ञ लॉरेंस गोस्टिन ने कहा कि सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल की घोषणा महत्वपूर्ण है. क्योंकि यह बीमारी के प्रति अमेरिकी सरकार की गंभीरता का संकेत मिला है.

बढ़ सकता है ये आपातकाल

गोस्टिन ने यह भी बताया  कि इस सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल को बढ़ाया जा सकता है. जैसा कि कोविड -19 वैश्विक महामारी के दौरान हुआ था. बता दें की, जिन्नोस नामक दो-खुराक टीके की सीमित उपलब्धता के साथ इसे मंकीपॉक्स के खिलाफ हथियार माना जाता है.

जानकारी के मुताबिक, खुराक को 28 दिनों के अलावा दिया जाता है और वर्तमान में लक्षणों को रोकने के उपाय के रूप में मंकीपॉक्स से संक्रमित संदिग्ध लोगों को दिया जा रहा है. मंकीपॉक्स की रोकथाम के लिए अमेरिका में सरकार कई कड़े कदम उठा रही है. ताकी इसको प्रकोप उग्र रूप न धारण कर ले.

समाचार एजेंसी ने यह भी बताया कि यू.एस. में अब तक कोई मंकीपॉक्स से संबंधित मौत की सूचना नहीं मिली है. हालांकि, अन्य देशों में कुछ की सूचना मिली है. दुनिया भर के देशों में लगभग 26,000 मंकीपॉक्स के मामले सामने आए हैं. जिनमें से 9 मामले भारत से भी हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.