अमेरिका और जर्मनी ने Ukraine को वायु रक्षा प्रणाली भेजने का किया वादा

Ukraine: रूस और क्रीमिया को जोड़ने वाले पुल को क्षतिग्रस्त करने वाले एक विस्फोट के बाद, रूस ने यूक्रेन पर आक्रामक मिसाइल हमले किए हैं. रूस ने लगातार 75 मिसाइलें दागी. जिससे यूक्रेन को बड़ा नुकसान पहुंचा है. यूक्रेन के सहयोगी अमेरिका और जर्मनी ने कदम बढ़ाया है और कीव के बचाव के लिए हवाई रक्षा प्रणालियों को चलाने का वादा किया है.

अमेरिका और जर्मनी आया Ukraine के बचाव में

रायटर्स से मिली जानकारी के मुताबिक, कल याने सोमवार को रूस ने यूक्रेन (Ukraine) पर एक साथ 75 मिसाइलें दागी थीं. जिसके बाद से यूक्रेन को भारी नुकसान हुआ. मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है की, रूस द्वारा किया गया ये यूक्रेन पर अब तक का सबसे खतरनाक हमला था.

अमेरिका और जर्मनी ने Ukraine को वायु रक्षा प्रणाली भेजने का किया वादा
अमेरिका और जर्मनी ने Ukraine को वायु रक्षा प्रणाली भेजने का किया वादा

अब यूक्रेन (Ukraine) के बचाव में अमेरिका और जर्मनी आ गये हैं. अमेरिका और जर्मनी ने यूक्रेन (Ukraine) से वादा किया है की वो अब यूक्रेन को हवाई रक्षा प्रणालियां देंगे. जिससे यूक्रेन को रूस का सामना करने में मदद मिलेगी.

कथित तौर पर, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बिडेन ने सोमवार को अपने यूक्रेनी राष्ट्रपति वलोडिमिर ज़ेलेंस्की से बात की और उन्नत वायु रक्षा प्रणालियों (advanced air defence system) सहित सहायता प्रदान करना जारी रखने का वादा किया.

Ukraine के राष्ट्रपति ने कहीं ये बाते

यूक्रेनी (Ukraine) राष्ट्रपति वलोडिमिर ज़ेलेंस्की ने कहा की, “अमेरिकी राष्ट्रपति जो बिडेन के साथ एक उपयोगी बातचीत हुई. चर्चा का मुख्य विषय वायु रक्षा था. वर्तमान में, यह हमारे रक्षा सहयोग में नंबर 1 प्राथमिकता है. G 7 के सख्त रुख के साथ और हमारे संयुक्त राष्ट्र जीए प्रस्ताव के समर्थन के साथ अमेरिका का नेतृत्व बहुत ही महत्वपूर्ण है.”

राष्ट्रपति वलोडिमिर ज़ेलेंस्की का अधिकारिक ट्वीट…

रूस-यूक्रेन के बीच चलते युद्ध को लगभग 8 महीने होने जा रहे हैं. रूस और यूक्रेन में से कोई भी झुकने को तैयार नहीं है. हाल ही में रूस ने यूक्रेन के चार मुख्य शहरों पर कब्ज़ा कर लिया था. उसके बाद रूस ने यूक्रेन के ऊपर 75 मिसाइल दागी. जिस वक्त यूक्रेन के शहरों पर मिसाइलें गिरनी शुरू हुई, उस वक्त लोग अपने घरों में या तो आराम कर रहे थे या मॉर्निंग वॉक पर थे. जिससे यूक्रेन के लोग और ज्यादा घबरा गये हैं.

जर्मनी ने दिया सुरक्षा का आश्वासन

इस बीच, जर्मनी ने यह भी कहा कि वह हवाई रक्षा प्रणाली प्रदान करने के अपने वादे को पूरा करेगा. और यूक्रेन की हर संभव मदद करेगा. जर्मन विदेश मंत्री एनालेना बेरबॉक ने ट्विटर पर जानकारी दी कि सरकार रक्षा प्रणालियों में तेजी ला रही है.

जर्मन विदेश मंत्री एनालेना बेरबॉक ने ट्वीट किया की, “यह निश्चित है कि पुतिन शहरों और नागरिकों पर रॉकेट दाग रहे हैं.  यूक्रेन की हवाई सुरक्षा को जल्दी से मजबूत करने के लिए हम सब कुछ कर रहे हैं.”

जर्मन विदेश मंत्री का अधिकारिक ट्वीट…

उम्मीद की जा रही है कि बर्लिन अपनी आइरिस-टी प्रणाली भेजेगा, जिसमें 20 किलोमीटर की ऊंचाई और 40 किलोमीटर की चौड़ाई वाली रेंज है. मीडिया की रिपोर्ट के अनुसार, रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन पहले ही यूक्रेन पर और अधिक गंभीर हमलों की धमकी दे चुके हैं.

सोमवार सुबह अचानक शहरों पर मिसाइलें गिरने से हजारों लोगों को एक बार फिर बम आश्रयों में भागने के लिए मजबूर होना पड़ा है. यूक्रेन ने नाटो (NATO) में भी शामिल होने की प्रक्रिया पूरी की है. अगर सभी नाटो देश राज़ी होते हैं तो यूक्रेन भी जल्द ही नाटो देशों का हिस्सा होगा.

Leave a Reply