Urvashi Rautela उतरी Mahsa Amini के समर्थन में, कटवाए बाल

Mahsa Amini: खुद को ऑनलाइन बुलईंग (bullying) का शिकार बताने के बाद उर्वशी रौतेला (Urvashi Rautela) अपनी स्थिति की तुलना Mahsa Amini से की. उर्वशी रौतेला ने ईरानी महिलाओं और लड़कियों को समर्थन देने के लिए अपने बाल काटने का फैसला किया है.

Urvashi Rautela उतरी ईरानी महिलाओं और लड़कियों के समर्थन

इस वक़्त दुनिया में हिजाब को लेकर विवाद फैला हुआ है. ईरान में रहने वाली 22 साल की महसा अमिनी (Mahsa Amini) को हिजाब ना पहनने को लेकर पुलिस कस्टडी में मौत के घाट उतार दिया गया था.

हालाँकि, स्थाई पुलिस का कहना है महसा आमिनी की मौत की ज़िम्मेदार पुलिस नहीं है. हिजाब न पहनने को लेकर अब ईरान सहित दुनिया भर में प्रदर्शन हो रहा है. कई महिलाए अब ईरानी महिलाओं के समर्थन में खड़ी हो रही हैं.

Urvashi Rautela उतरी Mahsa Amini के समर्थन में, कटवाए बाल
Urvashi Rautela उतरी Mahsa Amini के समर्थन में, कटवाए बाल

इस बीच खबर आई है की उर्वशी रौतेला (Urvashi Rautela) ने भी महसा आमिनी (Mahsa Amini) की मौत को लेकर अपने बाल कटवाए हैं. दरअसल, उर्वशी ने सोमवार को इंस्टाग्राम पर एक फोटो साझा की, जिसमें वह (Urvashi Rautela) अपने बाल कटवाती नजर आ रही हैं. उन्होंने फोटो के साथ एक कैप्शन लिखा की –

“मेरे बाल काट दिए! ईरानी महिलाओं और लड़कियों के समर्थन में मेरे बाल काट रहे हैं. जो ईरानी नैतिकता पुलिस और सभी लड़कियों के लिए महसा अमिनी की गिरफ्तारी के बाद विरोध प्रदर्शन में मारे गए हैं. और उत्तराखंड की 19 वर्षीय लड़की अंकिता भंडारी को समर्थन करने के लिए भी मैं बाल कटवा रही हूँ.”

आगे उन्होंने लिखा की, “दुनिया भर में महिलाएं अपने बाल काटकर ईरानी सरकार के विरोध में एकजुट हो रही हैं. महिलाओं का सम्मान करें. महिला क्रांति के लिए एक वैश्विक प्रतीक है. बालों को महिलाओं की सुंदरता के प्रतीक के रूप में देखा जाता है. बालों को सार्वजनिक रूप से काटकर महिलाएं दिखा रहीं है कि वे समाज के सौंदर्य मानकों की परवाह नहीं करते हैं और किसी भी चीज़ या किसी को यह तय नहीं करने देंगे कि वे कैसे कपड़े पहनते हैं, व्यवहार करते हैं या रहते हैं.”

Urvashi Rautela ने इंस्टाग्राम पर साझा की पोस्ट 

ऑस्ट्रेलिया में हैं उर्वशी, हो रहीं है ट्रोल

उर्वशी (Urvashi Rautela) इस समय ऑस्ट्रेलिया में हैं, और जब से उन्होंने खुलासा किया कि वह वहां हैं. तब से नेटिज़न्स उन्हें ऋषभ पंत का पीछा करने के लिए बुरी तरह से ट्रोल कर रहे हैं. इतना ट्रोल होने के बाद उन्होंने अपनी नाराजगी इंस्टाग्राम पर व्यक्त की और लोगों से उन्हें  ऑनलाइन बुलईंग (bullying) ना करने का आग्रह किया. हालांकि, लोगों ने उन्हें फिर से ट्रोल किया क्योंकि उन्होंने अपनी स्थिति की तुलना महसा अमिनी से की है.

Mahsa Amini एक ईरानी लड़की जिसे थी. 13 सितंबर को तेहरान में गलत तरीके से कपड़े पहनने के लिए उन्हें गिरफ्तार किया गया था और तीन दिन बाद हिरासत में रहते हुए उनकी मृत्यु हो गई थी. हिजाब को ईरान में ज़बरदस्ती पहनने को लेकर अब प्रोटेस्ट हो रहा है. महिलाओं का मानना है की वो क्या पहन सकती और क्या नहीं यह तय करना उनका अधिकार है ना की सरकार का.

बता दें की अब स्विजरलैंड ने भी हाल ही में घोषणा की थी महिलाओं को सार्वजनिक रूप  से हिजाब पहनने की इजाजत नहीं है. वहीँ फ्रांस बहुत पहले से ऐसा कानून बना चुगा है की सार्वजनिक रूप से हिजाब पहनने पर जुर्माना लगेगा.

Leave a Reply