September 26, 2022
UNSC: UNSC के प्रस्तावों का भारत ने किया समर्थन, सीरिया सीमा पर मदद के लिए भारत की तरफ़ से स्वीकृत

UNSC: UNSC के प्रस्तावों का भारत ने किया समर्थन, सीरिया सीमा पर मदद के लिए भारत की तरफ़ से स्वीकृत

Spread the love

UNSC: भारत ने सीरिया की मदद के लिए बड़ा कदम उठाया है. भारत (India) ने युद्धग्रस्त सीरिया (Syria) के कुछ हिस्सों तक सहायता पहुंचाने के लिए पश्चिमी देशों द्वारा प्रायोजित संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) के प्रस्ताव के लिए मतदान किया है. UNSC ने बाब अल-हवा को तुर्की (Turkey) के माध्यम से 40.1 मिलियन लोगों को सीरिया में विद्रोही-नियंत्रित क्षेत्रों में सीमा पार का उपयोग करके मानवीय सहायता भेजने के लिए एक प्रस्ताव का स्वागत किया है.

40 लाख लोगों को आश्वस्त करेगा ये प्रस्ताव

संयुक्त राष्ट्र (United Nations) में भारत के उप स्थायी प्रतिनिधि आर रवींद्र (R Ravindra) ने सीमा पार मानवीय सहायता कार्यों के नवीनीकरण के लिए और सीरिया (Syria) के मानवीय प्रस्ताव को अपनाने के दौरान कहा कि प्रस्ताव सीरिया के उत्तर-पश्चिम में लगभग 40 लाख लोगों को आश्वस्त करेगा, जिनमें से कई महिलाएं हैं और बच्चे शामिल हैं.

भारत के उप स्थायी प्रतिनिधि आर रवींद्र (R Ravindra) ने कहा कि,

“यह स्पष्ट है कि सीरिया में लोगों की पीड़ा को कम करने के लिए आंदोलन को राजनीतिक रास्ते पर लाने की तत्काल अनिवार्यता बनी हुई है. इसके लिए सभी दलों, विशेष रूप से बाहरी समर्थकों को, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों के अनुरूप सीरिया के नेतृत्व वाली और सीरियाई स्वामित्व वाली राजनीतिक प्रक्रिया की शुरुआत के लिए अपनी ठोस प्रतिबद्धता प्रदर्शित करने की आवश्यकता है. UNSC में, भारत ने बिना किसी भेदभाव  राजनीतिकरण और पूर्व शर्त के पूरे देश में सभी सीरियाई लोगों को बेहतर और प्रभावी मानवीय सहायता के लिए अपना आह्वान दोहराया है.”

इसके साथ ही उन्होंने कहा की, क्रॉस लाइन संचालन के कामकाज में बाधा डालने वाली बाधाओं को दूर करने के लिए ठोस कदम उठाए जाने की जरूरत है. मानवीय सहायता राजनीतिक लाभ का विषय नहीं हो सकती. इसलिए हमें इस कदम को राजनीती से दूर रखना होगा. इसके अलावा उन्होंने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को भी उन परियोजनाओं को बढ़ावा देने की ज़रूरत है. अंत में, उन्होंने कहा की, भारत स्थायी शांति और स्थिरता प्राप्त करने के प्रयासों में सीरियाई लोगों का समर्थन करने के लिए प्रतिबद्ध है.

आज भी सीरिया में है ISIS  का कब्ज़ा

जानकारी के मुताबिक, आज भी सीरिया में ISIS का कब्ज़ा है. बता दें की, 29 जून 2014 को संगठन के सरगना अबु बक्र अल-बगदादी ने इराक और सीरिया के अधिकांश भाग पर कब्जा कर इसे इस्लामिक स्टेट घोषित कर दिया था. जिसके बाद से सभी देशों की चिंता बढ़ गई थी. एक साल के अंदर ही ISIS ने हजारों शिया, यहूदी और गैर मुस्लिमों की हत्‍या की थी.

इसके बाद हालही में, अमेरिकी सेना ने आतंकी हनी अहमद अल-कुर्दी को गिरफ़्तार कर लिया था. ख़बरो की माने तो हनी अहमद अल-कुर्दी भी ISIS का बड़ा आतंकी था जिसने सीरिया में दहशत का माहौल कायम किया हुआ था. सीरिया और इराक में जिहादी समूह से जूझ रहे अमेरिकी गठबंधन के सुरक्षाबलों का कहना है कि गिरफ्तार किया गया आतंकी एक एक्सपीरिएंस्ड बॉम्ब मेकर होने के साथ ही ऑपरेशनल फैसिलिटेटर भी था. UNSC के साथ मिल कर अब कई देश सीरिया की मदद के लिए हर संभव मदद कर रहें हैं. जिसमे भारत भी अब कदम से कदम मिला कर खड़ा है.

 

1 thought on “UNSC: UNSC के प्रस्तावों का भारत ने किया समर्थन, सीरिया सीमा पर मदद के लिए भारत की तरफ़ से स्वीकृत

Leave a Reply

Your email address will not be published.