September 29, 2022
United Nation के अनुसार म्यांमार में सेना की कार्रवाई में 2000 से अधिक लोगों की मौत

United Nation के अनुसार म्यांमार में सेना की कार्रवाई में 2000 से अधिक लोगों की मौत

Spread the love

संयुक्त राष्ट्र (United Nation )के एक विशेषज्ञ ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से म्यांमार में पिछले साल के तख्तापलट से उत्पन्न हुए संकट को दूर करने के लिए और अधिक प्रयास करने का आह्वान किया है क्योंकि अबतक सेना की कार्रवाई में मारे गए लोगों की संख्या 2,000 से अधिक हो गई है।

म्यांमार (myanmar) में मानवाधिकारों की स्थिति पर संयुक्त राष्ट्र के विशेष दूत टॉम एंड्रयूज ने 8 दिन की अपनी मलेशिया की यात्रा के अंत में एक बयान में कहा, “म्यांमार और उसके लोगों का अंतरराष्ट्रीय समुदाय द्वारा शालीनता और निष्क्रियता को स्वीकार करने के लिए बहुत कुछ दांव पर है।”

म्यांमार सेना का अत्याचार

म्यांमार की सेना (Junta) ने 1 फरवरी 2021 की सुबह किये गए तख्तापलट से अबतक 2,000 से अधिक नागरिकों को विरोध करने पर मार डाला है, 14,000 से अधिक को गिरफ्तार किया है, और 700,000 से अधिक लोगों को विस्थापित किया है |

हालाँकि आंतरिक रूप से विस्थापित व्यक्तियों की संख्या दस लाख से अधिक है, और देश को एक आर्थिक और मानवीय संकट में डाल दिया है जिससे लाखों लोगों के जीवन और सुरक्षा को खतरा है। म्यांमार के लोगों पर सेना के हमले मानवता और युद्ध अपराधों के खिलाफ अपराध हैं।

United Nation ने Asean देशों को सराहा

संयुक्त राष्ट्र (United Nation )के विशेषज्ञ टॉम एंड्रयूज ने म्यांमार संकट पर एक मजबूत रुख अपनाने के लिए दक्षिण पूर्व एशियाई राष्ट्र संघ (ASEAN) में मलेशिया के प्रयासों का स्वागत किया, जिसमें राष्ट्रीय एकता सरकार (NUG) के साथ शामिल होना शामिल था, जिसे निर्वाचित राजनेताओं द्वारा स्थापित किया गया था, जिन्हें म्यांमार की सेना तख्तापलट करके सत्ता से हटा दिया गया था |

आसियान (ASEAN) संगठन ने 1997 में म्यांमार को एक सदस्य देश के रूप में शामिल किया था | ASEAN देश ही म्यांमार की वर्तमान संकट को हल करने के लिए राजनयिक प्रयासों का नेतृत्व कर रहे है, लेकिन वे अबतक “पांच-सूत्रीय सहमति” को लागू करने में विफल रहे है जिसके लिए सैन्य प्रमुख और तख्तापलट के नेता वरिष्ठ जनरल मिन आंग हलिंग के साथ अप्रैल 2021 में सहमति बनी थी |

क्या है आसियान संगठन ?

आसियान (ASEAN) आधिकारिक तौर पर दक्षिण पूर्व एशियाई राष्ट्र संघ दक्षिण पूर्व एशिया में 10 सदस्य राज्यों का एक राजनीतिक और आर्थिक संघ है, जो अंतर सरकारी सहयोग को बढ़ावा देता है और एशिया-प्रशांत में अपने सदस्यों और देशों के बीच आर्थिक, राजनीतिक, सुरक्षा, सैन्य, शैक्षिक और सामाजिक-सांस्कृतिक एकीकरण की सुविधा प्रदान करता है।

आसियान का प्राथमिक उद्देश्य आर्थिक विकास में तेजी लाना और उस सामाजिक प्रगति और सांस्कृतिक विकास के माध्यम से था। इसकी स्थापना 8 अगस्त 1967 में हुयी थी |
इसके सदस्य देशों में ब्रुनेई , कंबोडिया, इंडोनेशिया, लाओस, मलेशिया, म्यांमार, फिलीपींस, सिंगापुर, थाईलैंड, वियतनाम शामिल है |

Leave a Reply

Your email address will not be published.