Joe Biden

पिछले तीन माह से यूक्रेन में जंग लड़ रही रूसी फौज की मुसीबत बढ़ सकती है | अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने यूक्रेन को अत्याधुनिक HIMARS रॉकेट (High Mobility Artillery Rocket Systems) के अलावा गोला-बारूद, काउंटर फायर रडार, हवाई निगरानी रडार, एंटी टैंक मिसाइल और एंटी-आर्मर हथियार मुहैया कराने का फैसला किया है।

मंगलवार को न्यूयॉर्क टाइम्स में प्रकाशित एक आलेख में राष्ट्रपति बाइडन ने कहा कि यूक्रेन पर रूस का आक्रमण डिप्लोमेसी से ही समाप्त होगा | उन्होंने ने बताया की अमेरिका का लक्ष्य एक लोकतांत्रिक, स्वतंत्र, संप्रभु और समृद्ध यूक्रेन को आगे की आक्रामकता के खिलाफ खुद को रोकने और बचाव करने के साधनों के साथ देखना है।

यूक्रेन को 11वां सुरक्षा सहायता पैकेज देगा अमेरिका

बाइडन प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि अमेरिका बुधवार को यूक्रेन के लिए 11वें सुरक्षा सहायता पैकेज का अनावरण करेगा जिसमें हाई मोबिलिटी आर्टिलरी रॉकेट सिस्टम (HIMARS) शामिल होगा जो जो यूक्रेनियन को युद्ध के मैदान पर अधिक सटीक रूप से लक्ष्य पर हमला करने में सक्षम बनाएंगे |

इस पैकेज की कीमत 700 मिलियन अमेरिकी डॉलर है।अधिकारी ने बताया अमेरिका नाटो और रूस के बीच युद्ध नहीं देखना चाहता है | उनकी कोशिश है कि यूक्रेन में चल रहे संघर्ष को जल्द से जल्द खत्म किया जाए।

न्यू यॉर्क टाइम्स के लेख में राष्ट्रपति (जो बिडेन)ने अपना उद्देश्य स्पष्ट बताया था कि हम नाटो और रूस के बीच युद्ध नहीं चाहते और न ही हम सीधे अमेरिकी सैनिकों को भेजकर इस संघर्ष में शामिल होंगे।

युद्ध कब शुरू हुआ ?

यूरोप में यह युद्ध तब शुरू हुआ जब 24 फरवरी को, रूस ने यूक्रेन में एक विशेष सैन्य अभियान शुरू किया, जब विद्रोहियों के कब्जे वाले क्षेत्र डोनेट्स्क और लुहान्स्क अलग-अलग आजाद गणराज्यों की घोषणा कर दी और यूक्रेनी सैनिकों द्वारा तीव्र हमलों से उन्हें बचाने के लिए पुतिन से मदद का अनुरोध किया । हालाँकि इन नए गणराज्यों को सिर्फ रूस ही मान्यता देता है |

इजरायल के पीएम नफ्ताली बेनेट की चेतावनी किसी भी हमले के लिए पूरी कीमत चुकायेगा ईरान

By Satyam

Leave a Reply

Your email address will not be published.