September 26, 2022
Ukraine War: Moscow के नगर पार्षद को 7 साल की जेल की थी युद्ध विरोधी टिप्पणी

Ukraine War: Moscow के नगर पार्षद को 7 साल की जेल की थी युद्ध विरोधी टिप्पणी

Spread the love

मास्को (Moscow) के एक जिला पार्षद को यूक्रेन (Ukraine) पर रूस (Russia) के आक्रमण की आलोचना (Ukraine War) करने के लिए सात साल की जेल हुई है. क्रेमलिन- वकील ने कहा कि फर्जी सूचना पर एक नए कानून के तहत किसी के जेल जाने का ये पहला मामला था.

क्या है पूरा मामला

एलेक्सी गोरिनोव (Alexei Gorinov) जो क्रास्नोसेल्स्की (Krasnoselsky) जिला परिषद के सदस्य हैं. उनका कहना है की, बाल दिवस के लिए हम किस तरह से बच्चों की ड्राइंग प्रतियोगिता के बारे में बात कर सकते हैं. जब हमारे पास हर दिन बच्चे मर रहे हैं. इस मीटिंग को youtube पर भी पोस्ट किया गया था. बता दें की, उन्हें आपराधिक संहिता के अनुच्छेद 207.3 के तहत गिरफ्तार किया गया है.

गोरिनोव (Alexei Gorinov) के समर्थकों ने काउंसलर के अपने टेलीग्राम चैनल (Telegram Channel) पर एक तस्वीर पोस्ट की है. जिसमें एक आदमी पिंजरे में खड़ा हुआ है और हाँथ में एक तख्ती पकड़े हुए है जिसमे लिखा हुआ है की, “क्या आपको अभी भी इस युद्ध की आवश्यकता है?”

एलेक्सी गोरिनोव (Alexei Gorinov) ने कहा की,”उन्होंने मेरा वसंत ले लिया, उन्होंने मेरी गर्मी छीन ली, और अब उन्होंने मेरे जीवन के सात और साल छीन लिए हैं.” जेल में बंद विपक्षी नेता एलेक्सी नवलनी के चीफ ऑफ स्टाफ लियोनिद वोल्कोव ने कहा कि, यूक्रेन में रूस के कार्यों को संदर्भित करने के लिए “युद्ध” शब्द का उपयोग करने वाले लोगों को उदाहरण देने के लिए ये सज़ा दी गई है.

रूस कस रहा नकेल

रूस (Russia) ने नकेल कसना शुरू कर दिया है. रूस (Russia) का कहना है की, जो भी उसके कार्यों को “युद्ध” या “आक्रमण”(Ukraine War) कह रहा है उन सब उसकी पैनी नज़र है. चाहें व्यक्ति हो या मीडिया रूस की नज़र सब पर बनी हुई है.

युद्ध का विरोध करने के लिए कई लोगों को प्रशासनिक जुर्माना दिया गया है. लेकिन वकील पावेल चिकोव ने टेलीग्राम पर कहा कि केवल दो अन्य को अनुच्छेद 207.3 के तहत आपराधिक अपराधों के लिए दोषी ठहराया गया था. एक पर जुर्माना लगाया गया था और दूसरे को निलंबित जेल की सजा दी गई थी. रूस ने कहा है कि उसके सताए गए रूसी-भाषियों का बचाव करने की ज़िम्मेदारी रूस की है. यूक्रेन से बचने के लिए और सैन्य खतरे को कम करने के लिए बल प्रयोग करना पड़ रहा है.

जानकारी के लिए बता दें की, रूस ने कहा की वो शन्ति वार्ता को खारिज नहीं कर सकता. बता दें की, इस खुली चुनौती के बाद भी पुतिन संभावित बातचीत की ओर भी इशारा किया है.

उन्होंने कहा, “हर किसी को यह जानना चाहिए कि हमने अभी तक सामान्‍य रूप से कुछ भी गंभीरता से शुरू नहीं किया है. ठीक इसी समय हम शांति वार्ता को भी खारिज नहीं कर रहे हैं.” पुतिन ने पहली बार कई सप्‍ताह बाद कूटनीति का उल्‍लेख किया है. इससे पहले रूस की ओर से बार-बार यह बयान दिया गया था कि यूक्रेन के साथ बातचीत पूरी तरह से टूट गई है. 24 फरवरी को हमला करने के बाद रूस ने यूक्रेन (Ukraine) के एक बड़े इलाके पर कब्‍जा कर लिया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.