वरिष्ठ अधिकारी ने बताया की, Ukraine के लाइमैन शहर में मिली सामूहिक कब्र

Ukraine: यूक्रेनी बलों ने शनिवार को एक जवाबी कार्रवाई में रणनीतिक पूर्वी शहर लाइमैन के कई क्षेत्रों को फिर अपने कब्जे में ले लिया था. पिछले महीने इज़ियम में सामूहिक कब्रें पाई गई थीं. अब पूर्वी यूक्रेन में हाल ही में मुक्त किए गए शहर लाइमैन में एक और सामूहिक दफन स्थल का खुलासा किया गया है. क्षेत्रीय गवर्नर पावलो क्यारिलेंको ने शुक्रवार को एक ऑनलाइन पोस्ट में खोज के बारे में जानकारी दी यह कहते हुए कि यह स्पष्ट नहीं है कि इसमें कितने शव हैं.

सामूहिक कब्र में सैनिक और नागरिक के हो सकते हैं शव

WION से मिली जानकारी के मुताबिक, यूक्रेन (Ukraine) के शहर लाइमैन में एक सामूहिक कब्र मिली है. क्षेत्रीय गवर्नर पावलो क्यारिलेंको ने अपने अधिकारिक बयान में कहा की,

“लाइमैन में अधिकारियों को एक सामूहिक कब्र मिली है. जहां स्थानीय जानकारी के अनुसार, सैनिक और नागरिक दोनों हो सकते हैं. सटीक संख्या का पता लगाया जाना बाकी है.”

इस बीच, समाचार एजेंसी उक्रिनफॉर्म ने एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के हवाले से कहा कि कब्र में 180 शव हैं. यूक्रेन के सैनिकों ने शनिवार को डोनेट्स्क क्षेत्र के लाइमैन को रूसी नियंत्रण से वापस ले लिया है. एक अन्य पोस्ट में, उन्होंने कहा कि 200 कब्रों के साथ एक दूसरा दफन स्थल भी मिला है, जिसमें नागरिकों के शव हैं. हालांकि, उनकी मौत क्यों हुई इसके बारे में कोई स्पष्ट जानकारी नहीं हैं.

इज़ियम में मिले थे इतने शव

इज़ियम में दफन स्थल से कुल 436 शव निकाले गए थे. जिसमें अधिकारियों ने कहा कि उनमें से अधिकांश को हिंसक मौत का सामना करना पड़ा था. वैसे बता दें की, यूक्रेनी (Ukraine) अधिकारियों ने नियमित रूप से रूसी सैनिकों पर यूक्रेन के अन्य हिस्सों में नागरिकों को मारने का आरोप लगाया है.

लेकिन फिलहाल तो इन आरोपों को मास्को ने सिरे से ख़ारिज कर दिया है. यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर ज़ेलेंस्की ने पहले कहा था कि “अप्रैल में राजधानी कीव के पास और मारियुपोल के पास सामूहिक कब्रें मिली थीं. मासूम नागरिकों को जानबूझ कर मौत के घाट उतारा गया है.”

रूस-यूक्रेन युद्ध को लगभग 8 महीने होने जा रहे हैं. लेकिन अभी भी दोनों देशों के बीच जंग जारी है. रूस को कई देशों ने हिदायत दी थी की अब उसको ये युद्ध रोक देना चाहिए. लेकिन फिर भी रूस अपनी हरकतों से नहीं बाज आ रहा है.

अमेरिका ने रूस पर अंकुश लगाने की तमाम कोशिशें की

सुपरपॉवर अमेरिका ने भी रूस पर कई अंकुश लगाने की कोशिश की है. लेकिन रूस पर कोई असर नहीं हुआ. अमेरिका खुलकर यूक्रेन की मदद कर रहा है. अमेरिका यूक्रेन को हथियारों से सहायता प्रदान कर रहा है. वैसे भी यूक्रेन, रूस के हांथों अपने चार शहर गवा चुगा है.

एक तरफ रूस भारत को अपने पक्ष में रखने की कोशिश कर रहा है. रूस ने हाल ही में हुए एक कार्यक्रम में कहा था की बड़े देशों ने मिलकर भारत को लूटा है और उसका फ़ायदा उठाया है. भारत के प्रधानमंत्री मोदी ने रूस से कहा था की ये वक़्त लड़ाई का नहीं है साथ मिलकर चलने का है. जिस पर उनकी सराहना भी हुई थी.

रूस-यूक्रेन के युद्ध की वजह से वैश्विक स्तर पर भी बड़ा असर देखने को मिला है. जानकारों ने तो यहाँ तक ये भी कहा था की अगर ये युद्ध जल्दी नहीं रुका तो वैश्विक स्तर पर आर्थिक मंदी आने से कोई नहीं रोक सकता.

 

Leave a Reply