UK Spy Chief की चेतावनी Chinese तकनीक का इस्तेमाल वैश्विक सुरक्षा के लिए खतरा

UK: यूनाइटेड किंगडम के खुफिया प्रमुख (UK Spy Chief) ने चेतावनी दी है कि चीन द्वारा टेक्नोलॉजी का उपयोग वैश्विक सुरक्षा के लिए खतरा है. बीजिंग तेज़ी से दुनिया में अपना दवाब बढ़ाना चाहता है. चीन चाहता है की ज़्यादातर देश उसकी टेक्नोलॉजी का प्रयोग करे. ब्रिटेन (Britain) के जेरेमी फ्लेमिंग के भाषण के अनुसार, चीन टेक्नोलॉजी के ज़रिए हर क्षेत्र में अपनी पकड़ मजबूत कर रहा है.

चीन बना रहा वैश्विक स्तर पर अपना दबदबा

WION से मिली जानकारी के मुताबिक, ब्रिटेन के जासूस प्रमुख (UK Spy Chief) ने कहा है की, चीन अपनी पकड़ मजबूत कर रहा है. चीन टेक्नोलॉजी की मदद से दुनिया भर में अपनी पकड़ बना रहा है. चीन सबसे ज्यादा अब AI (artificial intelligence) पर काम कर रहा है. इसके साथ चीन उपयोगकर्ता के लेनदेन की निगरानी करने की अनुमति देने के लिए डिजिटल मुद्रा को भी बढ़ावा दे रहा है.

हाल ही में, अमेरिका ने भी चीन पर दवाब बनाना शुरू कर दिया है. अमेरिका ने चीन से संबंध रखने वाली ड्रोन कंपनी DJI को भी अमेरिका ने ब्लैकलिस्ट में डाल दिया था.  चीन से अब सीधी टक्कर अमेरिका की हो रही है. अमेरिका कई नियम को लागू कर रहा है जिससे चीन पर लगाम लगाई जा सके.

Britain के जासूस ने कहा की, चीन की तकनीक हैं वैश्विक सुरक्षा के लिए एक बड़ा खतरा
UK Spy Chief की चेतावनी Chinese तकनीक का इस्तेमाल वैश्विक सुरक्षा के लिए खतरा

बता दें की, अमेरिका ने चीन पर रोक लगाने के लिए चीन में निर्मित कंप्यूटर चिप एवं सेमीकंडक्टर के निर्यात नियमों पर भी नए नियम लागू करने की बात कही थी. जिसको लेकर चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता माओ निंग ने संवाददाताओं से कहा कि, “अमेरिका ने यह कदम विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में अपना वर्चस्व कायम रखने के लिए उठाया है. अमेरिका चीन की कंपनियों को दबाने और उन्हें जानबूझकर रोकने के लिए निर्यात नियंत्रण के कदम का दुरुपयोग कर रहा है.”

PLA को कई कंपनी देती हैं ख़ुफ़िया जानकारी

चीन की People’s Liberation Army (PLA) पर अमेरिका ने आरोप लगाया है की वो कंपनियों पर दवाब डालती है की दुनिया भर का जो भी ख़ुफ़िया डाटा है वो कंपनी चीन के साथ शेयर करे. बाते दिनों ऐसे ही इलजाम लगे थे सबसे बड़ी ड्रोन निर्माता कंपनी DJI पर.

अमेरिका और ब्रिटेन का कहना है की, चीन अपने फायदे के लिए सभी नियमों का उल्लंघन करता है. उधर चीन का कहाँ है की जो देश उस पर इलजाम लगा रहे हैं वो अपने क्षेत्र में  टेक्नोलॉजी और विज्ञान को बढ़ावा देना चाहते हैं. वो चाहते हैं की उनसे आगे कोई न निकले.

ताइवान की वजह से चीन ले रहा है सबसे बैर

जानकारों का मानना है की, बीते कई समय से चीन जो विवादों में घिरा हुआ है उसका सीधा संबंध है ताइवान. दरअसल चीन ताइवान को अपना हिस्सा आज भी मानता है. लेकिन ब्रिटेन,अमेरिका और खुद ताइवान का ऐसा मानना है की ताइवान पूरी तरह से आज़ाद है. उनका अपना लोकतंत्र है और उसके ही मुताबिक चलता है.

उधर चीन का कहना है की अमेरिका और ब्रिटेन जैसे देश उसके आंतरिक मामले को टांग अडाते हैं. हालंकि, चीन और ताइवान में काफी से समय से दुश्मनी चल रही है. चीन लगातार कोशिश करता है ताइवान को दबाने की, लेकिन ताइवान का रुख चीन के प्रति हमेशा सख्त रहा है.

One thought on “UK Spy Chief की चेतावनी Chinese तकनीक का इस्तेमाल वैश्विक सुरक्षा के लिए खतरा”

Leave a Reply