September 25, 2022
Spread the love

Twitter पर विवाद खत्म होने के नाम नहीं ले रहा है , माइक्रोब्लॉगिंग साइट से जुड़ा एक और खुलासा हुआ है, जो चौंकाने वाला है | ट्विटर फ्री स्पीच में विश्वास नहीं रखता है और कंपनी में काम करने वाले लोग एलोन मस्क की 44 अरब डॉलर की डील से ‘नफरत’ करते हैं |
यह जानकारी कंपनी से जुड़े एक अधिकारी ने दी है, जिसे सोशल मीडिया जाइंट का सीनियर इंजीनियर बताया जा रहा है |  एक अमेरिकी राइट विंग एक्टीविस्ट ग्रुप Project Veritas ने इस वीडियो को रिलीज किया है |

क्या था वीडियो में ?

इस वीडियो में ट्विटर के सीनियर इंजीनियर Siru Murugesan ने माना है कि कंपनी का झुकाव लेफ्ट विंग की ओर है और राइट विंग के लोगों को प्लेटफॉर्म पर खुले तौर पर सेंसर किया जाता है | सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो में Siru Murugesan साफ-साफ इन बातों को कहते दिख रहे हैं.

उन्होंने बताया कि ट्विटर का झुकाव लेफ्ट की ओर है और उसके साथी Tesla CEO एलोन मस्क के ऑफर से नफरत करते हैं |  Murugesan के मुताबिक, Twitter की ऑफिस पॉलिटिक्स इस हद तक लेफ्ट विंग की ओर झुकी हुई है कि वहां काम करने वाले लोग अपने असली विचारों को भी बदल देते हैं, जिससे वे इस माहौल में काम कर सकें | Siru Murugesan के मुताबिक, एलॉन मस्क के ट्विटर डील को कंपनी के स्टाफ ने रोकने की कोशिश की, जबकि कई ने इसका विरोध भी किया |

यह कोई पहला मौका नहीं है, जब ट्विटर के बारे में ऐसी बात सामने आई है. इससे पहले मस्क ने खुद ट्विटर पर लेफ्ट विंग को लेकर पक्षपात करने का आरोप लगाया था | पिछले हफ्ते मस्क ने Twitter डील को होल्ड कर दिया है और इसकी वजह बॉट्स (जाली कंप्यूटर से बने अकाउंट ) हैं | Twitter के अनुसार कुल उपयोगकर्ताओं में से बोट्स की संख्या 5% है जबकि मस्क के अनुसार यह आंकड़ा 20% है | Murugesan ने यह भी बताया कि मस्क के Twitter को खरीदने की खबर पर उनके साथियों का कहना था, ‘वह हमारा आखिरी दिन होगा |

Leave a Reply

Your email address will not be published.