September 25, 2022
Turkey: 1998 के बाद तुर्की में अपने चरम पर है महंगाई, सालाना महंगाई दर 78.6 फीसदी बढ़ रही

Turkey: 1998 के बाद तुर्की में अपने चरम पर है महंगाई, सालाना महंगाई दर 78.6 फीसदी बढ़ रही

Spread the love

Turkey: तुर्की में इस वक़्त मुसीबत के बादल छाए हुए हैं. तुर्की में जून महीने के दौरान वार्षिक मुद्रास्फीति 78.62 फीसदी पर पहुंच गई जो 1998 के बाद से मुद्रास्फीति की ज्यादा है. सोमवार को जारी आधिकारिक आंकड़े में यह कहा गया था. तुर्की (Turkey) के सांख्यिकी संस्थान तुर्कस्टेट ने मासिक आंकड़े जारी किए जिनमें पता चला कि आजीविका का संकट यहां पर गहराता जा रहा है.

तुर्की की आजीविका पर गहरा रहा संकट

मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो, तुर्की में जून महीने के दौरान वार्षिक मुद्रास्फीति 78.62 फीसदी पर पहुंच गई जो 1998 के बाद से मुद्रास्फीति की सबसे ज्यादा  है. सोमवार को जारी आधिकारिक आंकड़े में यह कहा गया है. अधिकारिक आंकड़ो के मुताबिक, उच्चतम वार्षिक मूल्य वृद्धि 123.37 प्रतिशत के साथ परिवहन क्षेत्र में हुई है. खाद्य और गैर-मादक पेय की कीमत में 93.93 प्रतिशत की वृद्धि हुई है. जबकि साज-सज्जा और घरेलू उपकरणों की कीमतों में 81.14 प्रतिशत की वृद्धि हुई है.

देश दशकों से वित्तीय संकट (Economic crisis) से गुजर रहा है.  तुर्की (Turkey) का लीरा (Lira) COVID-19 महामारी के बाद से अपना मूल्य खोता ही जा रहा है. रूस-यूक्रेन युद्ध ने भी स्थिति को खराब कर दिया है. जिससे ऊर्जा की कीमतों की ऊँचाई आसमान छू रही है.

 लगातार गिर रहा लीरा

2021 में लीरा (Lira) ने अपने मूल्य का 40 प्रतिशत से अधिक खो दिया है. क्योंकि केंद्रीय बैंक (Central Bank) ने उच्च मुद्रास्फीति के बावजूद सितंबर से दिसंबर तक अपनी नीति दर को 500 आधार अंकों से 19 प्रतिशत से घटाकर 14 प्रतिशत कर दिया था. तब से बैंक ने यही रेट रखा है.

तुर्की के हालात बिगड़ते ही जा रहे हैं. लोगों को भयंकर महंगाई का सामना करना पड़ रहा है. यूं तो अनेक देशों में उपभोक्ता मूल्य बढ़ता जा रहा है लेकिन आलोचकों ने तुर्की की समस्याओं के लिए राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोआन (Recep Tayyip Erdoğan) की आर्थिक नीतियों को जिम्मेदार ठहराया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.