The Kerala Story का टीज़र हुआ आउट, ISIS में शामिल हुई 32000 केरल महिलाओं की स्थिति दर्शाती है फिल्म

The Kerala Story: 3 नवंबर 2022 को नई फिल्म ‘द केरल स्टोरी’ (The Kerala Story) का टीजर जारी किया गया है. विपुल अमृतलाल शाह द्वारा निर्मित और सुदीप्तो सेन द्वारा निर्देशित फिल्म केरल की 32000 महिलाओं की दिल दहला देने वाली और दिल दहला देने वाली कहानियों को दर्शाती है. जिन्हें ISIS (इस्लामिक स्टेट्स ऑफ इराक एंड सीरिया) आतंकवादी रैंक में शामिल होने के लिए कट्टरपंथी बनाया गया था. द केरल स्टोरी का टीज़र रौंगटे खड़े कर देने वाला है.

The Kerala Story के टीज़र को मिल रही खूब तारीफ

इस बार, भारतीय फिल्म उद्योग के सबसे बड़े निर्माताओं में से एक, निर्देशक विपुल अमृतलाल शाह कुछ दुखद वास्तविक जीवन की घटनाओं पर आधारित एक कहानी को बड़े पर्दे पर लाने के लिए तैयार हैं. ‘द केरल स्टोरी’ (The Kerala Story) का टीज़र रिलीज़ हो चुका है.

इस फिल्म को सुदीप्तो सेन ने निर्देशित किया है. यह फिल्म एक आतंकवादी संगठन की दिल दहला देने वाली और चौंकाने वाली कहानी बताती है. बता दें की, फिल्म के सिंपल लेकिन लोगों को हिला कर रख देने वाले इस टीज़र ने एक महिला की कहानी दिखाई है जो नर्स बनने का सपना देखती थी. लेकिन उन्हें उनके घर से अपहरण कर लिया गया था और अब अदा शर्मा द्वारा निभाया गया यह किरदार इस वक़्त ISIS आतंकवादी के रूप में अफगानिस्तान में जेल में बंद है.

The kerala Story का टीज़र हुआ आउट, ISIS में शामिल हुई 32000 केरल महिलाओं की दर्शाती है फिल्म
The Kerala Story का टीज़र हुआ आउट, ISIS में शामिल हुई 32000 केरल महिलाओं की दर्शाती है फिल्म

‘द केरल स्टोरी’ (The Kerala Story) केरल की 32000 ऐसी धर्मांतरित मुस्लिम महिलाओं का दर्द बयां करती है जिन्हें यमन और सीरिया के रेगिस्तान में आतंकवादी के रूप में भेजा गया था. केरल में पिछले कुछ सालों से एक सामान्य लड़कियों को ISIS आतंकी बनाने का खतरनाक खेल खेला जा रहा है.

पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) और उसके अन्य सहयोगी संगठनों जैसे इस्लामी संगठनों की गतिविधियों के कारण केरल में बढ़ती कट्टरता लड़कियों की देश में तस्करी के लिए जिम्मेदार है.

झकझोर देने वाली घटनाओं पर आधारित है फिल्म

ये फिल्म केरल को झकझोर देने वाली घटनाओं की एक बहुत ही वास्तविक, निष्पक्ष और सच्ची कहानी है. फिल्म निर्माता विपुल अमृतलाल शाह ने अपने अधिकारिक बयान में कहा है की, “हाल की एक जांच के अनुसार 2009 से केरल और मेंगलूरू की लगभग 32 हजार हिंदू और ईसाई समुदायों की लड़कियों को इस्लाम में परिवर्तित किया गया है और उनमें से अधिकांश सीरिया, अफगानिस्तान और अन्य ISIS और हक्कानी समूह के प्रभाव वाले क्षेत्रों में कैद हैं. यह फिल्म उन महिलाओं पर आधारित है.”

बता दें की, ‘द केरल स्टोरी’ (The Kerala Story) के निदेशक सुदीप्तो सेन ने फिल्म से जुड़ी जानकारी इकठ्ठा करने के लिए कुछ अरब देशों सहित इस क्षेत्र का दौरा किया. उन्होंने निवासियों और पीड़ितों के रिश्तेदारों से बात की, और जो कुछ उन्होंने देखा उससे इस फिल्म में पिरोया है.

हालांकि धर्मांतरण 2009 में शुरू हुआ था. केरल में ISIS की भागीदारी शुरू में 2013 में देखी गई थी.  बताया जाता है की, 2014 की शुरुआत में ISIS ने केरल में जड़ें जमा लीं थी. कहा जाता है कि केरल के बहुत से पुरुष और महिलाएं हाल के वर्षों में ISKP (Islamic State of Khorasan Province) में शामिल हुए हैं. संयुक्त राष्ट्र ने अपनी 2020 की आतंकवाद रिपोर्ट में चेतावनी दी थी कि भारतीय राज्य केरल में ISIS के आतंकवादी तेज़ी से पनप रहे हैं.

Leave a Reply