Pakistan और Afganistan के बीच लगातार बढ़ रहा है सीमा तानाव

Pakistan: पाकिस्तान (Pakistan) अपने सीमावर्ती प्रांतों में अपनी खराब सुरक्षा स्थिति का सामना कर रहा है. पाकिस्तान (Pakistan) और अफगानिस्तान के बीच तनाव बना हुआ है. पाकिस्तानी अखबार डॉन न्यूज़ के मुताबिक पाक-अफगान सीमा पर गोलाबारी के कारण तनाव ज्यादा बढ़ गया है.

Pakistan और अफगानिस्तान की बीच गहराई टेंशन

वॉयस ऑफ वियना की रिपोर्ट के अनुसार, ‘डूरंड लाइन’ पर हिंसा की हाल की घटनाओं के बाद अफगानिस्तान और पाकिस्तान (Pakistan) के बीच सीमा तनाव उच्च स्तर पर पहुंच गया है. 13 नवंबर को, अफगानिस्तान की ओर से कथित रूप से एक हथियारबंद व्यक्ति ने चमन/स्पिन बोल्डक बॉर्डर क्रॉसिंग (जिसे ‘फ्रेंडशिप गेट’ के रूप में जाना जाता है) पर पाकिस्तानी सुरक्षा कर्मियों पर गोलियां चलाईं थीं. जिसके परिणामस्वरूप एक फ्रंटियर कोर सैनिक की मौत हो गई और दो अन्य घायल हो गए थे.

इस हमले का नतीजा यह निकला की पाकिस्तान (Pakistan) ने चमन सीमा पर सभी व्यापारिक और व्यापारिक गतिविधियों को एक सप्ताह से अधिक समय तक बंद कर दिया था. जिससे सीमा के दोनों ओर रहने वाली आबादी के लिए मानवीय संकट पैदा हो गया था.

Pakistan और अफगानिस्तान के बीच बढ़ा सीमा तानाव
Pakistan और अफगानिस्तान के बीच बढ़ा सीमा तानाव

इस दिन खोली गई थी सीमा

अधिकारिक रिपोर्ट्स के अनुसार, तालिबान और पाकिस्तानी अधिकारियों के बीच कई फ्लैग मीटिंग के बाद, अधिकारियों ने 21 नवंबर को सीमा पार को फिर से खोल दिया था. वॉइस ऑफ वियना की रिपोर्ट के अनुसार, तालिबान द्वारा अफगानिस्तान पर कब्जा करने के एक साल बाद, अफगानिस्तान और पाकिस्तान के बीच सीमा पर संघर्ष कई गुना बढ़ गया है और शांति लगातार दोनों देशों के बीच ख़त्म होती जा रही है.

इसके अलावा खबर मिली थी की, एक अन्य सीमा घटना में कुर्रम सीमा के पास खारलाची और बोरकी में अफगान सीमा पार से गोलीबारी के बाद दो बच्चों सहित सात लोग घायल हो गए थे.

पाकिस्तान ने हमले की निंदा की थी

ट्विटर पर साझा किए गए एक बयान में, प्रवासी पाकिस्तानी और मानव संसाधन विकास मंत्री साजिद हुसैन तुरी ने 20 नवंबर को कहा था की, “अफगानिस्तान द्वारा खारलाची और बोरकी में पाकिस्तान की कुर्रम सीमा का उल्लंघन और नागरिक आबादी को लक्षित करना निंदनीय है.”

वॉइस ऑफ वियना की रिपोर्ट के अनुसार, तालिबान समर्थक अकाउंट ने सोशल मीडिया वेबसाइटों पर अफगानिस्तान के पक्तिया प्रांत के डांड-ए-पाटन जिले में पाकिस्तान द्वारा लगाए गए कंटीले तारों के खंभों को नष्ट करने वाले तालिबान लड़ाकों के वीडियो साझा किए हैं.

Pakistan और Afganistan के बीच हुई है हिंसक झड़पें

दांड-ए-पाटन जिले में इस साल सितंबर में तालिबान लड़ाकों और पाकिस्तान के सीमा सुरक्षा बलों के बीच हिंसक झड़पें हुई हैं. सीमा पर बार-बार होने वाली झड़पों का मुख्य कारण पाकिस्तान की एकतरफा और नाजायज सीमा पर बाड़ लगाने की गतिविधियां हैं. पाकिस्तान लगातार सीमा पर बाड़ लगाने में जुटा है.

कई मौकों पर तालिबान सीमा बलों ने डुरंड रेखा पर बाड़ लगाने के बहाने पाकिस्तान द्वारा अफगान भूमि पर कब्जा करने के अवैध प्रयासों के बारे में शिकायत की है. इसलिए, जानकारों का कहना है की, तालिबान के पास पाकिस्तान के सुरक्षा बलों के खिलाफ बल प्रयोग करने के अलावा कोई विकल्प नहीं है.

Dawn की रिपोर्ट में कहा गया है की, इस तरह की घटनाओं ने इस्लामाबाद में असुरक्षा को बढ़ा दिया है. जिसे डर है कि अनसुलझे सीमा मुद्दे से तालिबान के साथ उसके संबंध खतरे में पड़ सकते हैं.

Leave a Reply