September 25, 2022
Terrorist: मेडिकल-टूरिस्ट वीज़ा का इस्तमाल करके बांग्लादेश से असम आ रहें आतंकी

Terrorist: मेडिकल-टूरिस्ट वीज़ा का इस्तमाल करके बांग्लादेश से असम आ रहें आतंकी

Spread the love

आतंकवादियों(Terrorist) ने भारत में घुसपैठ करने का नया तरीका निकाला है. ऐसी गतिविधयां पहले भी देखी गयीं हैं. आतंकवादियों के मनसूबे को नाकाम करने के लिए भारतीय सेना ने उनको कई बार पकड़ा है. लेकिन इस बार आतंकवादियों(Terrorist) ने नया तरीका निकला है. बांग्लादेश(Bangladesh) से भारत(India) के अच्छे रिश्ते होने का नाजायज फ़ायदा उठाया है.

आतंकवादियों ने निकाला नया रास्ता अब वीज़ा का इस्तमाल करके आ रहे भारत

दरअसल, जिस वक़्त आतंकवादी(Terrorist) बांग्लादेश से भारत में घुस रहे थे उसी वक़्त असम(Asaam) पुलिस ने उनकों गिरफ़्तार कर लिया. गिफ्तारी के बाद आतंकियों ने कुबूला की किस तरह वो भारत में इतनी आसानी से आ गए. पकड़े गए आतंकियों(Terrorist) ने बताया की वो बांग्लादेश से असम के रास्ते भारत में घुसने के लिए मेडिकल और टूरिस्ट वीजा को हथियार बना रहें थे. मित्र देश होने के कारण बांग्लादेश(Bangladesh) के नागरिकों के लिए ऐसे वीजा हासिल करना आसान होता है.आमतौर पर ऐसा देखा जाता रहा है की आतंकवादी(Terrorist) पाकिस्तान और बांग्लादेश की सीमा से घुसपैठ करते हैं. उसके बाद राज्यों तक पहुंचते हैं. भारत में आने के बाद देश विरोधी गतिविधियों को अंजाम देते हैं.

मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो आतंकी(Terrorist) बांग्लादेश स्थित और अल-कायदा से जुड़े जिहादी संगठनों के सदस्य निकले हैं. हालाँकि, बीते कई समय से जम्मू-कश्मीर में सेना की मज़बूत निगरानी के चलते इन गतिविधियों पर लगाम लगी है. बांग्लादेश(Bangladesh) के ज्यादातर आतंकियों के आका कुख्यात पाकिस्तानी एजेंसी आईएसआई(ISI) में बैठे हैं. हरकत-उल-मुजाहिद्दीन(Harkat-ul-Mujahideen) के पहले पकड़े गए कई कैडरों के हवाले से उनके पाकिस्तान से बांग्लादेश और फिर असम होते हुए भारत में घुसने की बातें सामने आ चुकी हैं.

सबसे ज्यादा घुसपैठ वाली सीमा बांग्लादेश की

बीएसएफ(Border Security Force) के ताज़ा डेटा की माने तो बांग्लादेश और पाकिस्तान से 2021 में पिछले 5 सालों में सबसे ज्यादा घुसपैठ हुईं हैं. डेटा के अनुसार 2017 से 2021 के बीच 6,712 घुसपैठिया पकड़े गए. इनमें से 268 भारत-पाकिस्तान, जबकि 6,444 भारत-बांग्लादेश सीमा से घुसपैठ करते पकड़े गए. सिर्फ 2021 में पाकिस्तान सीमा से 45, जबकि बांग्लादेश सीमा से 1,583 घुसपैठिए पकड़े गए. आमतौर पर पूर्वोत्तर के किसी सीमावर्ती राज्य और वहां से वाया असम देश के अन्य हिस्सों में पहुंचने के लिए आतंकवादी(Terrorist)  तीन इलाकों के दुर्गम रास्तों का सहारा लेते रहे हैं.

ताज़ा खबरों की माने तो, दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिला अंतर्गत पड़ने वाले गोपालपोरा में आतंकियों ने एक हिंदू अध्यापिका की गोली मार कर हत्या दी थी. हालाँकि अभी उन आतंकवादियों का कुछ पता नहीं चला है. लेकिन अपनी शिक्षिका की हत्या की खबर सुन कर उनके स्कूल की कई छात्राएं बेहोश हो गईं थी. मामले में पुलिस की जाँच ज़ारी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.