September 29, 2022
Taiwan-China: ताइवान ने दी चीन को चेतावनी कहा, हवाई क्षेत्र का उल्लंघन नहीं करेगा बर्दाश्त

Taiwan-China: ताइवान ने दी चीन को चेतावनी कहा, हवाई क्षेत्र का उल्लंघन नहीं करेगा बर्दाश्त

Spread the love

Taiwan-China: चीन और ताइवान में काफ़ी समय से तनातनी चल रही है. अमेरिका का ताइवान को समर्थन अब चीन को स्वीकार नहीं हो रहा है. बता दें की, इसी के चलते अब ताइवान ने कहा कि अगर चीनी सेना (Taiwan-China) 12 समुद्री मील के भीतर उसके क्षेत्रीय समुद्र और हवाई क्षेत्र में प्रवेश करती है तो वह अपनी नौसेना और वायु सेना का उपयोग करेगा.

ताइवान अब चीन की मनमानी नहीं सहेगा

अधिकारिक मीडिया की रिपोर्ट्स के मुताबिक, ताइवान (Taiwan-China) के मेजर जनरल लिन वेन-हुआंग ने कहा कि चीन की धमकी के बीच देश “जवाबी हमले के लिए आत्मरक्षा के अधिकार का प्रयोग करेगा.”

ताइवान के राष्ट्रपति ने कहा है की, “हम युद्ध नहीं भड़काएंगे और खुद पर लगाम लगाएंगे. लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि हम जवाबी कार्रवाई नहीं करेंगे.” त्साई ने बताया कि उन्होंने रक्षा मंत्रालय से हमारे हवाई क्षेत्र की सुरक्षा की रक्षा के लिए उचित समय पर आवश्यक और मजबूत जवाबी कदम उठाने के लिए कहा है.

ड्रोन विवाद पर ताइवान ने कहा की, “बिना बुलाए आने वालों को चोर कहा जाता है.” यहां तक ​​​​कि चीनी विदेश मंत्रालय ने दावा किया कि ड्रोन चीनी क्षेत्र के आसपास उड़ रहे थे. इस महीने की शुरुआत में अमेरिकी सदन की अध्यक्ष नैन्सी पेलोसी ने द्वीप राष्ट्र का दौरा करने के बाद से दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया है.

क्योंकि चीन ने ताइवान के पास बड़े पैमाने पर सैन्य अभ्यास शुरू किया है. इस महीने कम से कम चार अन्य राजनेताओं ने ताइवान का दौरा किया. ताइवान और चीन के बीच बढ़ते तनाव के बीच एरिज़ोना के गवर्नर डग ड्यूसी एक व्यापार मिशन पर ताइपे पहुंचे. जो ताइपे की यात्रा करने वाले नवीनतम अमेरिकी राजनेता बन गए.

चीन की धमकियों के बाद भी नैन्सी पेलोसी गईं थीं ताइवान

बता दें की,  चीन की खुली धमकियों के बावजूद, यूएस हाउस की स्पीकर नैन्सी पेलोसी 25 वर्षों में ताइवान की यात्रा करने वाली सबसे अधिक प्रोफ़ाइल वाली निर्वाचित अमेरिकी अधिकारी बन गईं. क्योंकि चीनी सैन्य विमानों ने जवाबी कार्रवाई में ताइवान के वायु रक्षा क्षेत्र में प्रवेश किया था.

नैंसी पेलोसी ने कहा था कि, “वह क्षेत्र में शांति से आई हैं. इस यात्रा ने एक बहु-स्टॉप एशिया दौरे के हिस्से के रूप में एक राजनयिक प्रदर्शन शुरू कर दिया है. और बीजिंग को द्वीप के चारों ओर सैन्य अभ्यास की घोषणा करने और आग से खेलने वालों को चेतावनी देने के लिए प्रेरित किया है.

ताइवान ने अपनी रक्षा करने की कसम खाई है और अपने बचाव को मजबूत कर रहा है.” यह सब तब हो रहा है जब यूक्रेन (Ukraine) में रूस और पश्चिम अपनी लड़ाई लड़ रहे हैं. पेलोसी के ताइवान दौरे के बाद रूस (Russia) ने अमेरिका को चेतावनी जारी की थी.

बता दें की, दो अमेरिकी युद्धपोत ताइवान (Taiwan) जलडमरूमध्य से गुजर रहे थे. इस बात की अमेरिकी नौसेना ने घोषणा की थी. इस महीने की शुरुआत में अमेरिकी हाउस स्पीकर नैन्सी पेलोसी की ताइवान यात्रा के बाद ताइवान और चीन के बीच तनाव बढ़ने के बाद से यह इस तरह का पहला ऑपरेशन था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.