Syria: सयुंक्त राष्ट्र के मुताबिक सीरियाई संघर्ष में 300,000 से अधिक नागरिक मारे गए

Syria: संयुक्त राष्ट्र (यूएन) के मानवाधिकार कार्यालय ने कहा है कि सीरिया (Syria) संघर्ष के दौरान 1 मार्च 2011 से 31 मार्च 2021 के बीच 306,887 नागरिकों की जान गई थी. संयुक्त राष्ट्र (United Nations) मानवाधिकार परिषद द्वारा पेश की गई एक रिपोर्ट में कार्यालय ने पहले 143,350 नागरिकों की मौत होने की पुष्टि की.

1 मार्च  2011 से 31 मार्च  2021 के बीच हुई लाखों में मौतें

रिपोर्ट के अनुसार, सीरिया (Syria) में 1 मार्च  2011 से 31 मार्च  2021 के बीच संघर्ष के कारण 306,887 नागरिकों के मारे जाने का अनुमान है. संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त मिशेल बाचेलेट (Michelle Bachelet) ने कहा, “इस रिपोर्ट में संघर्ष से संबंधित हताहतों की संख्या केवल अमूर्त संख्याओं का एक सेट नहीं है, बल्कि व्यक्तिगत मनुष्यों का प्रतिनिधित्व करती है.”

मिशेल बाचेलेट (Michelle Bachelet) ने कहा, “इन 306,887 नागरिकों में से प्रत्येक की हत्या के प्रभाव का उस परिवार और समुदाय पर गहरा प्रभाव पड़ा होगा.” संयुक्त राष्ट्र (United Nations) द्वारा जारी आंकड़ों में संघर्ष में मारे गए सैनिकों और लड़ाकों को शामिल नहीं किया गया है. इनकी संख्या हजारों में मानी जाती है. संख्या में वे लोग भी शामिल नहीं हैं जो अधिकारियों को सूचित किए बिना उनके परिवारों द्वारा मारे गए और दफनाए गए हैं.

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (UN Human Rights Council)  द्वारा अनिवार्य रिपोर्ट में 143,350 नागरिक मौतों के बारे में बताया गया है. Aljazeera की रिपोर्ट के मुताबिक, ये रिपोर्ट आठ स्रोतों पर आधारित थी. जिसमें दमिश्क सेंटर फॉर ह्यूमन राइट्स स्टडीज, सेंटर फॉर स्टैटिस्टिक्स एंड रिसर्च-सीरिया, सीरियन नेटवर्क फॉर ह्यूमन राइट्स, सीरियन ऑब्जर्वेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स और वायलेशन डॉक्यूमेंटेशन सेंटर शामिल हैं.

सीरियाई संघर्ष मार्च 2011 में सीरिया के विभिन्न हिस्सों में शुरू हुए सरकार विरोधी विरोध प्रदर्शनों के साथ शुरू हुआ. जिसमें मिस्र, ट्यूनीशिया, यमन, लीबिया और बहरीन में अरब स्प्रिंग विरोध प्रदर्शनों के बाद लोकतांत्रिक सुधारों की मांग की गई थी. जिसने सत्ता में रहे कुछ राष्ट्रीय नेताओं को हटा दिया था.

Leave a Reply