September 26, 2022
Srinagar में हुआ ग्रेनेड विस्फोट, नागरिक हुए घायल, लोगों में है दहशत का माहौल

Srinagar में हुआ ग्रेनेड विस्फोट, नागरिक हुए घायल, लोगों में है दहशत का माहौल

Spread the love

Srinagar: श्रीनगर में रविवार को आतंकवादियों द्वारा किए गए ग्रेनेड विस्फोट में कई नागरिक घायल हो गए हैं. श्रीनगर (Srinagar) पुलिस के अनुसार, घटना निशात इलाके में हुई जहां आतंकवादियों ने ग्रेनेड फेंका जिससे कम तीव्रता वाला विस्फोट हुआ. कई लोगों को मामूली चोटें आई हैं. सभी को प्राथमिक उपचार दिया गया और अस्पताल से छुट्टी दे दी गई.

आतंकियों की गिरफ्तारी के लिए हो रही छापेमारी

ANI से मिली जानकारी के मुताबिक,श्रीनगर (Srinagar) पुलिस  ने मामला दर्ज कर लिया है और आतंकियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है. इस बीच, जम्मू-कश्मीर पुलिस ने रविवार को कहा कि उन्होंने पुलवामा जिले में लगभग 10-12 किलोग्राम वजन के एक इंप्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (IED) को बरामद करके एक बड़ी आतंकी घटना को टाल दिया.

IED को सुरक्षा बलों ने दक्षिण कश्मीर जिले के त्राल के बेहगुंड इलाके में बरामद किया था. कश्मीर जोन पुलिस ने ट्वीट किया की, “पुलिस के एक विशिष्ट इनपुट पर, त्राल के बेहगुंड इलाके में एक आईईडी, लगभग 10-12 किलोग्राम बरामद किया गया है. इसे नष्ट करने के लिए पुलिस और सेना काम कर रही है. एक बड़ी आतंकी घटना टल गई है.”

इसी महीने हो चुगा एक और आतंकी हमला

अधिकारिक जानकारी के मुताबिक, जम्मू-कश्मीर के राजौरी में सेना के एक शिविर पर तड़के हुए हमले में चार जवान शहीद हो गए और एक घायल हो गया था. सेना के शिविर में प्रवेश करने के लिए बाड़ लगाने की कोशिश कर रहे दो आतंकवादियों को मार गिराया गया था.

इस हमले पर सेना ने कहा है की, “सूबेदार राजेंद्र प्रसाद, राइफलमैन मनोज कुमार, राइफलमैन लक्ष्मणन डी और राइफलमैन निशांत मलिक ने आत्मघाती हमले में 2 आतंकवादियों को मार गिराते हुए सर्वोच्च बलिदान देते हुए दम तोड़ दिया। हम उनके नुकसान पर शोक व्यक्त करते हैं और उनके परिवार के सदस्य के लिए शक्ति के लिए प्रार्थना करते हैं.”

पुलिस ने ट्वीट किया था की,”आतंकवादी संगठन लश्कर के दो आतंकवादियों द्वारा इस्तेमाल किए गए वाहन (स्कूटर) को घटना स्थल से जब्त कर लिया गया है. इसके अलावा, एक एके -74 राइफल और दो ग्रेनेड बरामद किए गए हैं. तलाशी अभी भी जारी है. आगे की जानकारी का पालन किया जाएगा.”

इतना ही नहीं कश्मीर में कश्मीरी पंडितों की टारगेट किलिंग भी अब बड़ा मुद्दा बनकर उभर रही है. टारगेट किलिंग को लेकर भी अब सेना और सरकार चिंता में है.  कश्मीरी पंडितों को आज भी आतंकवादियों के हत्थे चढ़ना पड़ रहा है.

कश्मीरी पंडितों की टारगेट किलिंग

बता दें की, कश्मीर में आतंकियों द्वारा लगातार आम नागरिकों को निशाना बनाया जा रहा है. इस स्वतंत्रता दिवस पर घाटी में निकाले गए तिरंगा यात्रा से बौखलाए आतंकियों ने कल दो कश्मीरी पंडितों को गोली मार दी थी. जिसमें से एक की मौत हो गई थी. जबकि दूसरा भाई गंभीर रुप से घायल था.

अधिकारिक जानकारी के मुताबिक, इससे पहले आतंकियों ने राहुल भट और सांबा की रजनी बाला की हत्‍या कर दी थी. पिछले 4 महीने में कश्मीर में कई टारगेट किलिंग हुई हैं, जिसमें खास तौर पर कश्‍मीरी पंडित और प्रवासियों को निशाना बनाया जा रहा है.

कश्मीर में पिछले आठ महीने में अब तक 27 लोगों की हत्याएं हो चुकी हैं. आतंकियों की टारगेट किलिंग का शिकार बने लोगों में कश्मीरी पंडितों के अलावा सुरक्षाकर्मी और मुस्लिम समुदाय के लोग भी शामिल हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.