पाकिस्तान में पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान के 25 मई को इस्लामाबाद मार्च शुरू करने के एलान के बाद से शरीफ सरकार अलर्ट मोड में है। मंगलवार को पाकिस्तान सरकार ने इमरान खान की पार्टी द्वारा आयोजित इस्लामाबाद धरने को बैन कर दिया है। उनके खिलाफ इस कार्रवाई से पहले बीती रात को देश भर में इमरान खान के 100 से ज्यादा समर्थकों को गिरफ्तार भी किया गया था।

किसी को अव्यवस्था और अराजकता फैलाने की अनुमति नहीं

शहबाज शरीफ सरकार में गृहमंत्री राणा सनाउल्लाह ने कहा कि शांतिपूर्ण प्रदर्शन करना सभी का अधिकार है, लेकिन इमरान खान के समर्थक शांतिपूर्ण प्रदर्शन नहीं चाह रहे। उन्होंने कहा कि अगर इमरान खान के समर्थकों ने अपने प्रदर्शन को खूनी विरोध का नाम नहीं दिया होता, तो हमें कोई आपत्ति नहीं होती। उन्होंने आगे कहा कि पाकिस्तान सरकार पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी (PTI) को विरोध की आड़ में अव्यवस्था और अराजकता फैलाने की अनुमति नहीं दे सकती।

गृहमंत्री राणा सनाउल्लाह ने कहा कि इमरान खान की पार्टी प्रशासन को यह समझाने में फेल हो गई है कि 25 मार्च को होने वाला प्रदर्शन शांतिपूर्ण होगा। जिसके कारण कैबिनेट ने अराजकता को रोकने के लिए उनकी रैली को बैन करने का निर्णय लिया है।

गृहमंत्री राणा सनाउल्लाह ने आगे कहा कि PTI के समर्थकों को रोका जाएगा ताकि उनके गलतफहमी पैदा करने वाले एजेंडे को रोका जा सके। उन्होंने कहा कि पीटीआई समर्थक गालियों और गोलियों की बातों पर आ गए थे। उन्होंने लाहौर में एक पुलिसकर्मी की हत्या का भी जिक्र किया, जिसकी हत्या पीटीआई कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी को लेकर मारी गई रेड के दौरान कर दी गई थी।

इमरान खान के इस्लामाबाद मार्च का कारण

पिछले महीने 9 अप्रैल की रात में इमरान खान सरकार के खिलाफ पाकिस्तान की संसद में अविश्वास प्रस्ताव पारित होने के बाद शहबाज़ शरीफ को अपना प्रधानमंत्री चुन लिया था | इमरान खान सरकार के पिछले 3.5 साल पाकिस्तान की जनता के लिए बुरे सपने जैसे थे | उनकी सरकार ने पाकिस्तान को दुनिया भर में अकेला कर दिया , दोस्त के नाम पर एक चीन ही उनकी मदद करने को तैयार था दूसरी तरफ पाकिस्तान में महंगाई आसमान छू रहा था |

अपनी सरकार को जाता देखकर इमरान खान ने जनता में ये कहना शुरू कर दिया की उनको अमेरिका ने प्रधानमंत्री पद से निकाला है |

आपकी जानकारी के लिए यह बता दे कि पाकिस्तान में आर्मी के सहयोग के बिना कोई भी प्रधानमंत्री नहीं बनता , और उनकी मर्जी पर ही निकाला जाता है | इमरान खान सीधे तौर से आर्मी को दोषी देते तो शायद जनता उनका साथ न देती पर जब किसी दूसरे देश की बात होगी तो देशप्रेम में सभी साथ मिलकर आएंगे |

सरकार से निकाले जाने के बाद से इमरान खान पूरे पाकिस्तान में लगातार रैलिया कर रहे और शाहबाज शरीफ पर लगातार हमला भी कर रहे है जिससे वो तत्काल इलेक्शन की घोषणा कर दे | इमरान खान और उनके सहयोगी पाकिस्तान आर्मी पर भी लगातार हमलावर है | पाकिस्तान आर्मी भी दो गुटों में बँटी हुयी है एक जो इमरान खान के साथ है और दूसरे जो अपने आर्मी चीफ जनरल कमर बाजवा के साथ है |

By Satyam

One thought on “इमरान खान के इस्लामाबाद मार्च पर शहबाज सरकार ने लगाया बैन , कल हिंसक झड़प होने की आशंका”

Leave a Reply

Your email address will not be published.