September 25, 2022
Saudi Arabia ने पाकिस्तान के 6 नागरिकों को ठहराया दोषी, मस्जिद-ए-नबवी को अपवित्र करने के आरोप में लिया गया फैसला

Saudi Arabia ने पाकिस्तान के 6 नागरिकों को ठहराया दोषी, मस्जिद-ए-नबवी को अपवित्र करने के आरोप में लिया गया फैसला

Spread the love

Saudi Arabia: पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ की सऊदी अरब यात्रा के दौरान मदीना में मस्जिद-ए-नबावी की पवित्रता का उल्लंघन करने के आरोप में सऊदी अरब (Saudi Arabia) ने पाक के 6 नागरिकों को दोषी ठहराया है. इनमें से तीन नागरिकों को 10 साल की जेल, जबकि 3 को 8 साल की जेल की सजा सुनाई गई है.

Saudi कोर्ट ने लिया फैसला

ANI से मिली जानकारी के मुताबिक, कथित तौर पर पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) से संबंधित कुछ प्रदर्शनकारियों ने सऊदी अरब (Saudi Arabia) में प्रधान मंत्री शहबाज शरीफ के प्रतिनिधिमंडल के खिलाफ नारे लगाकर मस्जिद-ए-नबावी की पवित्रता का उल्लंघन किया है.

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर एक वायरल वीडियो प्रसारित हो रहा था. जिसमें सैकड़ों तीर्थयात्रियों को “चोर चोर” के नारे लगाते हुए दिखाया गया था.  जब प्रतिनिधिमंडल को मस्जिद-ए-नबावी में अपना रास्ता बनाते हुए देखा गया था.

पाकिस्तानी स्थानीय मीडिया आउटलेट द न्यूज इंटरनेशनल ने बताया कि सऊदी अदालत ने छह पाकिस्तानियों को दोषी ठहराया, जिनमें से तीन पाकिस्तानियों को 10-10 साल की जेल की सजा सुनाई गई और तीन पाकिस्तानियों को 8 साल की जेल की सजा सुनाई गई है.

इतने साल की सुनाई गई सज़ा

बता दें की, सऊदी कोर्ट के अनुसार, सभी छह को हरम-ए-मदीना में ईशनिंदा का दोषी पाया गया था. अनस, इरशाद और मुहम्मद सलीम को 10 साल की सजा सुनाई गई, जबकि ख्वाजा लुकमान, मुहम्मद अफजल और गुलाम मुहम्मद को 8 साल की सजा सुनाई गई.

एक वीडियो में, सूचना मंत्री मरियम औरंगजेब और नेशनल असेंबली के सदस्य शाहज़ैन बुगती को अन्य लोगों के साथ देखा गया था. पाकिस्तानी अखबार के मुताबिक औरंगजेब ने परोक्ष रूप से अपदस्थ इमरान खान को विरोध के लिए जिम्मेदार ठहराया.

एक युक्ति ने कहा की, “मैं इस पवित्र भूमि पर इस व्यक्ति का नाम नहीं लूंगा क्योंकि मैं इस भूमि का उपयोग राजनीति के लिए नहीं करना चाहता. लेकिन उन्होंने पाकिस्तानी समाज को नष्ट कर दिया है.”

यह पाकिस्तान के प्रधान मंत्री शहबाज शरीफ की सऊदी अरब की पहली तीन दिवसीय आधिकारिक यात्रा के दौरान आया था. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के सऊदी दौरे पर उनके साथ दर्जनों अधिकारी और राजनीतिक नेता आए हैं.

मोबाइल फ़ोन को भी किया गया जब्त

बता दें की, इसके अलावा, मदीना अदालत ने छह लोगों पर 200,000 रियाल का जुर्माना लगाया और उनके मोबाइल फोन को जब्त कर लिया क्योंकि उन्हें सूचना और प्रसारण मंत्री मरियम औरंगजेब और अन्य मंत्रियों को गाली देने का दोषी पाया गया था.

मदीना पुलिस के प्रवक्ता की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है, “इन पाकिस्तानियों की गिरफ्तारी के साथ कानूनी प्रक्रिया पूरी कर ली गई है और मामले को संबंधित अधिकारियों के पास भेज दिया गया है.”

जानकारी के लिए बता दें की, दर्शनकारियों ने जेडब्ल्यूपी प्रमुख और नारकोटिक्स कंट्रोल के संघीय मंत्री शाहज़ैन बुगती के साथ भी दुर्व्यवहार किया और उनके बाल खींच लिए थे. प्रदर्शनकारी इस पूरे घटनाक्रम का मोबाइल से वीडियो भी बनाते रहे. इसे लेकर काफी हंगामा हुआ.

सऊदी अरब सरकार ने मामले की जांच के आदेश दिए. सऊदी कोर्ट ने अपना सख्त रुख अपनाया है. बता दें की, ऐसा पहली बार हुआ है जब किसी ने इतनी पवित्र जगह पर ऐसी हिमाकत करने की हिम्मत की है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.