यूक्रेन पर ड्रोन हमले के बाद, जांच को लेकर Russia ने संयुक्त राष्ट्र को दी चेतावनी

Russia: रूस ने संयुक्त राष्ट्र को यूक्रेन में ड्रोन के उपयोग की जांच के खिलाफ चेतावनी दी है. संयुक्त राष्ट्र ने ऐसे हथियारों पर प्रतिबंध लगा रखा है. फिर भी रूस (Russia) ने इसका उल्लंघन किया और ड्रोन का इस्तेमाल किया.

Russia का ड्रोन इस्तमाल किए जाने के बाद से वैश्विक स्तर पर मचा है बवाल

Dawn से मिली जानकारी के मुताबिक, रूस (Russia) ने बुधवार को संयुक्त राष्ट्र को यूक्रेन में ईरानी-निर्मित ड्रोन द्वारा कथित हमलों की जांच नहीं करने की चेतावनी दी है.  यूक्रेन की राजधानी कीव में नागरिक ठिकानों पर ईरान में बने ड्रोन से हमला किया गया था. जिसके बाद से वैश्विक स्तर पर रूस (Russia) की आलोचना तेज़ हो गई है.

संयुक्त राज्य अमेरिका, फ्रांस और यूनाइटेड किंगडम ने सोमवार को कीव पर हमले के बाद ड्रोन पर सुरक्षा परिषद की बैठक बुलाई है. ड्रोन हमले में कम से कम पांच लोग मारे गए हैं. और बिजली स्टेशनों और अन्य नागरिक बुनियादी ढांचे को बुरी तरह से नुकसान हुआ.

यूक्रेन पर ड्रोन हमले के बाद, जांच को लेकर Russia ने संयुक्त राष्ट्र को दी चेतावनी
यूक्रेन पर ड्रोन हमले के बाद, जांच को लेकर Russia ने संयुक्त राष्ट्र को दी चेतावनी

यूक्रेन का कहना है कि उसकी सेना ने एक महीने से भी कम समय में 220 से अधिक ईरानी ड्रोन को मार गिराया है. रूस द्वारा किए गए इन हमलों में संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस को यूक्रेन में एकत्र किए गए मलबे का निरीक्षण करने के लिए बुलाया गया है. लेकिन रूस (Russia) ने संयुक्त राष्ट्र को चेतावनी दी है की वो जांच के लिए यूक्रेन नहीं जाएगा.

जांच से दूर रहने के लिए रूस ने संयुक्त राष्ट्र को चेताया

बुधवार को सुरक्षा परिषद की बैठक के बाद बोलते हुए, रूस (Russia) के उप संयुक्त राष्ट्र राजदूत दिमित्री पोलांस्की ने जोर देकर कहा कि “हथियार (ड्रोन) रूस में बनाए गए थे और ईरान के ऊपर लगे आरोप निराधार हैं.” इसके साथ ही उन्होंने संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस और उनके कर्मचारियों से किसी भी जांच में शामिल होने से दूर रहने का आह्वान किया.

अमेरिका और यूरोपीय संघ का कहना है कि उनके पास इस बात के सबूत हैं कि ईरान ने रूस को शहीद-136 ड्रोन भेजे हैं. जो कम लागत वाले ड्रोन हैं. यह ड्रोन लैंडिंग के वक़्त फट जाते हैं. वाशिंगटन का कहना है कि कई हथियार संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव 2231 के उल्लंघन में थे.

ईरान की परमाणु गतिविधियों पर अंकुश लगना चाहिए-अमेरिका

अमेरिका का कहना है की ईरान की परमाणु गतिविधियों पर अंकुश लगाने और देश को परमाणु हथियार विकसित करने से रोकने के लिए अब संयुक्त राष्ट्र को कोई कड़ा कदम उठाना चाहिए. वरना ईरान और रूस मिलकर इस तरह से ही यूक्रेन में तबाही मचाते रहेंगे.

बता दें की इजराइल और रूस (Russia) के बीच भी अब तनातनी मची हुई है. अब रूस के पूर्व राष्ट्रपति दिमित्री मेदवेदेव ने इजरायल को यूक्रेन की मदद करने को लेकर चेतावनी दी है. रूस (Russia) के पूर्व राष्ट्रपति दिमित्री मेदवेदेव और रूस की सिक्योरिटी काउंसिल के डिप्टी चेयरमैन ने अपने अधिकारिक बयान में कहा है की, अगर इजरायल यूक्रेन को हथियार सप्लाई करेगा तो रूस और इजरायल के राजनयिक संबंध खत्म हो जाएंगे.

 

2 thoughts on “यूक्रेन पर ड्रोन हमले के बाद, जांच को लेकर Russia ने संयुक्त राष्ट्र को दी चेतावनी”

Leave a Reply