Russia ने कहा की, अगर NATO हमसे लड़ता है तो उसका अंजाम बहुत बुरा होगा

Russia: रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने शुक्रवार को कहा कि रूसी (Russia) सेना के साथ नाटो (NATO) सैनिकों के किसी भी सीधे संपर्क या सीधे संघर्ष से सिर्फ वैश्विक तबाही ही होगी. कजाकिस्तान की राजधानी अस्ताना में संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति पुतिन ने कहा,

“किसी भी मामले में, सीधे संपर्क, रूसी सेना के साथ (NATO) सैनिकों का सीधा टकराव एक बहुत ही खतरनाक कदम है. जो वैश्विक तबाही का कारण बन सकता है. मुझे उम्मीद है कि लोग मेरी समझेंगे और कोई भी कदम उठाने से पहले सौ बार सोचेंगे.”

Russia के राष्ट्रपति ने दी NATO को चुनौती

Economic Times से मिली जानकारी के मुताबिक,  क्रीमिया ब्रिज पर हमले के बाद यूक्रेन को सबक सिखाने वाले रूसी (Russia) राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने एक बार फिर ‘वैश्विक तबाही’ की चेतावनी दी है. बता दें की, इससे पहले राष्ट्रपति पुतिन ने पिछले महीने यूक्रेन के चार क्षेत्रों पर कब्जा करने के बाद रूसी (Russia) क्षेत्र की रक्षा के लिए परमाणु हथियारों का इस्तेमाल करने की चेतावनी दी थी. रूसी राष्ट्रपति ने चेतावनी भरे लहज़े में कहा, ‘जो ऐसा करने की सोच रहे हैं, मुझे उम्मीद है कि वो इतने समझदार हैं कि ऐसा कदम न उठाएं.’

Russia ने कहा की, अगर NATO हमसे लड़ता है तो उसका अंजाम बहुत बुरा होगा
Russia ने कहा की, अगर NATO हमसे लड़ता है तो उसका अंजाम बहुत बुरा होगा

इस कदम की संयुक्त राष्ट्र ने इस सप्ताह निंदा भी की थी. व्हाइट हाउस द्वारा जारी एक बयान के अनुसार, मंगलवार को ग्रुप ऑफ सेवन (G7) राष्ट्रों ने चेतावनी दी कि यूक्रेन पर परमाणु हथियारों के इस्तेमाल के गंभीर परिणाम होंगे. G7 राज्यों (यूके, जर्मनी, इटली, कनाडा, अमेरिका, फ्रांस और जापान) के नेताओं ने कहा,

“हम रूस (Russia) के ऐसे कदमों की निंदा करते हैं. रूस ने गैर-जिम्मेदार परमाणु बयानबाजी की है. रूस की ऐसी बयानबाजी वैश्विक शांति और सुरक्षा को प्रभावित कर रही है. हम इस बात की पुष्टि करते हैं कि रूस द्वारा रासायनिक, जैविक या परमाणु हथियारों (chemical, biological or nuclear weapons) के किसी भी उपयोग के गंभीर परिणाम होंगे.”

राष्ट्रपति बिडेन ने कहीं ये बातें

इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति जो बिडेन ने गुरुवार को एक भाषण के दौरान यूक्रेन में रूस के युद्ध में वृद्धि के बारे में चेतावनी दी है. मिली जानकारी के मुताबिक, क्रीमिया पुल बम विस्फोटों के बाद रूस और यूक्रेन के बीच लड़ाई बढ़ गई है. अमेरिका ने शुक्रवार को यूक्रेन के लिए नई सैन्य सहायता के अतिरिक्त 725 मिलियन अमरीकी डालर की घोषणा की है.

राष्ट्रपति पुतिन का कहना है की,  “2,22,000 से 3,00,000 सैन्य प्रशिक्षण वाले नागरिकों की सेना में तैनाती संबंधी आदेश पर अमल शुरू किया जा चुका है. इनमें से 33,000 पहले ही सेना में शामिल हो चुके हैं.”

एलन मस्क ने यूक्रेन से खींचा अपना हाँथ

हाल ही में दुनिया के सबसे अमीर आदमी एलन मस्क ने भी अब यूक्रेन की मदद करने से हाँथ पीछे कर लिया है. एलन मस्क की Spacex का कहना है की अब वो यूक्रेन को स्टारलिंक सैटेलाइट ब्रॉडबैंड सेवा नहीं दे सकता है.

SpaceX का कहना है की, अगले वर्ष इन सेवाओं का खर्चा $400 मिलियन तक हो सकता है. और इस वर्ष $120 मिलियन से अधिक का खर्चा होगा. बता दें की, यूक्रेन ने ही एलन मस्क से सहायता माँगी थी. जिसके बाद से एलन मस्क ने यूक्रेन को फरवरी से स्टारलिंक सैटेलाइट ब्रॉडबैंड सेवा देने का वादा किया था.

 

Leave a Reply