September 25, 2022
Russia ने लगाया 62 कनाडाई नागरिकों के देश में प्रवेश पर प्रतिबंध

Russia ने लगाया 62 कनाडाई नागरिकों के देश में प्रवेश पर प्रतिबंध

Spread the love

रूसी विदेश मंत्रालय (Russia) ने अपने बयान में बताया की 62 कनाडाई नागरिकों के देश में प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया है. 62 कनाडाई नागरिकों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगाने की वजह को भी रूस ने साझा किया है. बीते काफी समय से मास्को (Russia) का गुस्सा कनाडा पर उग्र होता जा रहा है.

क्यों लगा प्रतिबंध

ANI से मिली जानकारी  के मुताबिक, रूसी विदेश मंत्रालय ने अपने अधिकारिक बयान में कहा है की,

“इस साल 27 जून और 7 जुलाई को कनाडा (Russia) द्वारा रूसी-विरोधी व्यक्तिगत प्रतिबंधों के एक और विस्तार के जवाब में, जो इस बार प्रभावित हुआ, ओटावा के लिए आपत्तिजनक अधिकारियों, पत्रकारों और विशेषज्ञों के अलावा, मॉस्को और ऑल रूस के पैट्रिआर्क किरिल भी, 62 कनाडाई नागरिकों को रूसी संघ में प्रवेश पर प्रतिबंध के अधीन किया जा रहा है.”

कनाडा के नागरिकों की स्टॉप लिस्ट को जारी करते समय, कनाडा की वर्तमान सरकार की विशेष शत्रुता के तथ्य रूस ने साझा किए. और बताया की कनाडा जो कुछ भी कर रहा है वो प्रधान मंत्री जस्टिन ट्रूडो की अध्यक्षता में कर रहा है. मंत्रालय ने कहा कि सूची अंतिम प्रतिक्रिया नहीं थी. अभी आगे और भी कार्यवाही होगी.

बताया जा रहा है की, कनाडा द्वारा लगातार अधिक से अधिक नए रसोफोबिक प्रतिबंधों (Russophobic Sanctions) को ध्यान में रखते हुए, निकट भविष्य में रूसी पक्ष द्वारा प्रतिशोधी उपायों की घोषणा की जाएगी. जिसमें रूस और अधिक कड़े फैसले कनाडा के खिलाफ ले सकता है.

कनाडा के सांसदों ने Russia का किया था विरोध

रूस-यूक्रेन युद्ध को चलते लगभग छेह महीने बीत चुगे हैं. लेकिन अभी इसका कोई निषकर्ष नहीं निकला है. यहाँ तक यूक्रेन के राष्ट्रपति ने अपने एक बयान में कहा था की उनको ये युद्ध खत्म होने के अभी कोई आसार नहीं नज़र आ रहे हैं. हालाँकि, इस बीच रूस का गुस्सा कनाडा पर फूटा है. बता दें की,

कनाडा (Canada) के सांसदों ने यूक्रेन में रूस (Russia) के हमलों को नरसंहार  करार देने को लेकर सांसदों ने बीते महीने को सर्वसम्मति से वोटिंग की थी. कैनेडियन हाउस ऑफ कॉमन्स (Canadian House of Commons) के प्रस्ताव में कहा गया था कि, “रूस द्वारा युद्ध अपराधों में बड़े पैमाने पर अत्याचार, यूक्रेनी नागरिकों की जानबूझकर हत्या के व्यवस्थित उदाहरण मिले हैं.”

कनाडा  हमेशा से ही रूस की खिलाफत करता आ रहा है. जिसको लेकर रूस का कनाडा से चिढना लाजमी है. रूस के विरोध में कनाडा के अलावा कई शहर आए थे. रूस अपना सबसे बड़ा दुश्मन अमेरिका को मानता है. उसका मानना है की अमेरिका की सहायता की वजह से ही यूक्रेन जंग-ए-मैदान में टिका हुआ है.

कनाडा भी लगा चुगा है Russia के नागरिकों पर प्रतिबंध

रूस-यूक्रेन युद्ध के चलते कनाडा भी रूस पर कई तरीके के प्रतिबंध लगा चुगा है. कनाडा ने रूस की खिलाफ़त की थी, की किस तरह रूस यूक्रेन को बर्बाद करने पर लगा हुआ है. वैसे तो, रूस ने जबसे यूक्रेन पर हमला किया है, तबसे रूस पर अमेरिका के साथ अन्य छोटे-बड़े देशों ने भी कई प्रतिबंध लगाए हैं.

कनाडा ने यूक्रेन में संघर्ष को लेकर रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और कुछ 1,000 रूसी नागरिकों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा की थी. जिसके बाद से रूस और कनाडा में तनातनी और बढ़ गई थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.