IPL 2022 का दूसरा क्वालीफायर मैच राजस्थान रॉयल्स और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की टीम के बीच खेला जाएगा। राजस्थान की टीम बैंगलोर को हराकर दूसरी बार आईपीएल के फाइनल में जगह बनाना चाहेगी। वहीं, बैंगलोर की निगाह चौथी बार फाइनल खेलने पर होगी। राजस्थान रॉयल्स की टीम अब तक सिर्फ एक बार फाइनल में पहुंची है। साल 2008 में यह टीम शेन वॉर्न की कप्तानी में फाइनल में पहुंची थी और चैंपियन भी बनी थी। इसके बाद से राजस्थान का प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा है।

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर 2009, 2011 और 2016 में फाइनल खेल चुकी है, लेकिन अब तक खिताब नहीं जीत पाई है। इस बार आरसीबी चौथी बार फाइनल खेलना चाहेगी और खिताब भी अपने नाम करने की कोशिश करेगी।

बैंगलोर की टीम जीत की पटरी पर सवार है। पिछले दो मैच बैंगलोर के लिए करो या मरो के समान थे और दोनों में जीत हासिल कर यह टीम दूसरे क्वालीफायर तक पहुंच चुकी है। वहीं, राजस्थान को अपने आखिरी मैच में गुजरात के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था।

रजत पाटीदार पर होंगी निगाहे

आरसीबी के लिए रजत पाटीदार शानदार लय में हैं। एलिमिनेटर मैच में उन्होंने लखनऊ के खिलाफ नाबाद 112 रन बनाए थे। उनकी इस शानदार पारी की बदौलत आरसीबी ने 200 से ज्यादा का स्कोर खड़ा किया था। इस मैच में भी सभी की निगाहें उनके ऊपर होंगी। उनके अलावा विराट कोहली, फाफ डुप्लेसिस और ग्लेन मैक्सवेल पर रन बनाने की जिम्मेदारी रहेगी। दिनेश कार्तिक अच्छी लय में हैं और शानदार अंदाज में मैच खत्म कर रहे हैं। इस मैच में भी उनसे अच्छी पारी की उम्मीद होगी।

गेंदबाजी में वनिंदु हसरंगा के अलावा हर्षल पटेल और जोस हेजलवुड भी शानदार लय में हैं। तीनों मिलकर इस सीजन 62 विकेट चटका चुके हैं। हालांकि, आरसीबी के गेंदबाजों को इस मैच में कंजूसी के साथ गेंदबाजी करनी होगी। साथ ही मोहम्मद सिराज का लय में लौटना जरूरी है।

बटलर और संजू सैमसन को निभानी होगी जिम्मेदारी

राजस्थान रॉयल्स की टीम हर मैच में बड़े स्कोर के लिए जोस बटलर पर निर्भर रहती है। इस मैच में भी बटलर को बड़ी पारी खेलनी होगी। आईपीएल 2022 के पहले सात मैचों में कमाल करने वाले बटलर बाद के सात मैचों में कुछ खास नहीं कर पाए थे, लेकिन पहले क्वालीफायर मैच में उन्होंने बेहतरीन अर्धशतक बनाया था। ऐसे में उनसे इस मैच में बड़ी पारी की उम्मीद होगी। उनके अलावा कप्तान संजू सैमसन, यशस्वी जायसवाल और देवदत्त पडिक्कल भी अच्छी लय में हैं। तीनों से अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद होगा। शिमरन हेटमायर पिछले कुछ मैचों में कमाल नहीं कर पाए हैं और उन्हें भी लय में लौटना होगा। बल्लेबाज अश्विन भी उपयोगी पारी खेल सकते हैं।

गेंदबाजी राजस्थान का मजबूत पहलू रही है। पहले क्वालीफायर में स्पिन गेंदबाजों को पिच से कोई मदद नहीं मिल रही थी। अश्विन और चहल को विकेट नहीं मिला और टीम को हार का सामना करना पड़ा। अहमदाबाद में दोनों गेंदबाजों से बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद होगी। ट्रेंट बोल्ट अच्छी गेंदबाजी कर रहे हैं, लेकिन प्रसिद्ध कृष्णा निरंतरता नहीं दिखा पाए हैं। उन्होंने पिछले मैच में जमकर रन लुटाए थे और अब उन्हें कंजूसी से गेंदबाजी करनी होगी।

By Satyam

Leave a Reply

Your email address will not be published.