September 25, 2022
Rajasthan: राजस्थान में कांग्रेस को झटका देंगे BSP से आए 6 विधायक!

Rajasthan: राजस्थान में कांग्रेस को झटका देंगे BSP से आए 6 विधायक!

Spread the love

राजस्थान(Rajasthan) 10 जून को होने वाली वोटिंग से पहले कांग्रेस(Congress) को कुछ कठिन सौदेबाजी का सामना करना पड़ रहा है. पार्टी ने पहले विधायकों को रिसॉर्ट तक पहुंचने के लिए शुक्रवार शाम की समय सीमा दी थी. राजस्थान(Rajasthan) में राज्यसभा चुनाव को लेकर फिलहाल कांग्रेस पार्टी की चिंता कम होती नहीं दिख रही है. एक मंत्री सहित कम से कम छह विधायकों ने पार्टी के उस आदेश का पालन नहीं किया है, जिसमें तय समय पर रिसॉर्ट पहुंचने के लिए कहा गया था.

मंत्री और विधायक ने गहलोत पर बोला हमला

शुक्रवार को राजस्थान(Rajasthan) के सैनिक कल्याण राज्य मंत्री राजेंद्र गुढ़ा ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत(Ashok Gehlot) पर हमला करते हुए कहा कि सीएम बहुत बात करते हैं लेकिन बेहतर होगा कि वह बैठ जाएं और इसके बजाय चिंता करें. जयपुर में पत्रकारों से बात करते हुए गुढ़ा, जो मुखर होने के लिए जाने जाते हैं, ने कहा, “गहलोत साहब बोलते बहुत हैं. वह काम करने से अधिक बोलते हैं. मीडिया में बोलते हैं. कभी बैठकर चिंता करते तो ज़्यदा ठीक होता.

आपको बता दें कि सैनिक कल्याण (स्वतंत्र प्रभार) के पोर्टफोलियो के अलावा गुढ़ा के पास होमगार्ड और नागरिक सुरक्षा (स्वतंत्र प्रभार), पंचायती राज और ग्रामीण विकास विभाग भी हैं. पूर्व में बसपा के कुछ अन्य विधायकों के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा, “यह सच है कि उन्हें वह सम्मान नहीं दिया गया जिसके वे हकदार थे. वाजिब अली, जो पहले बसपा के साथ थे और अब भरतपुर के नगर से कांग्रेस विधायक हैं, ने कहा कि उनकी शिकायत नौकरशाही से थी. इसके अलावा उदयपुर में अभी तक नहीं पहुंचे अली ने कहा, “नौकरशाही की कमियों के कारण लोक कल्याणकारी योजनाओं को अच्छी तरह से लागू नहीं किया.

Rajasthan कांग्रेस में शामिल हो गए थे बसपा के सभी 6 विधायक

बाबा ने कहा कि ऐसे में इन छह विधायकों को राज्यसभा(Rajasthan) चुनाव में वोट देने से रोका जाना चाहिए क्योंकि बसपा ने फैसला किया है कि वह राज्यसभा चुनाव में किसी पार्टी या निर्दलीय का समर्थन नहीं करेगी. इस पर प्रतिक्रिया जताते हुए कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि छह विधायकों का कांग्रेस में विलय हो गया था और अब वे कांग्रेस के विधायक हैं. बसपा के छह विधायकों में राजेन्द्र गुढा, लखन मीणा, दीपचंद खेरिया, संदीप यादव, जोगिंदर अवाना और वाजिब अली शामिल हैं जो सितंबर 2019 में कांग्रेस में शामिल हुए थे.

बसपा के प्रदेश अध्यक्ष भगवान सिंह बाबा ने पत्र में कहा कि 2018 के विधानसभा चुनाव में बसपा के चुनाव चिह्न पर जीतने वाले छह विधायकों का असंवैधानिक रूप से कांग्रेस पार्टी में विलय हो गया. उन्होंने कहा कि इन सभी विधायकों के खिलाफ उच्चतम न्यायालय में दलबदल रोधी कानून के तहत मामला चल रहा है, जिस पर जल्द फैसला होने वाला है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.