Qatar: गैस और बिजली की कमी के चलते पाकिस्तान ने क़तर से माँगी मदद

Qatar: गैस और बिजली की कमी और महंगे ईंधन आयात के बीच पाकिस्तान (Pakistan) कतर (Qatar) से मदद मांग रहा है. हर महीने चार से पांच कार्गो (लगभग 400-500 मिलियन क्यूबिक फीट गैस प्रति दिन) की कमी को पूरा करने के लिए पाकिस्तान को तरल प्राकृतिक गैस (LNG) की आपूर्ति बढ़ाने के लिए पाकिस्तानी अधिकारी कतर के साथ विभिन्न स्तरों पर उलझ रहे हैं.

नया एलएनजी टर्मिनल स्थापित होगा

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पाकिस्तान सरकार पिछले कुछ हफ्तों में स्पॉट मार्केट से जुलाई के लिए एक भी कार्गो को सुरक्षित करने के पिछले तीन प्रयासों में विफल रही है. क्योंकि जो भी मात्रा मौके पर उपलब्ध है या सुयंक्त राज्य अमेरिका (USA) द्वारा यूरोप की ओर ऊर्जा की कमी से पीड़ित है. रूस-यूक्रेन युद्ध और किसी भी कीमत पर हर मॉलिक्यूल को लेने के लिए तैयार है.

कतर (Qatar) दोनों देशों के बीच होने वाले हर जुड़ाव पर कराची के पास एक नया एलएनजी (LNG) टर्मिनल स्थापित करने की अपनी योजना में आने वाली बाधाओं को दूर करने के बारे में बताना चाहते हैं. बता दें की, जुलाई में डिलीवरी के लिए यूएसडी (USD) 40 प्रति मिलियन ब्रिटिश थर्मल यूनिट (MMBTU) की एकल बोली कतर की पहले की योजना की तुलना में महंगी है. जिसकी अनुबंध कीमत 11-14 एमएमबीटीयू (MMBTU) है.

मिफ्ता इस्माइल ने क्या कहा

डॉन (Dawn) की रिपोर्ट के मुताबिक, ऐसा लगता नहीं है कि सरकार अगले कुछ महीनों के लिए अपनी क्षमता का इस्तेमाल कर सकती है क्योंकि एलएनजी की हाजिर कीमत कम नहीं है. इससे पहले जून के महीने में वित्त मंत्री मिफ्ता इस्माइल ने कहा था कि, पाकिस्तान कतर के साथ दीर्घकालिक सौदों के तहत खरीदी गई तरलीकृत प्राकृतिक गैस (LNG) के लिए एक स्थगित भुगतान योजना की मांग करेगा.

मलिक (Musadik Malik) ने कहा कि, सरकार स्थानीय उद्योग और लोगों की प्रतिस्पर्धी लागत पर जरूरतों को पूरा करने के लिए अतिरिक्त मॉलिक्यूल को कैसे सुरक्षित रखती है.  यह देखने के लिए सभी रास्ते की तलाश ज़ारी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.