Presidential Palace: श्रीलंका में राष्ट्रपति भवन से 1000 से अधिक कीमती कलाकृतियां हुईं चोरी

श्रीलंका में बीते दिन प्रदर्शनकारियों द्वारा धावा बोला गया था. जिसके चलते श्रीलंका की जनता ने राष्ट्रपति भवन (Presidential Palace) पर कब्ज़ा कर लिया था. जिसके बाद अब एक रिपोर्ट में खुलासा हुआ है की, राष्ट्रपति भवन और पीएम आवास से करीब 1000 से अधिक कीमती कलाकृतियां चोरी हुईं हैं. बता दें की, लापता हुई दुर्लभ कलाकृतियों का पता लगाने के लिए विशेष जांच दल गठित किए गए हैं.

श्रीलंका में चोरी हुईं कीमती कलाकृतियां

WION की ख़बर के मुताबिक, श्रीलंका में काफ़ी समय से राजनीतिक उथल पुथल मची हुई है. जिसके चलते वहाँ की जनता में आक्रोश पैदा हो गया है. बीते दिनों श्रीलंका की जनता ने राष्ट्रपति भवन (Presidential Palace) पर धावा बोल दिया था. सोशल मीडिया पर कई तस्वीरें वायरल हुई थीं जिनमें साफ़ देखा जा सकता था की वहाँ की जनता राष्ट्रपति भवन में उथल पुथल मचाए हुए है. जनता के आक्रोश की वजह से ही वहां के पूर्व राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे को अपना मुल्क छोड़ कर भागना पड़ा था.

इसके साथ ही उनको इस्तीफ़ा भी देंना पड़ा था. लेकिन अब एक चौकानें वाली जानकारी सामने आई है. जिसमें ये दावा किया जा रहा है की श्रीलंका के राष्ट्रपति भवन और प्रधानमंत्री आवास से 1000 से ज्यादा कीमती कलाकृतियां गायब हो गयीं हैं. स्थाई पुलिस ने शनिवार को यह जानकारी दी. एक अधिकारिक बयान में स्थाई पुलिस ने कहा है की, “राष्ट्रपति भवन और कोलंबो के ‘टेंपल ट्री’ में प्रधानमंत्री के आधिकारिक आवास से आवश्यक वस्तुओं समेत एक हजार से अधिक मूल्यवान कलाकृतियां गायब हो गई हैं.”

कीमती कलाकृतियां गायब होने के साथ अब श्रीलंका के प्रशासन की चिंताएँ और बढ़ गई हैं. क्योंकि, श्रीलंका के पुरातत्व विभाग के पास राष्ट्रपति भवन में प्राचीन वस्तुओं और विभिन्न कलाकृतियों का विस्तृत रेकॉर्ड नहीं है. समाचार पत्र ‘लंकादीपा’ से मिली जानकारी के अनुसार श्रीलंका के पुरातत्व विभाग प्राचीन वस्तुओं की सही संख्या का लेखा जोखा नहीं है. जिसके चलते पुलिस को जाँच करने में कई बाधाओं का सामना करना पड़ेगा.

श्रीलंका में क्यों बने ये हालात

जानकारों की माने तो,  श्रीलंका में इस हालात की ज़िम्मेदारी सारी आर्थिक संकट की है. ये आर्थिक संकट श्रीलंका में एक क्षत्र राज की वजह से आया है. श्रीलंका में कई समय से एक ही परिवार का राज रहा है जिसने श्रीलंका को कंगाल कर दिया. श्रीलंका में कई समय से स्कूल कॉलेज पर ताला लगा हुआ है. यहाँ तक सरकारी दफ्तर भी नहीं खुल रहें हैं. श्रीलंका इन दिनों भयंकर आर्थिक संकट से जूझ रहा है.

हालाँकि, श्रीलंका में गोटाबाया राजपक्षे के इस्तीफ़ा के बाद से भी लोगों में आक्रोश कम नहीं हुआ है. श्रीलंका में लोगों के पास खाने तक के लाले पड़े हुए हैं. एक समय ऐसा आ गया था जब श्रीलंका भयंकर बिजली संकट से भी जूझ रहा था. बिजली संकट से निपटने के लिए श्रीलंका में अस्पताल, स्कूल और सरकारी दफ्तरों में सोलर पैनल लगाने की तैयारी चल रही है.

भारत के लगभग  सभी पड़ोसी देशों में संकट चल रहा है. कहीं आर्थिक संकट है तो कहीं राजनीतिक संकट. अफगानिस्तान में भी हालात बहुत नाज़ुक हैं. जबसे अफगानिस्तान में तालिबान का राज हुआ है वहां की भी आर्थिक हालत खस्ता है. हालाँकि, इन सभी चीजों का ज़िम्मेदार रूस-यूक्रेन युद्ध को ठहराया जा रहा है.

Leave a Reply