China ने कनाडा के पॉप स्टार Kris Wu को रेप के आरोप में 13 साल की सुनाई सजा

Kris Wu: बीजिंग की एक अदालत ने शुक्रवार को चीनी मूल के कनाडाई पॉप स्टार क्रिस वू (Kris Wu) को बलात्कार सहित अन्य अपराधों का दोषी पाते हुए 13 साल की जेल की सजा सुनाई है. चीनी अफसरों के अनुसार क्रिस वू ने यौन संबंध बनाने के लिए कई महिलाओं को धोखा दिया है. उनके खिलाफ कार्रवाई ऑनलाइन शिकायतों के आधार पर की गई है.

Kris Wu ने महिलाओं का किया है रेप

BBC से मिली जानकारी के मुताबिक, बीजिंग की एक अदालत ने चीनी मूल के कनाडाई पॉप स्टार क्रिस वू को बलात्कार सहित अन्य अपराधों का दोषी पाते हुए 13 साल की जेल की सजा सुनाई है. बीजिंग के चाओयांग जिले की अदालत ने शुक्रवार को कहा कि नवंबर से दिसंबर 2020 तक की जांच में पता चला है कि वू यिफान नाम के व्यक्ति ने तीन महिलाओं का बलात्कार किया था.

अदालत ने यह भी कहा कि वू (Kris Wu) को निर्वासित (deported) किया जाएगा. हालांकि चीन में वकीलों ने कहा है कि निर्वासन (deported) आमतौर पर एक दोषी द्वारा अपनी सजा काटने के बाद होता है.

पिछले साल लिया गया था हिरासत में

बता दें की, वू (Kris Wu) को पिछले साल 31 जुलाई को बीजिंग में हिरासत में लिया गया था. जब एक 18 वर्षीय चीनी छात्र ने सार्वजनिक रूप से उस पर और 18 साल से कम उम्र की कुछ लड़कियों को उसके साथ यौन संबंध बनाने के लिए उकसाने का आरोप लगाया था.

China ने कनाडा के पॉप स्टार Kris Wu को रेप के आरोप में 13 साल की सुनाई सजा
China ने कनाडा के पॉप स्टार Kris Wu को रेप के आरोप में 13 साल की सुनाई सजा

सरकारी मीडिया के अनुसार, बीजिंग में कनाडा के दूतावास के अधिकारी सजा सुनाते वक़्त शामिल हुए थे. उस समय पुलिस के एक बयान के अनुसार, “पुलिस ने ऑनलाइन टिप्पणियों के जवाब में जांच की.” पुलिस ने आगे कहा की, “युवा महिलाओं को बार-बार लालच दिया था.”

नाबालिक के साथ भी किया था रेप

पुलिस ने आगे अपने बयान में कहा है की, “बीते साल एक किशोरी ने उन पर शराब के नशे में उसके साथ यौन संबंध बनाने का आरोप लगाया था. वू, चीनी में वू यिफ़ान के रूप में जाने जाते हैं. लेकिन उन्होंने इन सभी आरोप से इनकार किया है.”

पीड़ित किशोरी ने कहा कि सात अन्य महिलाओं ने उससे संपर्क किया और कहा कि वू (Kris Wu) ने उन्हें नौकरी और अन्य अवसरों के वादे के साथ बहकाया था. बलात्कार चीन में तीन से 10 साल की जेल की सजा है. हालांकि असाधारण मामलों में मौत तक की कठोर सजा हो सकती है. वू पर लगे दूसरे आरोप में पांच साल तक की जेल की सजा हो सकती है.

वू चीन की फेमस पर्सनालिटी में से एक है

मिली जानकारी के मुताबिक, वू (Kris Wu) चीन में ग्वांगझू और ब्रिटिश कोलंबिया के वैंकूवर में पले-बढ़े हैं. कहा जाता है की इस घटना ने चीन के #MeToo आंदोलन को जन्म दिया है. जिसने 2018 में यौन उत्पीड़न के अनुभवों को व्यक्त करते हुए महिलाओं की एक लहर देखी थी. जिसमें कई शक्तिशाली सार्वजनिक हस्तियां शामिल थीं.

वू चीन के सबसे भरोसेमंद सितारों में से एक थे. लुइस वुइटन, बुलगारी, लोरियल मेन और पोर्श सहित ब्रांडों ने इस मामले में अपनी साझेदारी को निलंबित कर दिया है. वैसे करीब 24 महिलाओं ने क्रिस वू पर ऐसे ही आरोप लगाए हैं. हालांकि क्रिस वू ने सभी आरोपों को खारिज कर दिया है.

Leave a Reply