G20 Summit में पहली बार ब्रिटेन के PM ऋषि सुनक से मिले PM मोदी

G20 Summit: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जी20 शिखर सम्मेलन (G20 Summit) के 17वें एडिशन के मौके पर पहली बार कार्यभार संभालने के बाद आज अपने यूनाइटेड किंगडम के समकक्ष ऋषि सुनक से मुलाकात की है.

G20 Summit में दोनों भावी नेताओं ने एक दूसरे से की मुलाकात

खलीज टाइम्स से मिली जानकारी के मुताबिक, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज इंडोनेशिया की राजधानी बाली में G20 की बैठक (G20 Summit) के पहले दिन ब्रिटेन के नए नवेले प्रधानमंत्री ऋषि सुनक से एक अनौपचारिक मुलाकात की है.

पीएम मोदी के कार्यालय ने ट्वीट कर के कहा है की, “बाली में @g20org शिखर सम्मेलन के पहले दिन प्रधान मंत्री @narendramodi और @RishiSunak बातचीत करते हुए.”

दोनों नेताओं ने पहली आमने-सामने की मुलाकात

बता दें की, दोनों नेताओं के बीच यह पहली आमने-सामने की मुलाकात है. इससे पहले, अक्टूबर में, पीएम मोदी और ब्रिटेन के पीएम सुनक ने फोन पर बात की थी और दोनों देशों के बीच मुक्त व्यापार समझौते के शीघ्र निष्कर्ष पर हुई थी.

G20 Summit में पहली बार ब्रिटेन के PM ऋषि सुनक से मिले PM मोदी
G20 Summit में पहली बार ब्रिटेन के PM ऋषि सुनक से मिले PM मोदी

पीएम मोदी सोमवार को बाली पहुंचे और सेनेगल गणराज्य के राष्ट्रपति मैकी साल, नीदरलैंड के पीएम मार्क रूट और अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन से मुलाकात की है. PMO ने ट्वीट किया है की, “अफ्रीका में एक महत्वपूर्ण विकास भागीदार के साथ विचार-विमर्श. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति @मैकी_साल, सेनेगल के राष्ट्रपति और अफ्रीकी संघ के अध्यक्ष @PR_सेनेगल के साथ बातचीत की है.”

पीएमओ ने यह भी कहा है की, “बहुपक्षीय शिखर सम्मेलन (G20 Summit) विभिन्न मुद्दों पर विचारों का आदान-प्रदान करने के लिए नेताओं के लिए अद्भुत अवसर प्रदान करते हैं. बाली में @g20org शिखर सम्मेलन के दौरान प्रधानमंत्री @narendramodi और मार्क रुटे बातचीत कर रहें हैं.”

PM मोदी ने इन बातों का किया ज़िक्र

PMO ने आगे बताया की, इससे पहले आज प्रधानमंत्री मोदी ने खाद्य और ऊर्जा सुरक्षा सत्र पर जी 20 कार्य सत्र को संबोधित किया और यूक्रेन में वार्ता और कूटनीति के पक्ष में भारत की दीर्घकालिक स्थिति को दोहराया और कहा हमें युद्धविराम के रास्ते पर लौटने का रास्ता खोजना होगा.

पीएम मोदी ने चुनौतीपूर्ण वैश्विक माहौल में G20 (G20 Summit) को प्रभावी नेतृत्व देने के लिए इंडोनेशिया को बधाई देकर अपने भाषण की शुरुआत की. उन्होंने आगे कहा कि जलवायु परिवर्तन, कोविड महामारी, यूक्रेन के घटनाक्रम और इससे जुड़ी वैश्विक समस्याओं ने दुनिया में कहर बरपा रखा है.

भारत को बुद्ध और गांधी की पवित्र भूमि बताया PM मोदी ने

PM ने कहा है की, “मैंने बार-बार कहा है कि हमें यूक्रेन में युद्धविराम और कूटनीति के रास्ते पर लौटने का रास्ता खोजना होगा.”  G20 summit में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा की,

“पिछली शताब्दी में द्वितीय विश्व युद्ध ने दुनिया में कहर बरपाया है. उसके बाद उस समय के नेताओं ने शांति का मार्ग अपनाने का गंभीर प्रयास किया है. अब हमारी बारी है. एक नई विश्व व्यवस्था बनाने का दायित्व हमारे लिए कोविड के बाद का समय हमारे कंधों पर है. दुनिया में शांति, सद्भाव और सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए ठोस और सामूहिक संकल्प दिखाना समय की मांग है.”

भारत को “बुद्ध और गांधी की पवित्र भूमि” के रूप में बताते हुए पीएम मोदी ने कहा कि उन्हें विश्वास है कि अगले साल जब जी20 की बैठक (G20 Summit) होगी तो वे सभी दुनिया को शांति का एक मजबूत संदेश देने के लिए सहमत होंगे.

 

Leave a Reply