PM Modi ने अरुणाचल प्रदेश के पहले ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट का किया उद्घाटन

PM Modi: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने शनिवार को अरुणाचल प्रदेश के पहले ग्रीनफील्ड ‘डोनी पोलो एयरपोर्ट’ का उद्घाटन ईटानगर के होलांगी में किया है. भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (Airports Authority of India) ने 645 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से डोनी पोलो हवाई अड्डे का विकास किया है.

PM Modi ने अरुणाचल प्रदेश को दी यह सौगात

PTI से मिली जानकारी के मुताबिक, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने शनिवार को ईटानगर में अरुणाचल प्रदेश के पहले ग्रीनफील्ड हवाई अड्डे का उद्घाटन किया है. डोनी पोलो हवाई अड्डा पूर्वोत्तर में कनेक्टिविटी को बढ़ावा देगा. कहा जा रहा है की, हवाई अड्डे का नाम अरुणाचल प्रदेश की परंपराओं और समृद्ध सांस्कृतिक विरासत और राज्य में सूर्य (‘डोनी’) और चंद्रमा (‘पोलो’) के प्रति सदियों पुरानी स्वदेशी श्रद्धा को दर्शाता है.

2019 में पीएम मोदी (PM Modi) ने इस एयरपोर्ट की आधारशिला रखी थी. 640 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से 690 एकड़ से अधिक क्षेत्र में विकसित किए गए हवाई अड्डे से कनेक्टिविटी में सुधार करने में एक प्रमुख भूमिका निभाने की उम्मीद है. और यह क्षेत्र में व्यापार और पर्यटन के विकास में भी योगदान देगा.

PM Modi ने अरुणाचल प्रदेश के पहले ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट का किया उद्घाटन
PM Modi ने अरुणाचल प्रदेश के पहले ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट का किया उद्घाटन

हवाई अड्डे के पास 2300 मीटर का रनवे है

हवाई अड्डे के पास 2300 मीटर का रनवे है और यह सभी मौसम के संचालन के लिए अच्छी तरह से अनुकूल है. हवाई अड्डा टर्मिनल एक आधुनिक इमारत है. एक आधिकारिक बयान के अनुसार, होलोंगी में टर्मिनल का निर्माण लगभग 955 करोड़ रुपये की लागत से किया गया है. जिसका क्षेत्रफल 4100 वर्ग मीटर है और इसकी अधिकतम क्षमता प्रति घंटे 200 यात्रियों को संभालने की है.

पीएम मोदी (PM Modi) ने कहा है की, “विकास के लिए प्रतिबद्ध डबल इंजन सरकार प्रदेश को नई ऊंचाईयों पर ले जा रही है.”  विपक्ष पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि, “बाधाएं और देरी अटकना, लटकना, भटकना पैदा करने का समय खत्म हो गया है. क्योंकि भाजपा सरकार उन परियोजनाओं का उद्घाटन कर रही है जिनकी उसने घोषणा की थी.”

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार से जुड़ी पीएम मोदी ने साझा की ये बातें

पीएम मोदी (PM Modi) ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार ने सबसे पहले अरुणाचल के विकास को प्राथमिकता दी थी. पीएम ने आगे कहा है की, आजादी के बाद पूर्वोत्तर एक अलग युग का गवाह बना है. दशकों तक यह क्षेत्र लापरवाही का शिकार रहा है. जब अटल जी की सरकार आई तो पहली बार इसे बदलने का प्रयास किया गया है. यह पहली सरकार थी जिसने पूर्वोत्तर के विकास के लिए एक अलग मंत्रालय बनाया था.

अरुणाचल के मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने ट्वीट कर के कहा है की, “द ग्रेट हॉर्नबिल गेट जो प्रतिष्ठित डोनी पोलो हवाई अड्डे पर आपका स्वागत करता है. एक वास्तुशिल्प चमत्कार है. बांस और बेंत से बने, इसे पूर्वी सियांग जिले के होनहार अरुणाचली वास्तुकार एरोटी पानयांग द्वारा डिजाइन किया गया है. खुशी है कि आज गेट का उद्घाटन किया.”

बताया जा रहा है की, इस बीच आज लॉन्च इवेंट में पीएम मोदी 600 मेगावाट कामेंग हाइड्रो पावर स्टेशन राष्ट्र को समर्पित करेंगे. पावर स्टेशन को 8,450 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से विकसित किया गया है. और परियोजना का लक्ष्य अरुणाचल प्रदेश को बिजली अधिशेष राज्य (power surplus state) में बदलना है.

Leave a Reply