September 26, 2022
Paris: पेरिस के एक बार में हुई गोलीबारी, जिसमें एक की हुई मौत और चार घायल हो गए

Paris: पेरिस के एक बार में हुई गोलीबारी, जिसमें एक की हुई मौत और चार घायल हो गए

Spread the love

पेरिस (Paris) के एक बार में हुई गोलीबारी में कम से कम एक व्यक्ति की मौत हो गई और चार अन्य घायल हो गए हैं. मीडिया रिपोर्टों में कहा गया है कि दो हमलावरों में से एक को पुलिस ने पकड़ लिया है.

बता दें की, यह घटना सोमवार रात (स्थानीय समयानुसार) फ्रांस की राजधानी के 11वें अखाड़े में हुई, स्पुतनिक न्यूज एजेंसी ने जिला मेयर फ्रेंकोइस वागलिन के हवाले से खबर दी गई.

स्टेज पर किसी की मंशा ऐसी नहीं थी

ANI की ख़बर के अनुसार, वहाँ के लोगों का कहना है की, स्टेज पर जो भी लोग मौजूद थे. वागलिन ने कहा की, “आज शाम को हुई गोलीबारी में रुए पोपिनकोर्ट पेरिस (Paris) 11 पर एक चिचा बार में एक की मौत हो गई और 4 घायल हो गए.” उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय पुलिस दूसरे के लिए बहुत सक्रिय रूप से खोज कर रही थी. और निवासियों या गवाहों के लिए जल्द से जल्द एक मेडिको-साइकोलॉजिकल सेल खोला जाएगा.

बता दें की, मेयर ने कहा कि अभी तक इस बर्बर घटना के पीछे की वजह सामने नहीं आ सकी है, आखिर क्यों यह गोलीबारी की गई यह स्पष्ट नहीं हो सका है. मेयर फ्रेंकोइस वॉगलिन ने कहा कि चिचा बार में शाम को गोलीबारी हुई है. जिसमे एक व्यक्ति की मौत हो गई और चार लोग घायल हो गए हैं. स्थानीय निवासियों का मानना है की अब ऐसी घटनाएँ आम होती जा रही हैं.

पेरिस के नगर पालिका में ये घटना हुई है. बताया जा रहा है की घटना के बाद लोगों में अफरा-तफरी मच गई. हालाँकि पुलिस अपनी जाँच कर रही है. मेयर ने बताया की पुलिस लगातार हमलावर की खोज में जुटी है. अभी तक अधिकारिक पुष्टि यही की गई है की एक की मौत हुई है और बाकी चार लोग घायल हैं.

इसके पहले भी हो चुगी ऐसी घटनाएँ

मीडिया  की ख़बर के अनुसार, पेरिस में ऐसी घटना पहली बार नहीं हुई है. पहले भी कई बार ऐसी घटनाएँ हो चुगी हैं. गैरतलब है की 2015 में पेरिस में ऐसी सबसे दुखद घटना हुई थी. पेरिस के उत्तर-पूर्वी इलाके में इस घटना को अंजाम दया गया था. उस वक़्त हमलावरों ने कुछ लोगों को बंधक भी बनाया था. माना जा रहा था कि ये सारी घटनाएं पेरिस में फायरिंग करने वाले हमलावरों की ओर से की गई थीं.

ऐसी जानकारी मिली थी की, पेरिस (Paris) में एक मैगजीन (Magzine) के दफ्तर में तीन आतंकियों ने खूनी खेल खेला था. उन्होंने शार्ली एब्डो मैगजीन के ऑफिस में घुस कर 10 पत्रकारों समेत 12 लोगों की हत्या कर दी थी. इस घटना से सरकार को बड़ा धक्का लगा था. ऐसा बताया जाता है की, इस फायरिंग में शामिल एक संदिग्ध ने आत्म समर्पण कर दिया था.

इस घटना के पीछे आतंकवादियों का हाँथ बताया जाता है. रिपोर्ट्स के मुताबिक, दो आतंकी तुरंत फरार हो गए थे. माना जा रहा था कि लगातार फायरिंग की वारदात में उन्हीं आतंकियों का हाथ हो सकता है जो एक सर्विस स्टेशन को लुटने गए थे और तब वहाँ पर उन्होंने गोलीबारी की थी. हालाँकि इस मामले के बाद पुलिस अलर्ट हो गई थी लेकिन फिर भी दुबारा अब ऐसी घटनाएँ सामने आने लगीं हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.