Pakistan के आर्मी चीफ अमेरिका के सामने गिड़गिड़ाए, IMF से 1.4 बिलियन डॉलर मांगे

भारत के पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान (Pakistan) की अर्थव्यवस्था इस वक़्त अपनी आखिरी साँसे ले रही है. इसी बीच पाकिस्तान के जनरल कमर जावेद बाजवा ने अब पाकिस्तान को मुसीबत से निकलने का फैसला किया है. इसलिए उन्होंने अमेरिका से ये दरख्वास्त की है कि, अमेरिका अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) से कर्ज दिलवाने में पाकिस्तान की मदद करे.

क्या मदद माँगी जनरल बाजवा ने

ANI से मिली जानकारी के मुताबिक, पाकिस्तान के हालात इन दिनों बद से बद्तर होते जा रहे हैं. पाकिस्तान पुरी तरह कंगाल हो चुगा है. जानकारी मिली है की, पाकिस्तान के जनरल कमर जावेद बाजवा ने अब मोर्चा संभालने का फैसला किया है. बाजवा ने अमेरिका से कहा है कि वो अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) से कर्ज दिलवाने में पाकिस्तान की मदद करे.

बता दें की, चंद दिनों पहले ही पाकिस्तान के वित्त मंत्री मिफ्ता इस्माइल ने दावा किया था कि पाकिस्तान और आईएमएफ के बीच चार बिलियन डॉलर के कर्ज को लेकर समझौता हुआ है. लेकिन पाकिस्तान के हालात में कोई भी सुधार नहीं आया.

जानकारी के मुताबिक, पाकिस्तानी रुपया डॉलर के मुकाबले दिन-प्रतिदिन गिरता जा रहा है. अभी की बात करें तो 1 डॉलर की कीमत 239 पाकिस्तानी रुपये से ज्यादा हो चुकी है. विश्व बैंक और एशियन इंफ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट बैंक (एआईआईबी) से एक और $ 1.4 बिलियन के फंड को अनलॉक करने के लिए उनकी मदद मांगी है.

Pakistan के ख़राब है हालात

एक अधिकारिक रिपोर्ट की माने तो, पाकिस्तान श्रीलंका के क़दमों पर चल पड़ा है. पाकिस्तान (Pakistan) में भी कंगाली छा रही है. पाकिस्तान (Pakistan) की इस हालत पर जनरल बावजा ने कर्ज के लिए व्हाइट हाउस (white house) और अमेरिकी ट्रेजरी डिपार्टमेंट से संपर्क किया है.

जनरल बावजा IMF से लोन लेने के लिए लगातार अमेरिका पर दबाव बना रहें हैं. बता दें की, उन्होंने आईएमएफ पर 1.2 बिलियन डॉलर के रीलिफ पैकेज सप्लाई की माँग की है. विदेश कार्यालय (एफओ) ने शुक्रवार को पुष्टि की कि थल सेनाध्यक्ष जनरल कमर जावेद बाजवा और अमेरिकी उप विदेश मंत्री वेंडी शर्मन के बीच संपर्क है.

वैसे तो बताया जा रहा है की, ऋण किश्त को मंजूरी देने के लिए आईएमएफ बोर्ड की बैठक बुलाने में देरी के पीछे पाकिस्तान-चीन आर्थिक संबंध एक कारण है. कभी अमेरिका तो कभी चीन हर तरफ हाँथ फैला रहा है पाकिस्तान.

चीन से भी है मुलाक़ात

वैसे तो चीन और पाकिस्तान के रिश्ते किसी से छुपे नहीं हैं. हर कोई इनके रिश्ते के बारे में भली भांती जनता है. सेना के मीडिया विंग इंटर-सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस (ISPR) ने शुक्रवार को कहा कि, “पाकिस्तान में चीनी राजदूत नोंग रोंग ने आज GHQ (सेना का मुख्यालय ) में थल सेनाध्यक्ष (COAS) जनरल कमर जावेद बाजवा से मुलाकात की है.”

ISPR के अनुसार, बैठक के दौरान आपसी हित, रक्षा सहयोग, सीपीईसी पर प्रगति और क्षेत्रीय सुरक्षा के मामलों पर विस्तार से चर्चा की गई है. एक दिन पहले, चीनी बिजली उत्पादन कंपनियों के प्रतिनिधियों ने वित्त मंत्री से मुलाकात की और उनकी 260 अरब रुपये की बकाया राशि जारी करने और उन्हें दुष्चक्रीय ऋण से बचाने के लिए एक बैंक खाता खोलने की मांग की.

जानकारी के लिए बता दें की, पाकिस्तान (Pakistan) में अगर हालात जल्द नहीं सुधरे तो पाकिस्तान में वो दिन दूर नहीं जब वहाँ लोगों को खाने और रोज़गार के लिए बुरी तरह तरसना पड़ेगा.

Leave a Reply