शाहबाज़ शरीफ द्वारा Super Tax की घोषणा से पाकिस्तानी शेयर बाजार हुआ क्रैश

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ द्वारा बड़े उद्योगों (Large scale Industries) पर एक “सुपर टैक्स” (Super Tax) की घोषणा करने के बाद, शुक्रवार को दोपहर में केवल 22 मिनट के शरुआती व्यापार में ही पाकिस्तान स्टॉक एक्सचेंज में 2,000 से अधिक अंक या लगभग 5 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गयी।

राष्ट्र के नाम संबोधन में दी Super Tax की जानकारी

शरीफ ने राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में कहा कि उच्च आय वाले व्यक्तियों पर भी “गरीबी उन्मूलन कर” लगेगा | प्रधानमंत्री ने शुक्रवार को सीमेंट, स्टील और ऑटोमोबाइल जैसे बड़े पैमाने के उद्योगों पर 10 प्रतिशत “सुपर टैक्स”( Supar Tax) की घोषणा की, उन्होंने कहा कि इस कदम का उद्देश्य बढ़ती मुद्रास्फीति से निपटना और नकदी की कमी वाले अपने देश को “दिवालिया” होने से बचाना है ।

शरीफ की घोषणा के कुछ ही क्षण बाद ही पाकिस्तान के शेयर मार्केट का बेंचमार्क KSE -100 इंडेक्स 2,053 अंक अर्थात 4.8 फीसदी नीचे गिर गया।

टॉपलाइन सिक्योरिटीज के रजा जाफर ने बताया कि शुक्रवार को घोषित “सुपर टैक्स” (Super Tax ) ने शेयर बाजार में भारी तबाही मचाई है जिससे निवेशकों का विश्वास डगमगा गया है ।

उन्होंने कहा, “बाजार की नकारात्मक प्रतिक्रिया आश्चर्यजनक नहीं है क्योंकि यह नया कर कॉर्पोरेट मुनाफे को नुकसान पहुंचाने वाला है।”

PSX (पाकिस्तानी स्टॉक एक्सचेंज ) की नियम पुस्तिका के अनुसार यदि सूचकांक अपने अंतिम बंद से पांच प्रतिशत ऊपर या नीचे जाता है और पांच मिनट तक वहां रहता है, तो सभी प्रतिभूतियों में व्यापार कुछ अवधि के लिए रोक दिया जाता है।

पाकिस्तानी डॉन अखबार के अनुसार सरकार के ताजा कदमों के बाद कॉरपोरेट आयकर और निवेशक कर क्रमश: 50 फीसदी और 55 फीसदी से अधिक हो जाएंगे। यह न केवल इस क्षेत्र में बल्कि पाकिस्तान के इतिहास में सबसे अधिक है। वास्तव में, यह दुनिया में सबसे अधिक कर दरों में से एक है |

क्या होगा इसका परिणाम

इस नए टैक्स की घोषणा के बाद से पाकिस्तान के व्यापार जगत में काफी रोष है | बड़ी इंडस्ट्रीज इसके खिलाफ है | उनका मानना है की पहले से ही कमजोर पाकिस्तानी कंपनियों पर इससे अधिक दबाव बढ़ेगा | जिसके कारण महंगे दामों पर वस्तु उत्पादन करने से विदेशी कंपनियों के साथ प्रतिष्पर्धा करने में असमर्थ हो जायेंगी |

By Satyam

Leave a Reply