पाकिस्तानी Pm Shehbaz Sharif ने UNGA में फिर उठाया कश्मीर का मुद्दा

Shehbaz Sharif: पाकिस्तान ने एक बार फिर भारत विरोधी अभियान छेड़ दिया है. पाकिस्तान की तरफ से शुक्रवार को संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) में फिर से कश्मीर का मुद्दा उठाया गया. और इसके साथ ही पाकिस्तान ने दावा किया कि वह अपने सभी पड़ोसियों के साथ शांति चाहता है. हालाँकि, ऐसा पहली बार नहीं हुआ है की पाकिस्तान ने अपने देश के हालातों पर चर्चा न कर के कश्मीर के मुद्दे को प्राथमिकता दी हो.

पाकिस्तान के लिए कश्मीर मुद्दा है आवश्यक

ANI से मिली जानकारी के मुताबिक, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ( Shehbaz Sharif) ने पाकिस्तान में अभूतपूर्व बाढ़ और निवासियों पर बाढ़ से आई मुसीबत का जिक्र करते हुए यूएनजीए के 77वें सत्र के चौथे दिन अपने संबोधन की शुरुआत की. लेकिन इस मुद्दे पर उन्होंने न के बराबर बात की.

अपने मुल्क का मुद्दा जल्दि ही खत्म कर के वो कश्मीर पर आ गए. प्रधानमंत्री शाहबाज़ शरीफ ने कहा, “दक्षिण एशिया में स्थायी शांति और स्थिरता, जम्मू-कश्मीर के चल रहे विवाद के खत्म होने के बाद ही आएगी.”

वैसे तो संयुक्त राष्ट्र महासभा सत्र में अपने संबोधन के दौरान पीएम शहबाज ( Shehbaz Sharif) ने कई मुद्दों पर बात की, लेकिन उन्होंने जम्मू-कश्मीर पर अपना ध्यान बनाए रखा. उन्होंने 5 अगस्त 2019 को भारत द्वारा अनुच्छेद 370 हटाने को अवैध और एकतरफा कार्रवाई कहा.

प्रधानमंत्री शाहबाज़ शरीफ ने दोनों देशों की हथियारों और गोला-बारूद की क्षमताओं का भी ज़िक्र किया. और कहा कि भारत के लिए यह समझने का समय आ गया है कि दोनों देश हथियारों से लैस हैं. उन्होंने युद्ध को एक विकल्प के रूप में खारिज कर दिया और मुद्दे को हल करने के लिए शांतिपूर्ण बातचीत का स्वागत किया.

भारत के साथ शांति वार्ता की पाकिस्तान ने जताई है इच्छा

पाकिस्तान के पीएम शाहबाज शरीफ ने अपने पड़ोसी भारत के साथ बैठकर बात करने की इच्छा जताई है. हालाँकि, भारत ने हमेशा अपना स्टैंड बनाए रखा है कि जम्मू और कश्मीर हमेशा से भारत का हिस्सा था और रहेगा. इस पर चर्चा करने का कोई सवाल ही नहीं उठता.

बता दें की, शाहबाज़ शरीफ जिस दिन से पाकिस्तान के प्रधानमंत्री बने हैं उस दिन से ही उनका रुख भारत को लेकर सख्त रहा है. उनके विदेश मंत्री ने हाल ही में कहा था की उनको लगता है की भारत और पाकिस्तान के रिश्ते कभी नहीं सुधरेंगे.

भारत लंबे समय से यूएनएससी की स्थायी सदस्य सूची में शामिल होने का लगातार प्रयास कर रहा है. इसके अलावा बता दें की, नए सदस्यों को जोड़ने के मुद्दे को संबोधित करते हुए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने कहा कि नए सदस्यों के आने से हमारी शक्ति बढ़ेगी और नए रास्ते खुलेंगे.

अफगानिस्तान में चल रहे संकट पर बोलते हुए, प्रधानमंत्री ने कहा कि इस समय अफगान सरकार कई मुसीबतों का सामना कर रही है. और अगर इस समय अफगान सरकार पर कोई एक्शन किया तो वहां की जनता को कठनाइयों का सामना करना पड़ेगा.

इसके अलावा पाकिस्तान में आई बाढ़ पर उन्होंने कहा की, महिलाओं और बच्चों सहित 33 मिलियन लोगों को स्वास्थ्य के लिए खतरा पैदा हो गया है. उन्होंने संयुक्त राष्ट्र को भी धन्यवाद दिया.

One thought on “पाकिस्तानी Pm Shehbaz Sharif ने UNGA में फिर उठाया कश्मीर का मुद्दा”

Leave a Reply