September 29, 2022
बाढ़ में डूबा Pakistan फिर भी विदेश मंत्री Bilawal Bhutto ने न्यूयॉर्क में कश्मीर मुद्दे को दी तवज्जो

बाढ़ में डूबा Pakistan फिर भी विदेश मंत्री Bilawal Bhutto ने न्यूयॉर्क में कश्मीर मुद्दे को दी तवज्जो

Spread the love

Bilawal Zardari: पाकिस्तान की हालत इन दिनों किसी से छुपी नहीं है. पाकिस्तान में बाढ़ और बारिश ने लोगों को बेघर कर दिया है. खाने के लिए पाकिस्तान की दुसरे देश मदद कर रहें हैं.

लेकिन ऐसे में भी पाकिस्तान के विदेश मंत्री (Bilawal Bhutto) न्यूयॉर्क में अपने मुल्क का मुद्दा ना उठा कर कश्मीर मामले को तवज्जो दे रहें हैं.

अपने मुल्क की मुसीबत दरकिनार कर के कश्मीर मुद्दे को पाकिस्तान दे रहा अहमियत

ANI से मिली अधिकारिक जानकारी के मुताबिक, पाकिस्तान में विनाशकारी बाढ़ के बावजूद पाकिस्तान के विदेश मंत्री बिलावल भुट्टो जरदारी (Bilawal Zardari) ने गुरुवार को अपने देश के लिए धन सहायता मांगने के बजाय न्यूयॉर्क में फिर से कश्मीर का मुद्दा उठाया है.

पाकिस्तान के विदेश मंत्री जरदारी ने कश्मीर (Kashmir) मुद्दे को उठाया और कहा कि इस्लामाबाद को भारत के अच्छे संबंध नहीं दिख रहे हैं. प्रश्नोत्तर सत्र के दौरान भी भारत और पाकिस्तान के संबंधों के पुनर्निर्माण के कोई संकेत अभी सामने नहीं आ रहें हैं.

पाकिस्तान में बाढ़ की स्थिति के बीच भारत के साथ संबंधों के दुबारा सही होने के बारे में एक सवाल के जवाब में विदेश मंत्री जरदारी (Bilawal Zardari) ने कहा की,

“मैंने फिलहाल इसके कोई संकेत नहीं देखे हैं. भारत उन देशों में से नहीं है जिसने सहायता की पेशकश की है. जहां तक ​​मेरी पार्टी का सवाल है. मेरे पीएम की पार्टी का संबंध है. हम भारत के साथ शांतिपूर्ण माहौल बनाने की कोशिश कर रहे हैं. और भारत के साथ जुड़ाव के लिए हमारी लगातार मजबूत वकालत है. लेकिन भारत मौलिक रूप से बदल गया है.”

Bilawal Bhutto ने कहा रिश्ते मजबूत होना कठिन

जानकारी के लिए बता दें की, पाकिस्तान के विदेश मंत्री Bilawal Bhutto यूएनजीए (UNGA) की उच्च स्तरीय बैठक के लिए न्यूयॉर्क में हैं. उन्होंने आगे दावा किया कि पाकिस्तान के लिए भारत के साथ जुड़ना अविश्वसनीय रूप से कठिन हो गया है.

भारत-पाकिस्तान संबंधों को फिर से मजबूत करने के लिए और दोनों देशो के नागरिकों के बीच मिठास लाने के एक सवाल के जवाब में, विदेश मंत्री जरदारी ने कहा की,

“मुझे लगता है कि युवा लोगों के पास इस मायने में जगह है कि हम अतीत का सामान उतना नहीं ढो रहे हैं. दुर्भाग्य से, जैसा कि मैंने उल्लेख किया है यहां तक ​​कि पाकिस्तान में जो भारत के साथ शांति और भारत के साथ जुड़ाव के मजबूत समर्थक रहे हैं. अगस्त 2019 की कार्रवाइयों ने वास्तव में हमारे लिए इसे अविश्वसनीय रूप से कठिन बना दिया है.”

अमेरिका के साथ अपने संबंधों को बताया ऐतिहासिक

उन्होंने आगे कहा की, “अमेरिकी पाकिस्तान के संबंध अपनी योग्यता के आधार पर हैं. हमारे बीच ऐतिहासिक संबंध हैं.” पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने UNGA में कश्मीर मुद्दे को उजागर करने के लिए एक ट्वीट किया. जिसमें उन्होंने लिखा है की,

“जम्मू और कश्मीर पर ओआईसी संपर्क समूह में, मैंने #IIOJK में गंभीर मानवाधिकारों और मानवीय स्थिति पर प्रकाश डाला. संपर्क समूह ने आत्मनिर्णय #UNGA77 #OIC के लिए कश्मीरी लोगों के वैध संघर्ष के लिए मजबूत समर्थन की पुष्टि करते हुए एक संयुक्त विज्ञप्ति को अपनाया.”

Leave a Reply

Your email address will not be published.