Pakistan सुरक्षा बलों ने TTP कमांडर और 10 अन्य को मुठभेड़ में मार गिराया

Pakistan: पाकिस्तान का घरेलू राक्षस तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (TTP) पाकिस्तान (Pakistan) को परेशान कर रहा है. पाकिस्तान के तालिबान ने सोमवार को कहा कि उसने जून में सरकार के साथ हुए अस्थिर संघर्ष विराम को वापस ले लिया है और लड़ाकों को देश भर में हमले करने का आदेश दिया है.

Pakistan में TTP कमांडर टिपू और 10 अन्य हुए ढेर

Dawn से मिली जानकारी के मुताबिक, अधिकारिक बयान में कहा गया है, “चूंकि विभिन्न क्षेत्रों में मुजाहिदीन के खिलाफ सैन्य अभियान चल रहे हैं. इसलिए आपके लिए यह जरूरी है कि आप पूरे देश में जहां कहीं भी हमले कर सकते हैं.”

TTP, जिसे पाकिस्तान (Pakistan) तालिबान के रूप में भी जाना जाता है. उसको 2007 में कई आतंकवादी संगठनों के एक छाता समूह (umbrella group) के रूप में स्थापित किया गया था. इसका मुख्य उद्देश्य पूरे पाकिस्तान में इस्लाम के अपने सख्त ब्रांड को लागू करना है.

TTP ने ली है इतने लोगो की जान

रिपोर्ट्स की माने तो, टीटीपी ने अनुमानित 83,000 लोगों की जान ली है. इंटरनेशनल फोरम फॉर राइट्स एंड सिक्योरिटी (IFFRAS) की रिपोर्ट के अनुसार, 2006 के बाद से ज्यादातर निर्दोष लोगों ने उन्हें अपने घरों से बाहर धकेल दिया था.

पाकिस्तान (Pakistan) ने पिछले साल अंतरिम अफगान सरकार की मदद से TTP के साथ बातचीत शुरू की थी. लेकिन कोई प्रगति नहीं हो पाई थी. दोनों पक्षों ने इस साल मई में फिर से वार्ता शुरू की और इसके बाद जून में युद्ध विराम हुआ था. लेकिन कोई प्रगति नहीं हुई क्योंकि सरकार ने खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में कबायली क्षेत्र के विलय को रद्द करने से इनकार कर दिया था.

Pakistan सुरक्षा बलों ने TTP कमांडर और 10 अन्य को मुठभेड़ में मार गिराया
Pakistan सुरक्षा बलों ने TTP कमांडर और 10 अन्य को मुठभेड़ में मार गिराया

अफगानिस्तान में हैं इतने TTP सदस्य

पाकिस्तान (Pakistan) में राजनीतिक वर्ग, सेना और न्यायपालिका से जुड़े चल रहे राजनीतिक खेल ने कई मामलों में जनता की पीड़ा को नजरअंदाज कर दिया है. पाकिस्तानी जनता के ऊपर देश के सबसे बड़े और सबसे हिंसक आतंकवादी समूह टीटीपी द्वारा की गई हिंसा है. TTP, एक पाकिस्तानी (Pakistan) शाखा और अफगान तालिबान का करीबी सहयोगी, संयुक्त राज्य अमेरिका और संयुक्त राष्ट्र द्वारा एक विदेशी आतंकवादी संगठन के रूप में सूचीबद्ध है.

संयुक्त राष्ट्र के अनुमान के अनुसार, अफगानिस्तान में इसके 4,000 से 6,500 लड़ाके हैं. इसका फैलाव कबायली क्षेत्र से बाहर पाकिस्तानी शहरों तक है. सशस्त्र आतंकवादियों ने 16 नवंबर को खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में एक पुलिस गश्ती दल पर घात लगाकर हमला किया जिसमें सभी छह पुलिसकर्मी मारे गए थे.

इस जगह हुई थी झड़प

स्थानीय अधिकारियों ने मीडिया को बताया कि यह घटना तब हुई जब प्रांतीय राजधानी पेशावर से लगभग 200 किमी दूर लक्की मारवत शहर में पुलिस वाहन पर गोलीबारी की गई है.

एक अन्य घटना में बाजौर के हिलाल खेल इलाके में आतंकवादियों के साथ हुई मुठभेड़ में दो जवान शहीद हो गए हैं. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, अफगानिस्तान की सीमा से लगे इलाके में इस तरह की झड़पें नियमित होती हैं.

टीटीपी के अत्याचारों से शांति चाहने वाले लोगों के साथ एक अनोखे प्रकार के विरोध को आधार मिला है. हालाँकि, सरकार की प्रतिक्रिया प्रदर्शनकारियों को अगवा करने और जेल में डालने और उन्हें प्रताड़ित करने की रही है. लोगों ने आरोप लगाया कि सरकार टीटीपी कैडरों पर अंकुश लगाने में विफल रही है.

 

One thought on “Pakistan सुरक्षा बलों ने TTP कमांडर और 10 अन्य को मुठभेड़ में मार गिराया”

Leave a Reply