Pakistan में शुरू हुआ किसान आंदोलन, आंदोलनकारियों ने दी मुल्क मे बंदी की धमकी

Pakistan: पाकिस्तान के किसान इत्तेहाद ( Pakistan’s Kissan Ittehad) ने इस्लामाबाद में प्रदर्शन कर रहे किसानों की मांगें सोमवार तक पूरी नहीं होने पर शहबाज शरीफ सरकार को देशव्यापी बंद की धमकी दी है. बता दें की कुछ वक्त पहले ऐसा आंदोलन भारत में भी हुआ था. लेकिन सरकार ने यहाँ किसानों की सारी माँगे पूरी कर दी थीं.

Pakistan में किसानों ने सरकार को दी चुनौती

स्थाई  मीडिया से मिली जानकारी के मुताबिक, पाकिस्तान (Pakistan) में सरकार के खिलाफ हजारों किसान सड़कों पर उतर गए हैं.  किसान इत्तिहाद (किसान संघ) के नेतृत्व में किसानों ने दूसरे दिन इस्लामाबाद के रेड जोन में प्रदर्शन किया. एक कार्यक्रम में बोलते हुए किसान इत्तेहाद के अध्यक्ष खालिद हुसैन बाथ ने सरकार से किसानों की मांगों को स्वीकार करने के बाद एक अधिसूचना जारी करने के लिए कहा है.

किसान इत्तेहाद के अध्यक्ष खालिद हुसैन बाथ कहा है की, अगर सरकार हमारी बात नहीं मानती है तो प्रदर्शनकारी किसान पूरे देश को बंद कर देंगे। उन्होंने आगे कहा कि अगर सरकार ने उनकी मांगों को पूरा करने के लिए अधिसूचना जारी नहीं की तो उनके आह्वान पर लाखों किसानों का झुंड इस्लामाबाद की ओर चल देगा.

संसद के बाहर किसान करेंगे धरना प्रदर्शन

किसान इत्तेहाद के प्रदर्शनकारियों ने पंजाब और खैबर पख्तूनख्वा सरकारों द्वारा उनकी मांगों को पूरा नहीं करने पर संसद और बनी गाला (Bani Gala)  के बाहर धरना प्रदर्शन करने की भी बात कही है.

बिजली दरों में कटौती और अन्य आर्थिक मुद्दों के खिलाफ किसानों का प्रदर्शन रविवार को पांचवें दिन भी जारी रहा. और जानकारी के लिए बता दें की, संघीय प्रशासन और विरोध कर रहे किसानों के बीच बातचीत में कोई प्रगति नहीं हुई है.

किसानों ने सरकार को अपनी मांगों को पूरा करने के लिए सोमवार तक का समय दिया है. आंतरिक मंत्री राणा सनाउल्लाह और किसानों के नेताओं के बीच चर्चा हुई. लेकिन उस चर्चा का कोई समाधान नहीं निकला. राणा सनाउल्लाह का कहना है की किसानो के प्रदर्शन का कोई  औचित्य नहीं है.

सरकार और विरोध कर रहे किसानों के बीच गतिरोध जारी रहा क्योंकि वार्ता का एक और दौर बिना किसी नतीजे के समाप्त हो गया. पाकिस्तान के गृह मंत्री ने कहा की, “किसानों के नेताओं को एक बैठक में स्थिति के बारे में बताया गया. लेकिन वो अपनी बात पर अड़े हुए हैं.”

जानकारी के अनुसार प्रदर्शनकारी किसान जिन्ना एवेन्यू पहुंचे.  यहां पर अपनी मांगों को पूरा करने के लिए प्रदर्शनकारी किसान डी-चौक, रेड जोन की ओर आगे बढ़े.  इस बीच एक्सप्रेस रोड और उससे सटे हाईवे पर धरने के कारण भारी ट्रैफिक जाम हो गया है.

पाकिस्तान सरकार की नहीं खत्म हो रहीं मुसीबतें

बता दें की, पाकिस्तान सरकार इस वक्त कई मुसीबतों का सामना कर रही है. जहाँ एक तरफ आँडियों लीक मामले में सरकार अभी तक कुछ नहीं कर पाई है. तो अब वहीं किसान आंदोलन ने सरकार की नींदें उड़ा रखी हैं.

हालाँकि, सरकार ने जाँच के लिए एक कमेटी का गठन किया था. लेकिन अभी तक सरकार के हाँथ कुछ नहीं लगा है. दूसरी तरफ पाकिस्तान (Pakistan) में विपक्ष भी हमलावर है. और लगातार मौजूद सरकार की आलोचना कर रहा है.

Leave a Reply