Pakistan को लेकर Moody’s ने दी नेगेटिव रेटिंग, मुल्क ने किया कड़ा विरोध

Pakistan: पाकिस्तान ने शुक्रवार को कहा कि वह एजेंसी मूडीज द्वारा रेटिंग में आई गिरावट का पूरी तरह से विरोध करता है. मूडीज ने पाकिस्तान की सॉवरेन क्रेडिट रेटिंग को बी-3 से गिरा कर सीएए-1 कर दिया है. पाकिस्तान इन दिनों पहले से ही मुसीबत का सामना कर रहा है. उधर मूडीज की रेटिंग ने सब कुछ पलट कर रक् दिया है.

Moody’s की रेटिंग से बौखलाया Pakistan

Aljazeera से मिली जानकारी के मुताबिक, Moody’s की नेगेटिव रेटिंग पाकिस्तान (Pakistan) के लिए मुसीबत बन कर उभरी हैं. मूडीज ने कहा है की,

“हाल में आई भीषण बाढ़ के बाद पाकिस्तान की विदेशी वित्तीय जरूरतें बढ़ गई हैं, जिससे भुगतान संतुलन का उसका संकट और गहराने का जोखिम पैदा हुआ है.”

जानकारों का कहना है की, मूडीज की इस रेटिंग की वजह से पाकिस्तान को अब विदेशी ऋण प्राप्त करना और मुश्किल हो जाएगा. पाकिस्तान में बाढ़ और बारिश ने काफी समय से कहर मचा रखा है. बाढ़ और बारिश की वजह से पाकिस्तान कई मुसीबतों का सामना पहले से कर रहा है. ऐसे में अब मूडीज की रेटिंग से पाकिस्तान बौखला गया है. और इस रिपोर्ट का खंडन भी कर रहा है.

पाकिस्तान (Pakistan) के वित्त मंत्रालय ने एक बयान में कहा, “मूडीज द्वारा रेटिंग कार्रवाई वित्त मंत्रालय और स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान से हमारी टीमों के साथ पूर्व परामर्श और बैठकों के बिना एकतरफा की गई है.”

पाकिस्तान की अर्थव्यस्था है लचर

पाकिस्तान (Pakistan)की अर्थव्यवस्था के स्वास्थ्य के बारे में चिंताएं बढ़ रही हैं क्योंकि अगस्त में अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष के वित्तपोषण कार्यक्रम को फिर से शुरू करने के बावजूद विदेशी मुद्रा भंडार पर कोई खासा असर नहीं पड़ा है. स्थानीय मुद्रा कमजोर हो रही है और मुद्रास्फीति तेज़ी से बढ़ रही है. इस सप्ताह के आंकड़ों से पता चलता है कि केंद्रीय बैंक में विदेशी मुद्रा भंडार 7.9 अरब डॉलर ही है.

जानकारी के मुताबिक, बता दें कि बीते दिनों पाकिस्तान सरकार की टैक्स एमनेस्टी योजना काफी सुर्खियों में रही है. इस योजना के तहत स्थाई निवासियों को विदेश में रखी अपनी संपत्ति को उजागर करना होगा और सिर्फ एक बार जुर्माना देना होगा. सरकार उनको पूरी सुरक्षा भी प्रदान करेगी.

पाकिस्तान सरकार ने शुक्रवार को कहा कि मूडीज द्वारा सूचित किए जाने के बाद कि कार्रवाई की जा रही है. वित्त मंत्रालय ने डेटा और जानकारी साझा करने के लिए एजेंसी की टीम के साथ दो बैठकें की थीं.

बाढ़ और बारिश ने मचाया कहर

पाकिस्तान में बीते कई समय से बाढ़ और बारिश ने सब कुछ तबाह कर के रख दिया है. बाढ़ और बारिश की वजह लोग खुले आसमान के नीचे रहने को मजबूर हैं. बाढ़ में सामान सहित लोगों के घर बह गए हैं.

Pakistan को लेकर Moody’s ने दी नेगेटिव रेटिंग, मुल्क ने किया कड़ा विरोध
Pakistan को लेकर Moody’s ने दी नेगेटिव रेटिंग, मुल्क ने किया कड़ा विरोध

इस बीच बाढ़ के रुके पानी से अब बीमारियाँ भी तेज़ी से फ़ैल रहीं हैं. पाकिस्तान में मलेरिया, डेंगू, स्किन डिजीज लोगों में फ़ैल रहा है. पाकिस्तान में कई प्रान्तों में सरकार की आलोचना हो रही है. जनता का कहना है की सरकार उनके लिए कोई पुख्ता इंतजामात नहीं कर पा रही है. जिसकी वजह से वहां के लोगों की जाने जा रही हैं.

अधिकारिक आंकड़ों में बताया गया है की अब तक पाकिस्तान में 20 लाख से ज्यादा घर तबाह हो चुगे हैं और 1700 से ज्यादा लोगों की जान जा चुगी है. एक तरफ बाढ़ और बारिश दुसरी तरफ पाकिस्तान में बढ़ती बेरोजगारी. दोनों ने पाकिस्तान सरकार की कमर तोड़ रखी है.

 

Leave a Reply