Pakistan Army ने इमरान खान के आरोपों का दिया जवाब, कहा की खान के निराधार और गैर जिम्मेदाराना आरोप हैं

Pakistan Army: पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) के प्रमुख इमरान खान ने प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ, रक्षामंत्री राणा सनाउल्लाह और खुफिया एजेंसी ISI के मेजर जनरल फैसल नसीर पर अपनी हत्या की कोशिश का आरोप लगाया और आर्मी चीफ जनरल कमर जावेद बाजवा को सभी दोषियों पर कार्यवाही करने को कहा.

Pakistan Army की मीडिया विंग ISPR ने बयान जारी कर इमरान खान के आरोपों को निराधार और गैर जिम्मेदाराना बताया है.

इमरान खान को गुरुवार को पंजाब प्रांत में वजीराबाद में अपने लंबे मार्च के दौरान चार गोलियां लगी थीं. उनके पैर में चोटें आई हैं और उन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

Pakistan Army ने इमरान खान मामले में दी सफाई

Dawn से मिली जानकारी के मुताबिक, पाकिस्तानी सेना (Pakistan Army) ने शुक्रवार को मौजूदा सरकार से पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) के प्रमुख इमरान खान के खिलाफ एक वरिष्ठ सैन्यकर्मी को बदनाम करने के लिए कानूनी कार्रवाई शुरू करने का अनुरोध किया है.

पाकिस्तानी सैन्य (Pakistan Army) मीडिया विंग इंटर-सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस (ISPR) ने इस संबंध में जारी एक बयान में कहा, “PTI प्रमुख द्वारा सेना और विशेष रूप से एक वरिष्ठ सेना अधिकारी के खिलाफ निराधार और गैर-जिम्मेदाराना आरोप पूरी तरह से अस्वीकार्य और अनावश्यक हैं.”

Pakistan Army ने इमरान खान के आरोपों का दिया जवाब, कहा की खान के निराधार और गैर जिम्मेदाराना आरोप हैं
Pakistan Army ने इमरान खान के आरोपों का दिया जवाब, कहा की खान के निराधार और गैर जिम्मेदाराना आरोप हैं

Imran khan ने बोला सीधा हमला

इमरान खान और उनकी पार्टी PTI ने पाकिस्तानी सेना (Pakistan Army) और मौजूदा सरकार पर आरोप लगाए थे की इमरान खान पर हुए हमले के ज़िम्मेदार सीधे तौर पर वो लोग हैं. इसी पर अब पाकिस्तानी आर्मी ने जवाब दिया है. आर्मी (Pakistan Army) का कहना है की इमरान खान के निराधार और गैर जिम्मेदाराना आरोप लगा रहें हैं.

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री और PTI के अध्यक्ष इमरान खान ने अपनी हत्या के प्रयास में एक वरिष्ठ सैन्य अधिकारी के शामिल होने का आरोप लगाया है. दरअसल हुआ यूँ, इमरान को गुरुवार शाम उस समय गोली मार दी गई जब वह अपने कंटेनर में थे.

ऐसे लगी थी पूर्व पीएम इमरान खान को गोली

यह घटना तब हुई जब उनकी पार्टी का ‘हकीकी आजादी’ मार्च वजीराबाद के अल्लाहवाला चौक पहुंची. पूर्व प्रधानमंत्री ने मौजूदा प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ, गृह मंत्री राणा सनाउल्लाह और एक वरिष्ठ खुफिया अधिकारी को उनकी हत्या के प्रयास के लिए जिम्मेदार ठहराया और उनके इस्तीफे की मांग भी की. पीटीआई के वरिष्ठ नेता उमर असद ने मांग की है कि तीनों लोगों-प्रधानमंत्री, गृह मंत्री और वरिष्ठ सैन्य अधिकारी को उनके कार्यालय से हटा दिया जाना चाहिए.

इमरान खान के दावों का खंडन करते हुए, DG ISPR ने अपने बयान में कहा है की, “पाकिस्तानी सेना एक बेहद पेशेवर और अच्छी तरह से अनुशासित संगठन होने के लिए गर्व करती है. इसमें एक मजबूत और अत्यधिक प्रभावी आंतरिक जवाबदेही प्रणाली है. कोई भी ऐसे आरोप नहीं लगा सकता है.”

इमरान खान ने अपने संबोधन में कहीं ये बातें

इमरान खान ने चोटिल होने के बाद जनता को विडियो के माध्यम से संबोधित किया. पूर्व पीएम इमरान खान ने वजीराबाद में हुए हमले का वर्णन किया. और उन्होंने विशेष रूप से सेनाध्यक्ष (COAS) जनरल कमर जावेद बाजवा से अपनी संस्था में जांच करने के लिए कहा.

पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान का संबोधन…

ARY न्यूज़ के मुताबिक, इमरान खान पहले ही संसद की सदस्यता और चुनाव लड़ने का अधिकार खो चुके हैं. अब उनका पीटीआई अध्यक्ष पद भी जा सकता है. पीएम रहते हुए प्राप्त सरकारी उपहारों को बेचने के मामले के दोषी ठहराए गए इमरान खान को चुनाव आयोग ने संसद की सदस्यता से बेदखल कर दिया है.

Leave a Reply