North Korea ने एक बार फिर दागी बैलिस्टिक मिसाइल, US को भी दी चेतावनी

North Korea: उत्तर कोरिया ने अपने सहयोगियों दक्षिण कोरिया और जापान के प्रति अपनी सुरक्षा प्रतिबद्धता को मजबूत करने के लिए अमेरिका को कठोर सैन्य प्रतिक्रिया शुरू करने की धमकी देने के घंटों बाद गुरुवार को अपने पूर्वी तट की ओर एक छोटी दूरी की बैलिस्टिक मिसाइल लॉन्च की है.

North Korea ने फिर से दागी मिसाइल

द गार्डियन से मिली जानकारी के मुताबिक, सियोल में अधिकारियों के अनुसार, उत्तर कोरिया (North Korea) ने क्षेत्र में अपनी सुरक्षा उपस्थिति को बढ़ाने के लिए संयुक्त राज्य अमेरिका के प्रयासों के लिए कठोर सैन्य प्रतिक्रिया की धमकी देने के घंटों बाद बैलिस्टिक मिसाइल लॉन्च की है.

दक्षिण कोरिया के ज्वाइंट चीफ ऑफ स्टाफ ने कहा कि कम दूरी की बैलिस्टिक मिसाइल को गुरुवार को उत्तर कोरिया (North Korea) के वॉनसन इलाके से दागा गया है. मिसाइल ने लगभग 240 किलोमीटर की उड़ान भरी और 47 किलोमीटर की ऊँचाई तक पहुँची थी. एक अधिकारिक बयान में कहा गया है कि दक्षिण कोरिया की सेना पूरी तरह तैयार रहेगी.

North Korea ने एक बार फिर दागी बैलिस्टिक मिसाइल, US को भी दी चेतावनी
North Korea ने एक बार फिर दागी बैलिस्टिक मिसाइल, US को भी दी चेतावनी

इन तीनों देशों ने भी किया था मिसाइल परिक्षण

नार्थ कोरिया से पहले से दक्षिण कोरिया, अमेरिका और जापान ने भी मिसाइल परिक्षण किया था. बता दें की, यह मिसाइल उत्तर के पूर्वी तटीय वॉनसन क्षेत्र से सुबह 10:48 बजे दागी गई है. लॉन्च का पता लगाने के बाद, दक्षिण कोरियाई, यूएस और जापानी सेनाओं ने तुरंत लॉन्च की निंदा की, उनका कहना है कि इससे क्षेत्र में स्थिरता को खतरा है.

यह आठ दिनों में उत्तर कोरिया (North Korea) की पहली बैलिस्टिक मिसाइल फायरिंग थी. उत्तर कोरिया ने पहले कहा था कि कुछ परीक्षण दक्षिण कोरियाई और अमेरिकी लक्ष्यों पर परमाणु हमलों के जवाब में दिए गए हैं. इस पर कई विशेषज्ञों का कहना है कि उत्तर कोरिया अपने प्रतिद्वंद्वियों से ज्यादा शक्ति हासिल करने के लिए अपनी परमाणु क्षमता को बढ़ाना चाह रहा है.

उत्तर कोरिया के विदेश मंत्री चो सोन हुई की तरफ से आया यह बयान

इससे पहले गुरुवार को, उत्तर कोरिया के विदेश मंत्री चो सोन हुई ने चेतावनी दी थी कि हाल ही में उत्तर कोरिया पर अमेरिका दक्षिण कोरिया जापान शिखर सम्मेलन समझौता अगर उनके लिए घातक साबित होता है तो वो इसका करारा जवाब देंगे.

ऐसा बताया गया था की, उत्तर कोरिया ने अपना विदेश मंत्री ऐसे समय में नियुक्त किया है जब कोरियाई प्रायद्वीप में लगातार तनाव है. उत्तर कोरिया लगातार मिसाइल परीक्षण कर रहा है.

उत्तर कोरिया के विदेश मंत्री चो सोन हुई का बयान कंबोडिया में रविवार को एक क्षेत्रीय सभा के मौके पर अपने दक्षिण कोरियाई और जापानी समकक्षों के साथ अमेरिकी राष्ट्रपति जो बिडेन के त्रिपक्षीय शिखर सम्मेलन (trilateral summit) के लिए उत्तर कोरिया की पहली आधिकारिक प्रतिक्रिया थी. इसके अलावा बता दें की, अपने संयुक्त बयान में, तीनों नेताओं ने उत्तर कोरिया के हालिया मिसाइल परीक्षणों की कड़ी निंदा की है.

उत्तर कोरिया के विदेश मंत्री चो सोन हुई ने आगे कहा है की, उत्तर कोरिया क्या कदम उठा सकता है. लेकिन कहा कि अमेरिका अच्छी तरह से जानता होगा कि यह हमला एक जुआ है. जिसके लिए वह निश्चित रूप से पछताएगा.

Leave a Reply