North Korea ने रूस के साथ किसी भी तरह के हथियारों के लेन-देन से किया साफ़ इनकार

North Korea: उत्तर कोरिया (North Korea) के विदेश मंत्रालय ने एक मीडिया रिपोर्ट का खंडन किया जिसमें कहा गया है की उत्तर कोरिया ने रूस को गोला-बारूद भेजे हैं. और आगे कहा गया है की, दोनों देशों के बीच हथियारों का लेन-देन हुआ है. हालाँकि, इस पर उत्तर कोरिया (North Korea) ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा है की, ऐसा कभी नहीं हुआ है.

North Korea ने नहीं की रूस की मदद

स्थाई मीडिया से मिली जानकारी के मुताबिक, उत्तर कोरिया (North Korea) के विदेश मंत्रालय ने संयुक्त राज्य अमेरिका की एक रिपोर्ट को बेतुका बताया है. इसके साथी आगे उत्तर कोरिया के विदेश मंत्रालय ने कहा है की, “जापानी मीडिया की भी झूठी रिपोर्ट है कि डीपीआरके (DPRK) ने रूस को गोला-बारूद की पेशकश की है. यह सबसे बेतुका रेड हेरिंग है. और यह किसी भी टिप्पणी या व्याख्या के लायक नहीं है.”

बता दें की,  व्हाइट हाउस के राष्ट्रीय सुरक्षा प्रवक्ता जॉन किर्बी ने कहा कि, “संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों का उल्लंघन करते हुए पिछले महीने समूह को उत्तर कोरिया (North Korea) द्वारा पैदल सेना के रॉकेट और मिसाइलों की बिक्री की कई थी.” उन्होंने कहा कि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने यूक्रेन में मदद के लिए वैगनर की ओर तेजी से रुख किया है.

इतने कर्मचारी हैं तैनात

परमाणु हथियार विकसित करने के अपने प्रयासों के कारण देश पर लगाए गए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों के तहत उत्तर कोरियाई (North Korea) हथियारों के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया गया है. किर्बी ने कहा कि अमेरिका का अनुमान है कि वैगनर (रूस का निजी सैन्य समूह) के पास यूक्रेन में 50,000 कर्मचारी तैनात हैं. जिनमें 10,000 ठेकेदार हैं.

North Korea ने रूस के साथ किसी भी तरह के हथियारों के लेन-देन से किया साफ़ इनकार
North Korea ने रूस के साथ किसी भी तरह के हथियारों के लेन-देन से किया साफ़ इनकार

वैगनर के मालिक येवगेनी प्रिगोज़िन ने भी अमेरिका और मीडिया रिपोर्ट्स का खंडन किया है. उत्तर की आधिकारिक कोरियन सेंट्रल न्यूज एजेंसी (KCNA) में दिए गए एक बयान के अनुसार प्रवक्ता ने कहा, “डीपीआरके और रूस के बीच हथियारों के लेन-देन के मुद्दे बिलकुल झूठे हैं ऐसा कभी नहीं हुआ है.”

North Korea के अधिकारी ने कहीं ये बाते

उत्तर कोरिया (North Korea) के अधिकारी ने कहा कि “अमेरिका खुद यूक्रेन को विभिन्न प्रकार के घातक हथियार प्रदान करके खून खराबा और विनाश ला रहा है.” यूनाइटेड किंगडम के संयुक्त राष्ट्र के राजदूत बारबरा वुडवर्ड ने शुक्रवार को एक ट्वीट में कहा कि, “लंदन वाशिंगटन के इस आकलन से सहमत है कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के कई प्रस्तावों का उल्लंघन करते हुए रूस ने उत्तर कोरिया से हथियार प्राप्त किए हैं.”

संयुक्त राष्ट्र के राजदूत बारबरा वुडवर्ड का अधिकारिक ट्वीट…

ब्रिटेन के विदेश मंत्री जेम्स क्लेवरली ने एक बयान में कहा है की, “तथ्य यह है कि राष्ट्रपति पुतिन मदद के लिए उत्तर कोरिया की ओर रुख कर रहे हैं. यह रूस की हताशा और अलगाव का संकेत है.”

North Korea ने सभी इल्जामों से किया इनकार

आगे उन्होंने कहा की, “हम यह सुनिश्चित करने के लिए अपने सहयोगियों के साथ काम करेंगे कि उत्तर कोरिया यूक्रेन में रूस के अवैध युद्ध का समर्थन करने के लिए उच्च कीमत चुकाए.”
नवंबर में व्हाइट हाउस ने कहा था कि प्योंगयांग ने गुप्त रूप से रूस को महत्वपूर्ण तोपों के गोले की आपूर्ति की थी. उत्तर कोरिया ने कहा कि उसका रूस के साथ कभी भी हथियारों का सौदा नहीं था और ऐसा करने की उसकी कोई योजना भी नहीं थी.

Leave a Reply