September 25, 2022
NITI Ayog: बड़े मददगार के रूप में उभरा भारत, 98 देशों को 23.50 करोड़ से ज्यादा कोविड वैक्सीन कराई मुहैया

NITI Ayog: बड़े मददगार के रूप में उभरा भारत, 98 देशों को 23.50 करोड़ से ज्यादा कोविड वैक्सीन कराई मुहैया

Spread the love

NITI Ayog: NITI Aayog के उपाध्यक्ष, डॉ सुमन के बेरी (Dr Suman k Berry) ने कहा कि भारत ने COVID महामारी के प्रभाव को कम करने और जीवन और आजीविका की रक्षा के लिए कई पहल और केंद्रित हस्तक्षेप शुरू किए हैं. बता दें की, कोरोना महामारी (Covid-19) के दौरान भारत (India) दुनियाभर के देशों के लिए बड़ा मददगार बनकर उभरा है. भारत ने 98 देशों को 23.50 करोड़ से ज्यादा कोरोना वैक्सीन (Vaccine) मुहैया कराई है.

भारत बना मसीहा

ANI की ख़बर के मुताबिक, वैक्सीन ‘मैत्री’ पहल के तहत, भारत ने दुनिया के 98 देशों को COVID-19 टीकों की कुल आपूर्ति 235 मिलियन से अधिक की आपूर्ति की है. नीति आयोग (NITI Aayog) के उपाध्यक्ष डॉ. सुमन के. बेरी (Dr Suman k Berry) ने यह बात न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र (United Nations) के एक उच्च स्तरीय राजनयिक मंच पर कही है.

मंत्रिस्तरीय राउंड टेबल सम्मेलन (Ministerial Roundtable) में बेरी (Dr Berry) ने कहा देश में कोरोना संक्रमण (Covid-19) के बाद आर्थिक विकास दर में रिकवरी के लिए भारत सरकार (Indian Government) ने पूंजीगत व्यय पर ध्यान दिया है. डॉ सुमन के बेरी (Dr Suman k Berry) ने पर्यावरण की भी चर्चा की. डॉ बेरी का कहना है की, ” पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi)  ने सीओपी-27 (COP-27) में भारत के लक्ष्यों को स्पष्ट किया है. हम इसके लिए वचनबद्ध हैं. सतत विकास लक्ष्यों के लिए यह महत्वपूर्ण है. हम विकास व पर्यावरण संरक्षण को साथ लेकर चलते हैं.”

डॉ बेरी ने गति शक्ति योजना के बारे में भी बताया

(NITI Aayog) के उपध्यक्ष डॉ सुमन के बेरी (Dr Suman k Berry) ने पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की योजना, गति शक्ति योजना, मल्टीमॉडल कनेक्टिविटी के लिए राष्ट्रीय मास्टर प्लान पर भी प्रकाश डाला. बता दें की, डॉ बेरी ने एचएलपीएफ 2022 (HLPF 2022) में अपने भाषण के दौरान कहा की, “सामाजिक सुरक्षा और वित्तीय समावेश के लिए डिजिटल प्रौद्योगिकी का उपयोग करने के भारत के अनुभवों का लाभ दूसरे देशों के लिए भी रुचिकर हो सकता है.”

अधिकारिक जानकारी के मुताबिक, भारत ने ही वैक्सीन ‘मैत्री’ (Vaccination Friendship) की शुरुवात जनवरी 2021 में की थी. विकासशील देशों को भारत में बने टीके मुहैया कराने की बड़ी और सराहनीय पहल थी. कोरोना की वैक्सीन की वजह से भारत (India) का डंका आज पूरी दुनिया में बजता है. भारत ने सफलता पूर्वक अपने देश में मुफ्त कोरोना का टीका सबको उपलब्ध कराया. जिसकी सराहना देश-विदेश में हो रही है.

इन देशों में भेजी गई वैक्सीन

भारत ने अपने साथ साथ कई देशों की मदद की है. जिसमे बांग्लादेश, म्यांमार, नेपाल, भूटान, मालदीव, मॉरीशस, श्रीलंका, ब्राजील, मोरक्को, दक्षिण अफ्रीका, अफगानिस्तान, मैक्सिको, डीआर कांगो, नाइजीरिया, ब्रिटेन समेत कई अन्य देश भी शामिल हैं. जहाँ एक तरफ़ कोरोना तबाही मचा रहा था वहीँ दूसरी तरफ़ भारत एक मसीहा के रूप में साबित हुआ और सबको ज्यादा से ज्यादा वैक्सीन पहुँचाने की कोशिश की.

बता दें की, (NITI Aayog) ने इस बात की जानकारी दी है. इसके अलावा भारत के इसी प्रोग्राम की सराहना अमेरिका ने भी की थी और भारत को अपना सच्चा दोस्त बताया था. भारत ने देश में टीकाकरण कार्यक्रम शुरू करने के चार दिन बाद 20 जनवरी 2021 को टीकों को विदेशों में भेजना बंद कर दिया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.