नीति आयोग के उपाध्यक्ष के पद से इस्तीफा देने वाले राजीव कुमार अर्थशास्त्री के साथ सहज योग के भी धनी हैं | नीति आयोग (NITI Aayog) के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है | राजीव कुमार कई सालों से इस पद पर बने हुए हुए थे |
सुमन के बेरी 1 मई से नीति आयोग के उपाध्यक्ष का कार्यभार संभालेंगे | हालांकि राजीव कुमार के इस्तीफे की वजह क्या है इसकी जानकारी अभी नहीं मिल पाई है |

कौन है राजीव कुमार ?

राजीव कुमार नीति आयोग के दूसरे उपाध्यक्ष थे |
2014 में पहली बार सत्ता में आने के बाद मोदी सरकार ने योजना आयोग का नाम बदलकर नीति आयोग किया था. तब अरविंद पनगढ़िया नीति आयोग के पहले उपाध्यक्ष बनाए गए थे.
राजीव कुमार सितंबर 2017 से सरकार के थिंक टैंक के वीसी हैं. इसके अलावा, वह गोखले इंस्टीट्यूट ऑफ पॉलिटिक्स एंड इकोनॉमिक्स, पुणे के चांसलर और गिरी इंस्टीट्यूट ऑफ डेवलपमेंट स्टडीज, लखनऊ के बोर्ड ऑफ गवर्नर्स के अध्यक्ष के रूप में भी काम करते हैं |

क्या है नीति आयोग का काम?

बता दें कि नीति आयोग के अध्यक्ष प्रधानमंत्री होते हैं | यह आयोग देश के लिए प्रमुख नीति के निर्धारण का काम करती है.

 कौन हैं सुमन बेरी –

नीति आयोग के अगले उपाध्यक्ष सुमन बेरी एक जानेमाने अर्थशास्त्री हैं साथ ही वह वर्ल्ड बैंक के चीफ इकोनॉमिस्ट रह चुके हैं। सुमन बेरी नई दिल्ली स्थित नेशनल काउंसिल ऑफ अप्लायड इकोनॉमिक रिसर्च के 2001 से 2011 तक पूर्व डायरेक्टर जनरल भी रह चुके हैं।

बेरी फिलहाल बेल्जियम की राजधानी ब्रूसेल्स में एक इकनॉमिक थिंकटैंक के नॉन रेजिडेंट फेलो के पद पर है। उन्होंने ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी से ग्रैजुएशन और प्रिंसंटन यूनिवर्सिटी से मास्टर की डिग्री ली है। सुमन बेरी ने अपने करियर की शुरुआत वर्ल्ड बैंक के साथ की थी, जहां उन्होंने करीब 28 साल तक सेवाएं दी और उसके चीफ इकोनॉमिस्ट बने।

By Satyam

Leave a Reply

Your email address will not be published.