September 25, 2022
Satellite Images: नईं तस्वीरों में हुआ खुलासा, डोकलाम पठार में चीन बसा रहा है गाँव

Satellite Images: नईं तस्वीरों में हुआ खुलासा, डोकलाम पठार में चीन बसा रहा है गाँव

Spread the love

Satellite Images: नई उपग्रह तस्वीरों के माध्यम से पता चला है की चीन (China) नया गाँव बसा रहा है. भूटान की ओर डोकलाम पठार के पूर्व में चीन ये काम कर रहा है. मंगलवार को आई नई उपग्रह तस्वीरों (Satellite Images) में ये दावा किया जा रहा है. बता दें की, डोकलाम पठार पर भारतीय और चीनी सैनिकों के आमने-सामने होने के पांच साल बाद भारत, चीन और भूटान से घिरा एक क्षेत्र के नए उपग्रह चित्र सामने आए हैं जो एक चीनी गांव का संकेत दे रहें है.

क्या है तस्वीरों में दावा

WION की ख़बर के मुताबिक, 2017 में, चीन और भारतीय सशस्त्र बलों को डोकलाम ट्राई-जंक्शन पर 73 दिनों के लिए गतिरोध में बंद कर दिया गया था. जब चीन ने उस क्षेत्र में एक सड़क का विस्तार करने की कोशिश की, जिसका दावा भूटान ने किया था. बता दें की, उपग्रह तस्वीरों (Satellite Images) में ऐसा दावा किया जा रहा है की, चीन अमो चू नदी  घाटी में दूसरा गाँव बसा रहा है.

इसके अलावा चीन ने दक्षिण में तीसरे गाँव का निर्माण शुरू कर दिया है. तस्वीरों (Satellite Images) में छे बिल्डिंग की नीव भी दिखाई दे रही है. बता दें की, इसके अलावा और भी निर्माण बहुत तेज़ी से चल रहा है. नई रिपोर्ट ऐसे समय में आई है जब भारतीय सेना ने पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर भारत-चीन (India-China) सीमा पर बढ़ती निर्माण गतिविधि की चिंताओं को बार-बार हरी झंडी दिखाई है.

डोकलाम ट्राई-जंक्शन भारत के लिए है महत्वपूर्ण

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, डोकलाम ट्राई-जंक्शन भारत के परिपेक्ष से बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण है. बता दें की, नई दिल्ली ने ट्राई-जंक्शन क्षेत्र में सड़क निर्माण पर आपत्ति जताई थी क्योंकि इससे उसके हितों पर असर पड़ रहा था. 2017 में आमने-सामने दो परमाणु-सशस्त्र पड़ोसियों के बीच युद्ध की आशंका भी पैदा हो गई थी. भूटान (Bhutan) ने कहा कि यह क्षेत्र उसका है और भारत ने भूटानी दावे का समर्थन भी किया था.

जानकारी के लिए बता दें की, अमेरिकन कंपनी मेक्सर ने ये तस्वीरें ली हैं. और इन तस्वीरों ने भारत की सबसे ज्यादा चिंता बढ़ा दी है. इन तस्वीरों के माध्यम से कहा जा रहा है की जहाँ चीन ने नया गाँव बसाया है वहीँ पर नई गाड़ियाँ खड़ी दिख रहीं है. हालाँकि सेना की ओर से अभी कोई भी प्रतिक्रिया नहीं साझा की गई है. चीन की नज़र हमेशा से ही अपने पड़ोसियों  की ज़मीन पर रहती है. चीन हमेशा सबके साथ उलझता रहता है. जिसकी वजह से बॉर्डर पर लगातार तनाव बना रहता है.

पूर्वी लद्दाख में भी चीन कर रहा गुस्ताख़ी

चीन अपनी हरकतों से बाज नहीं आता है. वो लगातार कुछ न कुछ ऐसा करता ही रहता है जिससे देशों के बीच तनाव बढ़ा रहे. चीन की सबसे ज्यादा बड़ी कमजोरी है की वो भारत पर अपना नियंत्रण नहीं कर पा रहा है. हालाँकि, समय समय चीन इसकी कोशिश करता रहता है. लेकिन उसको कामयाबी नहीं मिलती है.

ऐसी ख़बरें हैं की, चीन पूर्वी लद्दाख में भी वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) सहित कई संवेदनशील स्थानों पर सीमा के बुनियादी ढांचे को बढ़ा रहा है. जहां चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) और भारतीय सेना (Indian Army) के बीच दो साल से अधिक समय से टकराव हो रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.